Thursday - 2018 August 16
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 182824
Date of publication : 26/6/2016 19:16
Hit : 264

फ़िलिस्तीनी संगठनों ने विश्व क़ुद्स दिवस के महत्व पर ज़ोर दिया।

फ़िलिस्तीनी गुटों, अरब जगत की मानवाधिकार संस्थाओं और ज़ायोनी शासन से संबंध बहाली के विरोधी संगठनों ने विश्व क़ुद्स दिवस के महत्व पर ज़ोर देते हुए, बैतुल मुक़द्दस के यहूदीकरण के ज़ायोनी शासन की साज़िशों की तरफ़ से होशियार किया है।

विलायत पोर्टलः फ़िलिस्तीनी गुटों, अरब जगत की मानवाधिकार संस्थाओं और ज़ायोनी शासन से संबंध बहाली के विरोधी संगठनों ने विश्व क़ुद्स दिवस के महत्व पर ज़ोर देते हुए, बैतुल मुक़द्दस के यहूदीकरण के ज़ायोनी शासन की साज़िशों की तरफ़ से होशियार किया है। फ़िलिस्तीन के जेहादे इस्लामी संगठन के नेता ख़ालिद अलबत्श ने ईरान की इस्लामी रिवाल्यूशन के संस्थापक स्वर्गीय इमाम ख़ुमैनी द्वारा रमज़ान के पवित्र महीने के आख़िरी शुक्रवार को विश्व क़ुद्स दिवस का ऐलान किए जाने को, अरब जगत में क़ुद्स के महत्व को बहाल करने का एक मौक़ा बताया। उन्होंने कहा कि यह दिन मुसलमानों के दिलों में फ़िलिस्तीन और बैतुल मुक़द्दस के मूल महत्व को दर्शाता है। मोरक्को के मानवाधिकार संघ के प्रमुख अहमद हाएज ने भी फ़िलिस्तीन की अत्याचारग्रस्त जनता पर ज़ायोनी शासन के अपराधों पर विश्व समुदाय के मौन की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि इस तरह के व्यवहार का मक़सद, बैतुल मुक़द्दस का यहूदीकरण, इस शहर के ढांचे को बदलना और इसकी धार्मिक पहचान को मिटाना है। मोरक्को के मज़दूर संघ के प्रवक्ता यूसुफ़ अलाकोश ने भी कहा है कि विश्व क़ुद्स दिवस का लक्ष्य, अरब व इस्लामी जगत के लोगों को, बैतुल मुक़द्दस को, इस्लामी दुनिया की सबसे बड़ी समस्या के रूप में उसकी जगह दिलाने की कोशिश के लिए आमंत्रित करना है।
...........................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :