Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 182819
Date of publication : 25/6/2016 18:19
Hit : 312

आईएसआईएल ने हलब में 600 से ज़्यादा लोगों का अग़वा कर लिया।

सीरिया में तकफ़ीरी आतंकवादी गुट आईएसआईएल ने, पूर्वोत्तरी सीमावर्ती प्रांत हलब मेंएक क़स्बे और 15 गावों को अग़वा किया गया। ब्रिटेन स्थित इस संगठन के अनुसार, कुछ अपहृत लोगों को हलब में कुर्दों के क़बासीन क़स्बे पहुंचाया गया है जबकि कुछ दूसरों को तुर्की की सीमा के क़रीब स्थित राई और मम्बीज शहर पहुंचाया गया है


विलायत पोर्टलः सीरिया में तकफ़ीरी आतंकवादी गुट आईएसआईएल ने, पूर्वोत्तरी सीमावर्ती प्रांत हलब में कुर्दों के एक क़स्बे से रिपोर्ट के अनुसार 900 लोगों का अपहरण किया है। कथित सीरियन ऑब्ज़र्वेट्री फ़ॉर ह्यूमन राइट्स ने शुक्रवार को बताया कि इन लोगों का हलब के एक क़स्बे और 15 गावों को अग़वा किया गया। ब्रिटेन स्थित इस संगठन के अनुसार, कुछ अपहृत लोगों को हलब में कुर्दों के क़बासीन क़स्बे पहुंचाया गया है जबकि कुछ दूसरों को तुर्की की सीमा के क़रीब स्थित राई और मम्बीज शहर पहुंचाया गया है जहां उन्हें या तो ख़न्दक़ खोदने या मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल किए जाने की उम्मीद है क्योंकि इन दोनों शहरों में आईएसआईएल को कई तरफ़ से कार्यवाहियों का सामना है। इस बीच एक दूसरी रिपोर्ट के अनुसार, आईएसआईएल ने हलब में 18 लोगों को जान से इसलिए मार दिया क्योंकि वे आईएसआईएल की क़ैद से बच निकलने की कोशिश कर रहे थे। हलब का प्रांतीय केन्द्र इन दिनों सीरिया की अलक़ाएदा शाखा नुस्रा फ़्रंट की तरफ़ से लगातार फ़ायरिंग की ज़द पर है। यह प्रांत सीरियाई सेना का बहुत ख़ास मोर्चा समझा जाता है जहां अभी हाल में 170 तकफ़ीरी आतंकी मारे गए। सीरियाई फ़ौज रूसी हवाई सेना की मदद से पड़ोसी प्रांत रक़्क़ा में दाख़िल हो चुकी है। इसी तरह सीरियाई सैनिक इस प्रांत के केन्द्र की तरफ़ बढ़ रहे हैं जिसे आईएसआईएल अपना मुख्यालय कहता है। समझा जाता है कि रक़्क़ा पर सीरियाई सेना और इराक़ के मूसिल शहर पर इराक़ी सेना के कंट्रोल से आईएसआईएल की कमर टूट जाएगी। दूसरी तरफ़ संयुक्त राष्ट्र संघ ने अनुमान लगाया है कि सीरिया में 50 लाख लोगों को मानवीय मदद की ज़रूरत है। ये लोग ऐसे इलाक़ो में हैं जहां पहुंचना बहुत मुश्किल है।
...........................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची