Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 184402
Date of publication : 29/11/2016 19:54
Hit : 227

इस्राईल द्वारा ग़ज़्ज़ा की नाकाबंदी से जनता हुई बेरोज़गारी और कुपोषण का शिकार।

आज़ाद फ़िलिस्तीन जनमोर्चा के नेता ज़ुलफ़ेक़ार सुवैरजू ने ग़ज़्ज़ा की जनता की पीड़ा को कम करने के लिए मिस्र की अगले कुछ महीनों के दौरान 3 चरणों पर आधारित योजना की ख़बर दी है।
विलायत पोर्टलः आज़ाद फ़िलिस्तीन जनमोर्चा के नेता ज़ुलफ़ेक़ार सुवैरजू ने ग़ज़्ज़ा की जनता की पीड़ा को कम करने के लिए मिस्र की अगले कुछ महीनों के दौरान 3 चरणों पर आधारित योजना की ख़बर दी है। इस योजना के तीन चरण इस प्रकार हैं, रफ़ह पास का पुनर्निर्माण, सीना क्षेत्र की स्थिति में बदलाव लाना और ग़ज़्ज़ा को गैस पहुंचाने वाले नेटवर्क में सुधार करना शामिल है। ज़ायोनी शासन ने 2007 में ग़ज़्ज़ा पट्टी की नाकाबंदी की। इस नाकाबंदी के नकारात्मक परिणाम मिस्र द्वारा रहफ़ पास को बंद करने से और भयावह हो गए। यह ऐसी हालत में है कि रफ़ह पास ग़ज़्ज़ा की जनता की समस्या को कम करने का एकमात्र रास्ता हो सकता था। इस्राईल द्वारा ग़ज़्ज़ा की नाकाबंदी के कारण इस क्षेत्र की जनता बढ़ती बेरोज़गारी और कुपोषण का शिकार हैं। ग़ज़्ज़ा में बेरोज़गारी 43 फ़ीसद है, जबकि जवानों में यह दर 60 फ़ीसद है जो दुनिया में किसी एक क्षेत्र में बेरोज़गारी का सबसे बड़ा आंकड़ा है। वर्ष 2000 में ग़ज़्ज़ा की 30 फ़ीसद आबादी निर्धनता रेखा के नीचे ज़िन्दगी गुज़ार रही थी जबकि 2016 में ग़ज़्ज़ा की 80 फ़ीसद जनता निर्धनता रेखा के नीचे जीवन गुज़ारने पर मजबूर है। 73 फ़ीसद ग़ज़्ज़ा वासियों को खाद्य असुरक्षा का सामना है। जिस चीज़ ने मिस्र की ओर से रफ़ह पास खोले जाने की उम्मीद पैदा की है वह सऊदी अरब के बारे में मिस्र की विदेश नीति में आया बदलाव है। मिस्री सरकार ने सऊदी अरब की युद्धोन्मादी नीति और सीरिया संकट में हर प्रकार के विदेशी हस्तक्षेप के विरोध और इराक़ सरकार से संबंध बेहतर करने की कोशिश के ज़रिए यह दर्शा दिया कि वह विदेश नीति में अधिक स्वाधीनता तथा क्षेत्रीय नीति में सऊदी अरब के प्रभाव से बाहर निकलना चाहती है। इस बात के मद्देनज़र कि फ़िलिस्तीन का विषय मिस्र सहित अरब जनमत के निकट अहमियत रखता है, रफ़ह पास के सीमित स्तर पर खुलने से मिस्री समाज में अब्दुल फ़त्ताह सीसी और उनकी सरकार की वैधता बढ़ जाएगी। क्योंकि रफ़ह पास एक मात्र रास्ता है जिससे ग़ज़्ज़ा की जनता की पीड़ा को कम किया जा सकता है।
.................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई बिन सलमान इस्राईल का सामरिक ख़ज़ाना, हर प्रकार रक्षा करें ट्रम्प : नेतन्याहू लेबनान इस्राईल सीमा पर तनाव, लेबनान सेना अलर्ट हिज़्बुल्लाह की पहुँच से बाहर नहीं है ज़ायोनी सेना, पलक झपकते ही नक़्शा बदलने में सक्षम हिंद महासागर में सैन्य अभ्यास करने की तैयारी कर रहा है ईरान हमास से मिली पराजय के ज़ख्मों का इलाज असंभव : लिबरमैन भारत और संयुक्त अरब अमीरात डॉलर के बजाए स्वदेशी मुद्रा के करेंगे वित्तीय लेनदेन । सामर्रा पर हमले की साज़िश नाकाम, वहाबी आतंकियों ने मैदान छोड़ा