Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185183
Date of publication : 23/1/2017 9:39
Hit : 242

आस्ताना बैठक में सीरिया के सशस्त्र गुट भाग लेने के विषय में ईरान, रूस और तुर्की के बीच बनी सहमति।

सीरिया के सशस्त्र और राजनीतिक गुटों के साथ वार्ता कार्यक्रम के बारे में ईरान,रूस और तुर्की के मध्य सहमति बन गई है।

विलायत पोर्टलः
सीरिया के सशस्त्र और राजनीतिक गुटों के साथ वार्ता कार्यक्रम के बारे में ईरान,रूस और तुर्की के मध्य सहमति बन गई है। समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार आस्ताना बैठक से पहले रविवार को तीनों देशों के प्रतिनिधियों की बैठक में इस बात पर सहमति बनी कि आस्ताना बैठक में सीरिया के सशस्त्र गुट भाग लेंगे और आगामी बैठक में ग़ैर सशस्त्र राजनीतिक गुट भी भाग लेंगे। इसी प्रकार ईरान, रूस और तुर्की के प्रतिनिधियों के बीच होने वाली वार्ता में सीरियाई-सीरियाई पक्षों के बीच वार्ता के विषय की समीक्षा की गई। सोमवार से आरंभ होने वाली आस्ताना बैठक में ईरान, रूस और तुर्की सहित सात प्रतिनिधिमंडल भाग लेंगे। इन तीनों देशों के प्रतिनिधिमंडल आस्ताना बैठक को आयोजित कराने वाले देश के रूप में इस बठक में हाज़िर रहेंगे। गत 20 दिसंबर को ईरान, रूस और तुर्की के विदेशमंत्रियों की मॉस्को में होने वाली त्रिपक्षीय बैठक में सीरिया संकट के राजनीतिक समाधान पर सहमति बनी थी और आस्ताना बैठक उसी सहमति के परिप्रेक्ष्य में हो रही है। आस्ताना बैठक के आयोजक ईरान, रूस और तुर्की के अलावा सीरियाई सरकार और विरोधियों के दो अन्य प्रतिनिधिमंडल भाग लेंगे। इसी तरह सीरिया के मामलों में संयुक्त राष्ट्रसंघ के विशेष दूत स्टीफेन दि मिस्तूरा भी इस बैठक में भाग लेंगे। इस बैठक में अमेरिकी राजदूत भी भाग लेंगे। यह बैठक सीरिया संकट के समाधान के लिए जनेवा में बंद पड़ी वार्ता को आरंभ कराने की भूमिका है जो घोषित कार्यक्रम के अनुसार जनेवा में संयुक्त राष्ट्रसंघ की निगरानी में आठ फरवरी को होगी।
...................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इंग्लैंड में हर साल 5200 लोग इस्लाम क़ुबूल कर रहे हैं… सीरिया में एक बार फिर तनाव बढ़ा, तुर्की की विस्तारवादी नीतिया चरम पर । ईरान पर आतंकी हमला, बिन सलमान ने दिया पाकिस्तान को 20 अरब डॉलर का इनाम : डी मेडी टेलीग्राफ ज़रूरत पड़ी तो अमेरिका को हमलों का निशाना बनाने को तैयार : रूस हिज़्बुल्लाह ने सेना और देशवासियों के साथ मिलकर लेबनान को सीरिया जैसी दुर्दशा से बचा लिया । पुतिन की नसीहत , विनाशकारी सियासत से बाज़ आए अमेरिका क़तर का आले सऊद पर हमला, हज को राजनैतिक हथियार के रूप में प्रयोग कर रहा है सऊदी अरब। सऊदी युवराज की भारत यात्रा के विरोध में हुए विशाल विरोध प्रदर्शन । वेनेज़ुएला संकट, अमेरिकी हस्तक्षेप की आशंका , सेना हाई अलर्ट । दमिश्क़ कुर्दों का समर्थन करने के लिए तैयार । इंसान मौत के समय किन किन चीज़ों को देखता है? हिटलर की भांति विरोधी विचारधारा को कुचल रहे हैं ट्रम्प । ईरान, आत्मघाती हमलावर और आतंकी टीम में शामिल दो सदस्य पाकिस्तानी : सरदार पाकपूर सीरिया अवैध राष्ट्र इस्राईल निर्मित हथियारों की बड़ी खेप बरामद । ईरान को CPEC में शामिल कर सऊदी अरब और अमेरिका को नाराज़ नहीं कर सकता पाकिस्तान।