Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 184460
Date of publication : 5/12/2016 16:55
Hit : 212

सीरिया में अमेरिका और ब्रिटेन आतंकियों की मदद कर रहे हैं।

अमेरीका और ब्रिटेन सीरिया के हलब शहर के उन इलाक़ों में हथियार पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं, जो आतंकवादी गुटों के क़ब्ज़े में हैं।
विलायत पोर्टलः अमेरीका और ब्रिटेन सीरिया के हलब शहर के उन इलाक़ों में हथियार पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं, जो आतंकवादी गुटों के क़ब्ज़े में हैं। ब्रिटिश अख़बार गार्डियन ने इस संदर्भ में लिखा है कि सीरिया में जारी लड़ाई में हार का सामना कर रहे आतंकवादी गुटों को हथियारों की नई खेप पहुंचाने के लिए अमेरीकी और ब्रिटिश अधिकारी विभिन्न उपायों पर विचार कर रहे हैं। हालांकि ताज़ा स्थिति में वाशिंगटन और लंदन को इस बात की भी चिंता है कि कहीं इस क़दम से मास्को और दमिश्क़ की सीधे रूप से नाराज़गी मोल न लेनी पड़े। गार्डियन की रिपोर्ट के मुताबिक़, सीरिया में रूस द्वारा जटिल एवं आधुनिक डिफ़ैंस शील्ड सिस्टम की स्थापना और आतंकवादी गुटों के ख़िलाफ़ कार्यवाही भी अमेरीका और ब्रिटेन की योजना में रुकावट है। इस योजना में आने वाली रुकावटों के मद्देनज़र अमेरीका की तरह ब्रिटेन ने भी रूस पर हलब में मानवीय सहायता पहुंचाने में रुकावटें डालने का आरोप लगाया है। हक़ीकत में इस तरह के आरोप लगाकर ब्रिटेन, पश्चिम द्वारा आतंकवादी गुटों के समर्थन के विषय से विश्व समुदाय का ध्यान हटाना चाहता है। सीरिया में आतंकवादी गुटों की लगातार पराजय ने उनके समर्थकों को परेशान कर दिया है। आतंकवाद समर्थक पश्चिमी और अरब देश आतंकवादियों को बचाने का भरपूर कोशिश कर रहे हैं। हाल ही में रूस के टीवी चैनल-2 ने सीरिया में आईएस समेत आतंकवादी गुटों को उनके समर्थक देशों की ओर से हथियारों की नई खेप की आपूर्ति से पर्दा उठाया है। सीरियाई सैनिकों ने हलब के पास तकफ़ीरी आतंकवादी गुट नुस्रा फ्रंट के हथियारों के एक गोदाम को ज़ब्त किया है, जिसमें अमेरीका निर्मित आधुनिक हथियार रखे हुए थे। उल्लेखनीय है कि राष्ट्र संघ सुरक्षा परिषद ने 2170 प्रस्ताव पारित करके सीरिया में हिंसा में लिप्त अलक़ायदा और आईएस समेत समस्त चरमपंथी गुटों के निरस्त्रीकरण पर बल दिया था। इस प्रस्ताव के आधार पर उन लोगों पर प्रतिबंधों का प्रावधान है, जो हथियारों समेत आतंकवादी गुटों की किसी भी प्रकार की मदद करते हैं। .....................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई