अधिक देखे गए।

ईरान, रूस और चीन से युद्ध के लिए तैयार रहे ब्रिटेन : जनरल कार्टर हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने ईरानी हैकर्स ने अमेरिकी अधिकारियों के ईमेल हैक किए ! हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ इस्राईल ने कोई क़दम उठाया तो पूरा मिडिल ईस्ट सुलग जाएगा : नेशनल इंटरेस्ट हिज़्बुल्लाह की पहुँच से बाहर नहीं है ज़ायोनी सेना, पलक झपकते ही नक़्शा बदलने में सक्षम एयरपोर्ट के बदले एयरपोर्ट, दमिश्क़ पर हमला हुआ तो तल अवीव की ख़ैर नहीं ! जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह हिंद महासागर में सैन्य अभ्यास करने की तैयारी कर रहा है ईरान ईरान को झुकाने की हसरत अपनी क़ब्रों में ले जाना : आईआरजीसी
Sunday - 2018 Dec 16

क़ुरआन-अहलेबैत अ.

क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब

पैग़म्बर स.अ. फ़रमाते हैं कि जिसने क़ुर्आन के केवल एक हर्फ़ की तिलावत की उसके आमालनामे में एक नेकी लिखी जाती है और हर नेकी का दस गुना सवाब मिलता है, फिर आपने फ़रमाया, मैं यह नहीं कहता कि अलिफ़ लाम मीम यह हर्फ़ है बल्कि अलिफ़ एक हर्फ़ है लाम दूसरा हर्फ़ है और मीम तीसरा हर्फ़ है

क़ुर्आन की निगाह में इंसान की अहमियत

अल्लाह ने इंसान को केवल इस लिए पैदा किया है कि वह दुनिया में केवल अपने अल्लाह की इबादत करे और उसके अहकाम की पाबंदी करे, उसकी ज़िम्मेदारी अल्लाह के अम्र की इताअत करना है। इरशाद होता है कि, और हमने इंसान को नहीं पैदा किया मगर केवल इसलिए कि वह मेरी इबादत करें

इमाम ज़माना अ.स. की ग़ैबत में उम्मत की ज़िम्मेदारियां

मैं, मुफ़ज़्ज़ल इब्ने उमर, अबू बसीर और अबान इब्ने तग़लिब इमाम सादिक़ अ.स. की ख़िदमत में हाज़िर हुए तो देखा आप ज़मीन में बैठे हुए बहुत ज़्यादा रो रहे हैं और फ़रमाते हैं कि मेरे सरदार तेरी ग़ैबत ने मेरी मुसीबत को अज़ीम कर दिया है, मेरी नींद को उड़ा दिया है और मेरी आंखों से आंसुओं का सैलाब जारी कर दिया है, मैंने हैरत से पूछा ऐ रसूल स.अ. के बेटे, अल्लाह आपको हर आफ़त से महफ़ूज़ रखे यह रोने का कौन सा अंदाज़ है और क्या अल्लाह न करे आप पर कोई ताज़ा मुसीबत नाज़िल हो गई... .......
Country:     City:
Fajr 4:20
Sunrise 6:20
Zohr 13:10
Sunset 19:50
Maghrib 20:30

ताज़ा समाचार

नोबेल विजेता की मांग, यमन युद्ध का हर्जाना दें सऊदी अरब और अमीरात । फ़िलिस्तीन का संकट लेबनान का संकट है , क़ुद्स का यहूदीकरण नहीं होने देंगे : मिशेल औन महत्त्वहीन हो चुका है खाड़ी सहयोग परिषद, पुनर्गठन एकमात्र उपाय : क़तर एयरपोर्ट के बदले एयरपोर्ट, दमिश्क़ पर हमला हुआ तो तल अवीव की ख़ैर नहीं ! तुर्की को SDF की कड़ी चेतावनी, कुर्द बलों को निशाना बनाया तो पलटवार के लिए रहे तैयार । दमिश्क़, राष्ट्रपति बश्शार असद ने दी 16500 लोगों को आम माफ़ी । यमन का ऐलान, वारिस कहें तो हम ख़ाशुक़जी के शव लेने की प्रक्रिया शुरू करें । प्योंगयांग और सिओल मिलकर करेंगे 2032 ओलंपिक की मेज़बानी ईरान अमेरिका के आगे नहीं झुकेगा, अन्य देशों को भी प्रतिबंधों के सामने डटने का हुनर सिखाएंगे । सऊदी अरब के पास तेल ना होता तो आले सऊद भूखे मर जाते : लिंडसे ग्राहम ईरानी हैकर्स ने अमेरिकी अधिकारियों के ईमेल हैक किए ! ईरान, रूस और चीन से युद्ध के लिए तैयार रहे ब्रिटेन : जनरल कार्टर हमास की ज़ायोनी अतिक्रमणकारियों को चेतावनी, हमारे देश से से निकल जाओ । पाकिस्तान में इतिहास का सबसे बड़ा निवेश करने वाला है सऊदी अरब नेतन्याहू की धमकी, अस्तित्व की जंग लड़ रहा इस्राईल अपनी रक्षा के लिए कुछ भी करेगा । वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति का आरोप, उनकी हत्या की योजना बना रहा है अमेरिका । सऊदी अरब सहयोगी , लेकिन मोहम्मद बिन सलमान की लगाम कसना ज़रूरी : अमेरिकन सीनेटर्स झूट की फ़ैक्ट्री, वॉइस ऑफ अमेरिका की उर्दू और पश्तो सर्विस पर पाकिस्तान ने लगाई पाबंदी ईरान के नाम पर सीरिया को हमलों का निशाना बनाने की आज्ञा नहीं देंगे : रूस अमेरिकी हथियार भंडार के साथ बू कमाल में सामूहिक क़ब्र से 900 शव बरामद । विख्यात यहूदी अभिनेत्री नताली पोर्टमैन ने की अमेरिका यमन युद्ध के नाम पर सऊदी अरब से वसूली को तैयार सऊदी अरब का युवराज मोहम्मद बिन सलमान है जमाल ख़ाशुक़जी का हत्यारा : निक्की हैली अमेरिका में पढ़ने वाले ईरानी अधिकारियों के बच्चों को निकालेगा वाशिंगटन दमिश्क़ का ऐलान,अपना उपग्रह लांच करने के लिए तैयार है सीरिया । ख़ाशुक़जी कांड से हमारा कोई संबंध नहीं , सेंचुरी डील पर ध्यान केंद्रित : जॉर्ड किश्नर

हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई

Thursday 5 May 2016 काबे के सेवक इस्लाम दुश्मनों से दोस्ती और मुसलमानों से दुश्मनी न करें : आयतुल्लाह ख़ामेनई
काबे के सेवकों को क़ुर्आन की तालीम पर अमल करते हुए "अशिद्दाओ अलल कुफ़्फ़ार" अर्थात काफिरों, { इस्लाम दुश्मनों } के लिए कठोर होना चाहिए मोमिनों और यमन तथा बहरैन के मुसलमानों के लिए नहीं ।

मराज-ए-तक़लीद से सम्बंधित समाचार

शिया-सुन्नी एकता इस्लाम दुश्मन शक्तियों के मुंह पर तमांचा : आयतुल्लाह नासिर मकारिम

जिन लोगों के दिल अंधे हो चुके हैं सिर्फ वही लोग पैग़मबरे इस्लाम स.अ. की विलादत के अवसर पर भी आज इस्लामी जगत में इत्तेहाद और एकता को बर्दाश्त नहीं कर सकते ।

समाचार

आले सऊद और अरब शासकों को उलमा का कड़ा संदेश, इस्राईल से संबंधों को बताया हराम

सऊदी अरब के नेतृत्व में अरब देशों की इस्राईल से संबंध सुधारने की मुहिम दीन और रसूले इस्लाम स.अ. की सुन्नत के ख़िलाफ़ है यह इतना बड़ा अपराध है कि अरब शासक क़यामत तक इसकी ज़िल्लत और अपमान को झेलेंगे ।

12/12/2018 4:20:05 PM

इस्राईल से मधुर संबंधों की होड़ लेकिन क़तर से संबंध सामान्य न करने पर ज़ोर !

अक्काज़ ने क़तर के सत्ताधिकारियों को विश्वासघाती और अपराधी बताते हुए कहा कि क़तर के साथ संबंधों को सामान्य नहीं करना चाहिए क़तर की सऊदी अरब से यह दुश्मनी कोई नई बात नहीं है उन्होंने मलिक फहद के समय भी सऊदी अरब से अपनी दुश्मनी को प्रकट किया था

12/12/2018 6:32:00 AM

काबे के सेवक इस्लाम दुश्मनों से दोस्ती और मुसलमानों से दुश्मनी न करें : आयतुल्लाह ख़ामेनई

काबे के सेवकों को क़ुर्आन की तालीम पर अमल करते हुए "अशिद्दाओ अलल कुफ़्फ़ार" अर्थात काफिरों, { इस्लाम दुश्मनों } के लिए कठोर होना चाहिए मोमिनों और यमन तथा बहरैन के मुसलमानों के लिए नहीं ।

12/12/2018 5:50:00 AM

ईरान को झुकाने की हसरत अपनी क़ब्रों में ले जाना : आईआरजीसी

अमेरिका और ईरान के इस्लामी इंक़ेलाब के दुश्मनों को हमेशा ही हमारे मुक़ाबले हार का मुंह देखना पड़ा है, तबस का रेगिस्तान हो या प्रतिरोध का प्रतीक बन गया 8 वर्षीय युद्ध , जो हम पर थोपा गया, अमेरिका को हर जगह मुंह की खानी पड़ी है ।

12/11/2018 6:52:16 PM

  • रिकार्ड संख्या : 7443

घर-परिवार

महिलाओं के अधिकार, इस्लाम और आधुनिक सभ्यता की निगाह में

इस्लाम ने महिलाओं के अधिकारों को विस्तार से बयान किया है, संपत्ति का अधिकार, माल ख़र्च करने का अधिकार, अपनी दौलत के इस्तेमाल का अधिकार, अपने माल से व्यापार कर के लाभ कमाने का अधिकार, इस्लामी हदों को ध्यान में रखते हुए जॉब करने का अधिकार, शिक्षा हासिल करने का अधिकार, सामाजिक और राजनीतिक मैदान में क़दम रखने का अधिकार वग़ैरह, यह वह अधिकार हैं जो इस्लाम ने महिलाओं को दिए हैं।