Thursday - 2018 April 26
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 183241
Date of publication : 27/8/2016 20:42
Hit : 386

महान फ़कीह व मुज्तहिद।

तीस साल पहले जब मशहद में मैंने हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई से मुलाक़ात की थी तो उस समय आपकी गिनती मशहद के अच्छे उस्तादों में की जाती थी और उस समय मैंने हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई से पूछा था कि आप कौन सी किताब पढ़ा रहे हैं तो उन्होंने फ़रमाया था कि “मकासिब”...................


विलायत पोर्टलः आयतुल्लाह फ़ाज़िल लंकरानी र.ह ने फ़रमायाः मैं चूंकि आयतुल्लाह ख़ामेनई को अच्छी तरह से पहचानता हूं इसलिए कह रहा हूं कि आप बड़े मुज्तहिद व महान फ़क़ीह हैं।
तीस साल पहले जब मशहद में मैंने हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई से मुलाक़ात की थी तो उस समय आपकी गिनती मशहद के अच्छे उस्तादों में की जाती थी और उस समय मैंने हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई से पूछा था कि आप कौन सी किताब पढ़ा रहे हैं तो उन्होंने फ़रमाया था कि “मकासिब”
और मकासिब एक महत्वपूर्ण और मुश्किल किताब है और मेरी निगाह में आप एक फ़कीह और मुज्तहिद हैं।
(आज से लगभग 10 साल पहले हज़रत आयतुल्लाह फ़ाज़िल लंकरानी का बयान) 


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :