Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185128
Date of publication : 18/1/2017 18:45
Hit : 181

रूस और अमेरीका के अलावा और भी कुछ देश हैं जिन्हें परमाणु प्रक्रिया से जोड़ा जाना चाहिएः रूसी संसद सुरक्षा समिति

रूसी संसद की सुरक्षा समिति के प्रमुख ओज़ोफ़ ने कहा कि सभी परमाणु शक्तियों का संयुक्त रूप से परमाणु निरस्त्रीकरण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि रूस और अमेरीका के अलावा भी कुछ देश हैं जिन्हें इस प्रक्रिया से जोड़ा जाना चाहिए।
विलायत पोर्टलः
रूस ने अमेरीका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के उस प्रस्ताव को ख़ारिज कर दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि रूस प्रतिबंधों को हटाए जाने के बदले अपने परमाणु हथियारों की संख्या कम करे। ट्रंप ने एक इंटरव्यू में कहा कि प्रतिबंधों से रूस को काफ़ी नुक़सान पहुंच रहा है और यदि मास्को परमाणु हथियारों में कमी पर तैयार हो जाता है तो प्रतिबंधों को हटाया जा सकता है। ट्रंप ने कहा कि इस समझौते से दोनों पक्षों को लाभ होगा। अमेरीका और यूरोपीय संघ ने वर्ष 2014 से रूस पर आरोप लगाया कि वह यूक्रेन की अराजकता में लिप्त है और एक पक्ष की सहायता कर रहा है तथा रूस ने ग़लत तरीक़े से क्रीमिया को अपनी धरती से जोड़ लिया है। इस आरोप के साथ ही पश्चिमी देशों ने रूस पर आर्थिक व वित्तीय प्रतिबंध लगाए दिए जबकि मास्को ने भी इस पर जवाबी कार्यवाही की। अमेरीका की सरकार ने हाल ही में रूस के 35 कूटनयिकों को अपने देश से बाहर निकाल दिया और रूस के छह अधिकारियों तथा पांच संस्थाओं पर यह आरोप लगाकर प्रतिबंध लगा दिया कि उन्होंने अमेरीका के राष्ट्रपति चुनावों में हस्तक्षेप किया है। ट्रंप ने रूस से प्रतिबंध हटाने के लिए जो शर्तें लगाईं वह आश्चर्यजनक होने के साथ ही तर्कहीन भी हैं। आश्चर्यजनक इस लिए कि वाशिंग्टन मास्को संबंधों के इतिहास में यह पहला मौक़ा है कि अमेरीकी राष्ट्रपति एसी शर्त लगा रहे हैं जो इससे पहले किसी भी अमेरीकी राष्ट्रपति ने नहीं लगाई थी। यह शर्त तर्कहीन इस लिए है कि ट्रंप अमेरीका के परमाणु हथियारों में कमी लाने का कोई वादा किए बिना रूस से मांग कर रहे हैं कि वह अपने परमाणु शस्त्रों की संख्या कम करे। हालांकि अमेरीका के पास परमाणु हथियारों का बहुत बड़ा भंडार है और अमेरीका ने एनपीटी का कभी भी पालन नहीं किया है। यही नहीं अमेरीका तो अपने परमाणु हथियारों का नवीनीकरण भी कर रहा है। अमेरीका की सामरिक रणनीति में पूर्व परमाणु आक्रमण की नीति आज भी शामिल है जिस पर अमेरीका के प्रतिद्वंद्वी ही नहीं ख़ुद अमेरीका के भीतर भी कुछ गलियारे आपत्ति जताते रहे हैं। रूसी संसद की सुरक्षा समिति के प्रमुख ओज़ोफ़ ने कहा कि सभी परमाणु शक्तियों का संयुक्त रूप से परमाणु निरस्त्रीकरण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि रूस और अमेरीका के अलावा भी कुछ देश हैं जिन्हें इस प्रक्रिया से जोड़ा जाना चाहिए। रूस को भलीभांति पता है कि अमेरीका परमाणु हथियार कम करने के बजाए बढ़ाने का इरादा रखता है क्योंकि डोनल्ड ट्रंप ख़ुद भी अमेरीका की परमाणु ताक़त बढ़ाने की बात कह चुके हैं।
.....................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इमाम हसन असकरी अ.स. की ज़िंदगी पर एक निगाह अमेरिका का युग बीत गया, पश्चिम एशिया से विदाई की तैयारी कर ले : मेजर जनरल मूसवी सऊदी अरब ने यमन के आगे घुटने टेके, हुदैदाह पर हमले रोकने की घोषणा। ईरान को दमिश्क़ से निकालने के लिए रूस को मनाने का प्रयास करेंगे : अमेरिका आईएसआईएस आतंकियों का क़ब्रिस्तान बना पूर्वी दमिश्क़ का रेगिस्तान,30 आतंकी हलाक ग़ज़्ज़ा, प्रतिरोधी दलों ने ट्रम्प की सेंचुरी डील की हवा निकाली : हिज़्बुल्लाह सऊदी ने स्वीकारी ख़ाशुक़जी को टुकड़े टुकड़े करने की बात । आईएसआईएस समर्थक अमेरिकी गठबंधन ने दैरुज़्ज़ोर पर प्रतिबंधित क्लिस्टर्स बम बरसाए । अवैध राष्ट्र में हलचल, लिबरमैन के बाद आप्रवासी मामलों की मंत्री ने दिया इस्तीफ़ा फ़्रांस और अमेरिका की ज़ुबानी जंग तेज़, ग़ुलाम नहीं हैं हम, सभ्यता से पेश आएं ट्रम्प : मैक्रोन बीवी क्या करे कि घर जन्नत की मिसाल हो ज़ायोनी युद्ध मंत्री लिबरमैन का इस्तीफ़ा, ग़ज़्ज़ा की राजनैतिक जीत : हमास अमेरिका की चीन को धमकी, हमारी मांगे नहीं मानी तो शीत युद्ध के लिए रहो तैयार देश को मुश्किलों से उभारना है तो राष्ट्रीय क्षमताओं का सही उपयोग करना होगा : आयतुल्लाह ख़ामेनई अय्याश सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान है ग़ज़्ज़ा पर वहशियाना हमलों का मास्टर माइंड : मिडिल ईस्ट आई