Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 182839
Date of publication : 29/6/2016 18:2
Hit : 191

ईरान अमेरीका के नर्म युद्ध के निशाने पर।

अमेरीकी साइट न्यूज़ वाइस ने ऐसे सबूत जारी किए हैं जिनसे पता चलता है कि अमेरीका की ख़ुफ़िया एजेन्सी सीआईए, नर्म युद्ध के अंतर्गत मनोरंजन के सामान के उत्पादन में प्रत्यक्ष भूमिका निभा रही है।


विलायत पोर्टलः अमेरीकी साइट न्यूज़ वाइस ने ऐसे सबूत जारी किए हैं जिनसे पता चलता है कि अमेरीका की ख़ुफ़िया एजेन्सी सीआईए, नर्म युद्ध के अंतर्गत मनोरंजन के सामान के उत्पादन में प्रत्यक्ष भूमिका निभा रही है। वाइस वेबसाइट ने इससे पहले पिछले एक साल के दौरान कुछ रिपोर्टें जारी की थीं जिनमें 2006 से 2011 के बीच कम से कम 22 सिनेमा और टेलीवीजन कार्यक्रमों में अमेरीका की ख़ूफ़िया संस्था की भूमिका रही थी। इन चीज़ों के बनाने वालों को अमेरीका की ख़ूफ़िया एजेन्सी सीआईए की तरफ़ से बजट दिया जाता है। इन्हीं फ़िल्मों में से एक ईरान के ख़िलाफ़ बनी आरगो फ़िल्म है जिसमें सी आई ए की भूमिका साफ़ है। इस नए रहस्योद्घाटन से पता चलता है कि अमेरीका की ख़ूफ़िया एजेन्सी के अधिकारियों ने ईरान के ख़िलाफ़ बनी आरगो फ़िल्म के निर्माता, निर्देशक तथा काम करने वालों के साथ कई बार बैठकें कीं ताकि वह ईरान के बारे में अपने दृष्टिगत चित्र को एक सच्ची कहानी पर आधारित फ़िल्म के रूप में पेश कर सकें। आरगो फ़िल्म की कहानी अमेरीकी ख़ूफ़िया एजेन्सी सीआईए के उस गुप्त अभियान को बयान करती है जिसमें साल 1979 में तेहरान में अमेरीका के जासूसी अड्डे पर छात्रों के नियंत्रण के बाद कनाडा के राजदूत के घर में छिपे 6 अमेरीकी कूटनयिकों को सुरक्षित निकालना था। इस फ़िल्म की बुनियाद सीआईए के एक अधिकारी टोनी मेन्ज़र की पुस्तक द मास्टर आफ़ डिस्गाइज़ है। तेहरान में जिसे अमेरीकी दूतावास कहा जाता था वास्तव में क्रांतिकारी ईरान में जासूसी और विनाशकारी गतिविधियों की कमान का केन्द्र था। इसीलिए चार नवंबर 1979 को तेहरान में अमेरीका के जासूसी अड्डे पर इमाम ख़ुमैनी के रास्ते पर चलने वाले छात्रों ने क़ब्ज़ा कर लिया। जासूसी अड्डे पर कंट्रोल के साथ ही ईरान से अमेरीकी वर्चस्व हमेशा के लिए ख़त्म हो गया। अब तेहरान में अमेरीका के दूतावास या जासूसी के अड्डे पर कंट्रोल को 37 साल हो रहे हैं लेकिन इस्लामी रिपब्लिक ईरान से अमेरीकी अधिकारियों की दुश्मनी अभी भी जारी है।
..........................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का सम्मान करते हैं लेकिन इस्राईल की नकेल कसो : लेबनान दक्षिण कोरिया ने आंग सान सू ची से ग्वांगजू पुरस्कार वापस लेने का फैसला किया । सूडान ने इस्राईल के अरमानों पर पानी फेरा, संबंध सामान्य करने से किया इंकार । हज़रत फ़ातिमा मासूमा स.अ. सऊदी अरब का अमेरिका को कड़ा संदेश, हमारे मामले में मुंह बंद रखे सीनेट । इदलिब की आज़ादी प्राथमिकता, अतिक्रमणकारियों को सीरिया से भागना ही होगा : दमिश्क़ हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स की मांग, अमेरिका से राजनैतिक संबद्धता कम करे इंग्लैंड। अवैध राष्ट्र ने लगाई गुहार, लेबनान सेना पर दबाव बनाए अमेरिका । अमेरिकी गठबंधन आतंकी संगठनों की मदद से सीरिया के तेल संपदा को लूटने में व्यस्त । मासूमा ए क़ुम स.अ. की शहादत के शोक में डूबा ईरान, क़ुम समेत देश भर में मातम । अमेरिका ने स्वीकारा, असद को पदमुक्त करना उद्देश्य नहीं । सिर्फ दो साल, और साठ हज़ार लोगों की जान ले चुका है यमन संकट । हमास ने दिया इस्राईल को गहरा झटका, पकडे गए ड्रोन विमानों का क्लोन बनाया । आले सऊद की काली करतूत, क़तर पर हमला कर हड़पने की साज़िश का भंडाफोड़ । रूस मामलों में पोम्पियो की कोई हैसियत नहीं, अमेरिका की विदेश नीति का भार जॉन बोल्टन के कंधों पर : लावरोफ़