Tuesday - 2018 Oct 16
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 182828
Date of publication : 26/6/2016 19:49
Hit : 237

इमाम अली (अ.स.) की शहादत की पूर्व संध्या पर दुनिया भर में ग़म का माहौल।

हज़रत अली अलैहिस्सलाम की शहादत की पूर्व संध्या पर सुप्रीम लीडर की उपस्थिति में रविवार 20 रमज़ान को इमाम ख़ुमैनी इमामबाड़े में शोक सभा का आयोजन किया गया इस शोक सभा में बड़ी संख्या में समाज के सभी वर्ग के लोगों ने भाग लिया।

विलायत पोर्टलः ईरान की इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर की उपस्थिति में रविवार 20 रमज़ान को इमाम ख़ुमैनी इमामबाड़े में शोक सभा का आयोजन किया गया। हज़रत अली अलैहिस्सलाम की शहादत की पूर्व संध्या पर आयोजित इस शोक सभा में बड़ी संख्या में समाज के सभी वर्ग के लोगों ने भाग लिया। ज्ञात रहे कि बीस रमज़ान, हज़रत अली अलैहिस्सलाम की शहादत की पूर्व संध्या है जिसमें शोक सभाओं का आयोजन किया जाता है। इसके अलावा आज की रात लोग इबादत करते हैं और मग़रिब की नमाज़ के बाद शुरू होने वाली यह इबादत सुबह की नमाज़ तक चलती है। इस इबादत के ख़त्म हो जाने के बाद फिर शोकसभाओं और जुलूसों का ताता लग जाता है जो लगभग पूरे दिन चलता है। उल्लेखनीय है कि सन 40 हिजरी को 19 रमज़ान की सुबह इब्ने मुल्जिम नाम के एक आदमी ने मस्जिद मे नमाज़ पढ़ते हुए हज़रत अली अलैहिस्सलाम के सिर पर ज़हर से बुझी तलवार से वार किया था। इस हमले के तीसरे दिन यानी 21 रमज़ान को हज़रत अली की शहादत हुई।
..........................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :