Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 181430
Date of publication : 2/5/2016 16:50
Hit : 188

मक्के में मज़दूरों का भारी प्रदर्शन, कारों को लगाई आग।

सऊदी अरब के पवित्र नगर मक्का में सैकड़ों मज़दूरों ने मज़दूरी न मिलने की वजह से विरोध प्रदर्शन किए।


विलायत पोर्टलः सऊदी अरब के पवित्र नगर मक्का में सैकड़ों मज़दूरों ने मज़दूरी न मिलने की वजह से विरोध प्रदर्शन किए। अलआलम टीवी चैनेल की रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब की कई कंपनियों द्वारा अपने मज़दूरों को मज़दूरी न देने की वजह से शनिवार की रात को बहुत से मज़दूरों ने कई बसों को आग लगा दी। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने कई वाहनों के शीशे तोड़ दिये। मक्के के अग्निशमन केन्द्र ने बतया है कि उसने आग लगी 17 बसों की आग बुझाई। इस घटना में बिन लादिन कंपनी के कई कर्मचारी शामिल हैं। इससे पहले शनिवार को सऊदी अरब के कई नगरों में उन 50 हज़ार मज़दूरों ने प्रदर्शन किए थे जिन्हें पिछले चार महीनों से वेतन नहीं मिला और अब उन्हें निकालने के आदेश दिए गए हैं। कुछ पश्चिमी संचार माध्यमों ने हाल ही में बताया है कि सऊदी अरब ने पहली बार विश्व बैंक से दस अरब डालर का क़र्ज़ा लिया है।
.......................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी भारत ने दी ईरान को बड़ी राहत, तेल के लिए रुपये से पेमेंट के बाद अब टैक्स में भी छूट