अधिक देखे गए।

ईदुल फ़ितर ईद का दिन या अहलेबैत अ.स. के ग़म का? यमनी सेना ने जवाबी कार्यवाही में सऊदी आतंकियों पर मारी बद्र 1 नामक मिसाइल। ईद और मासूमीन अ.स. की सीरत अलहदीदा में सऊदी अत्याचारों का अस्ली ज़िम्मेदार संयुक्त राष्ट्र संघः नाएफ़ हैदान इराक की शांति और अमन में ईरान की मुख्य भूमिका : लुइस राफेल बहरैन, बड़े संकट की आहट चुन चुन कर शिया समुदाय का DNA टेस्ट ले रही है खलीफाई तानाशाही । अमेरिका और फ़्रांस ने बोली हदीदाह पर यलग़ार, यमन पर संकट के बादल गहराए । ग़ुस्से और धमकी से बातचीत की मेज़ तक हसन रूहानी और क़तर नरेश की फोन वार्ता पर भड़का अबुधाबी । अमेरिकी गठबंधन ने फिर सीरियन सेना को बनाया निशाना, कई की मौत ईदुल फ़ितर के आमाल
Tuesday - 2018 June 19

क़ुरआन-अहलेबैत अ.

ईद और मासूमीन अ.स. की सीरत

मासूमीन अ.स. की निगाह में ईद की ख़ास अहमियत थी, पैग़म्बर स.अ. ने एक हदीस में ईदुल फितर और ईदुल अज़हा के बारे में फ़रमाया कि जिस समय मैं मदीने में आया तो मुझे पता चला कि जेहालत के दौर में लोग ईद के दो दिनों को बेहूदा और ग़ैर ज़रूरी कामों के लिए जानते थे, इसीलिए अल्लाह ने उन दिनों के बदले दो ईद के दिन क़रार दिए एक ईदुल फ़ितर और दूसरे ईदे क़ुर्बान, फिर आपने एक बहुत लंबी हदीस में फ़रमाया कि जब शबे ईदुल फ़ितर आती है तो अल्लाह नेक अमल वालों को बिना हिसाब किताब सवाब देगा, और जैसे ही ईद की सुबह होती है अल्लाह फ़रिश्तों को सारे शहरों में भेजता है वह ज़मीन पर आ कर गली कूचे में खड़े हो कर बुलंद आवाज़ से पुकार कर कहते हैं ऐ मोहम्मद (स.अ.) की उम्मत ईद की नमाज़ के लिए बाहर निकलो अल्लाह बे हिसाब सवाब देगा और सारे गुनाहों को माफ़ कर देगा।

इमाम अली अ.स. और यतीमों की सरपरस्ती

एक दिन इमाम अली अ.स. को यतीमों की तंगी और बदहाली की ख़बर मिली, आपने घर जा कर चावल, खजूर, तेल और कुछ खाने की चीज़ों का बंदोबस्त किया उसे अपने कंधे पर रख कर उनके घर चल दिए, मेरे बार बार कहने पर भी वह खाने का सामान मुझे नहीं दिया बल्कि ख़ुद अपने कंधे पर रखे रहे, जब हम यतीमों के घर पहुंचे तो इमाम अ.स. ने अपने हाथ से लज़ीज़ खाना बनाया और फिर अपने हाथ से उन्हें पेट भर खाना खिलाया। फिर आप उन बच्चों के साथ बहुत देर तक खेलते रहे उनको हंसाते रहे बच्चे भी आपके साथ खेलते और खिलखिला कर हंस रहे थे।

अली अ.स.और यतीमों और महरूमों की मदद

इमाम अली अ.स. ने अपनी हुकूमत में एक बूढ़ी ख़ातून को भीख मांगते हुए देखा इमाम अ.स. ने देखने के बाद पूछा कि कौन है यह और यह भीख क्यों मांग रही है? लोगों ने जवाब दिया मौला यह ईसाई है, आपने फ़रमाया कि जब तक काम करने के क़ाबिल थी उससे काम लेते रहे और अब जब बूढ़ी हो गई तो उसे अनदेखा कर दिया, आपने हुक्म दिया कि उसके ख़र्चों को बैतुल माल से पूरा किया जाए।
Country:     City:
Fajr 4:20
Sunrise 6:20
Zohr 13:10
Sunset 19:50
Maghrib 20:30

ताज़ा समाचार

बच्चों को डांटे नहीं!! अमेरिकी कांग्रेस का फैसला नहीं है स्वीकार, रूस से S-400 खरीदेंगे : तुर्की हश्दुश शअबी पर अमेरिकी हमलों का देंगे मुंह तोड़ जवाब : हिज़्बुल्लाह सऊदी- ज़ायोनी एजेंटों का क़ब्रिस्तान बना हदीदह, हमला 26 हज़ार नागरिक बेघर । हसन रूहानी और क़तर नरेश की फोन वार्ता पर भड़का अबुधाबी । इस्राईल में दहशत, पूर्व ऊर्जा मंत्री को ईरान के लिए जासूसी के आरोप में बंदी बनाया । हदीदह में सऊदी-ज़ायोनी-अमेरिकी गठबंधन की पराजय निश्चित, यमन जल्द ही विजेता के रूप में उभरेगा : जनरल जाफरी मानव अधिकार आयोग ने चेताया ,मानव संकट खड़ा कर रहे हैं ट्रम्प । अमेरिकी गठबंधन ने फिर सीरियन सेना को बनाया निशाना, कई की मौत अमेरिका और फ़्रांस ने बोली हदीदाह पर यलग़ार, यमन पर संकट के बादल गहराए । फीफा वर्ल्ड कप, संयोग या साज़िश, साम्राज्यवादी शक्तियों ने सदैव मचाया जनसंहार । इराक की शांति और अमन में ईरान की मुख्य भूमिका : लुइस राफेल बहरैन, बड़े संकट की आहट चुन चुन कर शिया समुदाय का DNA टेस्ट ले रही है खलीफाई तानाशाही । अलहदीदा में सऊदी अत्याचारों का अस्ली ज़िम्मेदार संयुक्त राष्ट्र संघः नाएफ़ हैदान यमनी सेना ने जवाबी कार्यवाही में सऊदी आतंकियों पर मारी बद्र 1 नामक मिसाइल। ईदुल फ़ितर ईद का दिन या अहलेबैत अ.स. के ग़म का? ईदुल फ़ितर के आमाल ग़ुस्से और धमकी से बातचीत की मेज़ तक ईद और मासूमीन अ.स. की सीरत माहे रमज़ान से ख़ुदा हाफ़िज़ी के आदाब आले सऊद ने काबे को फिर बनाया हथियार, क़तर के नागरिकों को हज करने की आज्ञा नहीं । अमेरिका के अधीनस्थ क्षेत्रों में रह गया है आईएसआईएस का प्रभाव : रूस अर्दोग़ान के बिगड़े बोल, उत्तरी इराक में दी सैन्य कार्रवाई की धमकी । वहाबी आतंकियों का क़ब्रिस्तान बनी फ़ुरात, कई क्षेत्रों पर सेना का क़ब्ज़ा । अमेरिका और इस्राईल की साज़िशों में मुख्य भूमिका में रहा है सऊदी अरब : हिज़्बुल्लाह क़तर का बड़ा बयान, सऊदी अरब है बुराई की धुरी ।

हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई

Thursday 5 May 2016 माहे रमज़ान में बेहतरीन दुआ मग़फ़ेरत की दुआ है: आयतुल्लाह ख़ामेनई
इस्लाम में गुनाहों का माफ़ करने वाला केवल अल्लाह है यहां तक कि पैग़म्बर स.अ. भी गुनाहों को नहीं माफ़ कर सकते हैं जैसाकि क़ुर्आन की आयत में इसका ज़िक्र कुछ इस तरह बयान हुआ है कि ऐ पैग़म्बर अगर इन लोगों ने गुनाह किया और आपके पास आ कर मग़फ़ेरत और इस्तेग़फ़ार का सवाल करें तो आप भी उन लोगों के हक़ में तौबा कीजिए अल्लाह उनकी तौबा को क़ुबूल करने वाला है, इस आयत से ज़ाहिर कि पैग़म्बर स.अ. उन लोगों के लिए इस्तेग़फ़ार करते हैं उनकी मग़फ़ेरत के लिए वसीला बनते हैं न कि उनकी तौबा को क़ुबूल करते हैं यानी गुनाह केवल अल्लाह ही माफ़ कर सकता है किसी और को इसका अधिकार नहीं है।

मराज-ए-तक़लीद से सम्बंधित समाचार

आयतुल्लाह सीस्तानी का बयान तय करेगा इराक चुनाव की रूप रेखा ।

हालाँकि आयतुल्लाह सीस्तानी ने किसी भी दल को समर्थन नहीं किया है लेकिन आप ने लोगों से चुनावों में भाग लेते हुए सम्प्रदाय और गुटों से हटकर सही नेतृत्व करने वाले के चयन पर ज़ोर दिया है ।

समाचार

मानवता के विनाश का कारण बनेगा तीसरा विश्व युद्ध, अमेरिका को आर्थिक थानेदार की भूमिका में नहीं रहने दूंगा : पुतिन

विश्वस्तर पर कोई भी ऐसी झड़प जो तीसरे विश्वयुद्ध का कारण बने वह मानव सभ्यता को नष्ट कर देगी हमे ऐसे घटना को रोकना होगा हम अमेरिका को इस बात की आज्ञा नहीं देंगे वह खुद को वैश्विक अर्थव्यवस्था का थानेदार समझे।

6/7/2018 2:14:25 PM

बश्शार असद और किम जोंग उन की संभावित मुलाक़ात को लेकर अमेरिका चिंतित ।

किम जोंग उन और ट्रम्प की मुलाक़ात की अटकलों के बीच उत्तर कोरिया की ओर से राष्ट्रपति असद से मुलाक़ात की योजना की ख़बरों के बाद असद ने कहा था कि मैं भी किम जोंग उन से मिलने का इच्छुक हूँ ।

6/7/2018 12:18:31 PM

आयतुल्लाह शैख़ ईसा क़ासिम की हालत गंभीर, आले खलीफा की नज़रबंदी हुई सख्त ।

कई साल से आले खलीफा की असंवैधानिक घेराबंदी में क़ैदियों सा जीवन गुज़ारने वाले बहरैन के जन नेता आयतुल्लाह शैख़ ईसा क़ासिम की हालत अत्यंत गंभीर है ।

6/7/2018 11:57:30 AM

आले सऊद को झटका, इराक ने सऊदी राजनीतिज्ञ को देश से निकाला ।

विवादित सऊदी मंत्री साबिन सबहान के सहायक का पदभार संभल रहे याह्या शराहीली ने इराक चुनाव के मौके पर देश के विभिन गुटों से मुलाक़ात करते हुए इराक चुनाव को प्रभावित करने के कोशिश की थी ।

6/7/2018 11:46:47 AM

  • रिकार्ड संख्या : 6517

घर-परिवार

बच्चों को डांटे नहीं!!

जब वालेदैन पूरे ग़ुस्से में बच्चों पर चिल्लाते हैं तो वह अपना आपा खो चुके होते हैं जिसकी वजह से वह ऐसी बातें भी बोल जाते हैं जिसे बोलना नहीं चाहते जिसकी वजह से बच्चे का बातिन और उसकी ज़मीर अपना अपमान महसूस करता है, हालांकि बहुत सख़्त है कि आप बीस बार एक ही बात के लिए अपने बच्चे से कहें जैसे यह कि तुम्हारी किताबें यहां क्यों पड़ी हैं, या यह कि कबसे यह किताबें यहां पड़ी हैं वग़ैरह... लेकिन आपसे सवाल है कि.....