Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 184114
Date of publication : 9/11/2016 18:28
Hit : 415

हिज़्बुल्लाह के लिए अमेरीकी नीतियों में कोई बदलाव नहीं आयाः शैख़ नईम क़ासिम

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह के उप महासचिव ने कहा है कि अमेरीका के नये राष्ट्रपति के चयन से हिज़्बुल्लाह के बारे में इस देश की नीति में कोई परिवर्तन नहीं आएगा।
विलायत पोर्टलः लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह के उप महासचिव ने कहा है कि अमेरीका के नये राष्ट्रपति के चयन से हिज़्बुल्लाह के बारे में इस देश की नीति में कोई परिवर्तन नहीं आएगा। अलअहद वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, हिज़्बुल्लाह के उप महासचिव शैख़ नईम क़ासिम ने कहा कि हिज़्बुल्लाह के लिए कोई महत्व नहीं है कि अमेरीकी चुनाव में कौन प्रत्याशी जीता है। उनका कहना था कि हिज़्बुल्लाह के बारे में अमेरीकी नीति अटल है, यहां तक कि शैलियां परिवर्तित भी हो जाएं तब भी लक्ष्य एक ही है और वह परिवर्तित नहीं होगा और अमेरीका द्वारा प्रतिरोध के केन्द्र से मुक़ाबले और ज़ायोनी शासन के समर्थन का क्रम जारी रहेगा। हिज़्बुल्लाह के उप महासचिव ने कहा कि अमरीका की नई सरकार सीरिया में अपने समीकरणों की पुनर्समीक्षा करेगी और निर्धारित करेगी कि सीरिया युद्ध को कब तक जारी रहना चाहिए और यही कारण है कि हम एक युद्ध के लिए जो संभव है बहुत लंबा हो, तैयार हैं। शैख़ नईम क़ासिम ने बल दिया कि भारी ख़र्चों के बावजूद, सीरिया में हमारा युद्ध जारी रहेगा क्योंकि हमारा लक्ष्य तकफ़ीरी योजना को विफल बनाना है और हमारी विजय का चिन्ह दिखने लगा है। उनका कहना था कि यह युद्ध केवल सीरिया युद्ध नहीं है बल्कि लेबनान, फ़िलिस्तीन और क्षेत्र का युद्ध, संप्रभुता, स्वाधीनता और अखंडता का युद्ध है जिसका एक अच्छा और अंतिम परिणाम सामने आया है। हिज़्बुल्लाह के उप महासचिव ने सीरिया में आतंकवादियों से मुक़ाबले में प्रतिरोध की सुदृढ स्थिति की ओर संकेत करते हुए कहा कि प्रतिरोध, पश्चिम और तकफ़ीरियों को सीरिया का विभाजन करने की अनुमति नहीं देगा।
..................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई