Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185225
Date of publication : 24/1/2017 19:20
Hit : 124

डोनाल्ड ट्रंप के प्रस्तावित कैबिनेट पर एक नज़र

अमेरीका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आधिकारिक रूप में राष्ट्रपति पद पर काम करना आरंभ कर दिया है। ट्रंप ने जो अपना मंत्रिमण्डल चुना है उसमें अमीर गोरे लोगों को प्रमुखता दी गई है।
विलायत पोर्टलः
अमेरीका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आधिकारिक रूप में राष्ट्रपति पद पर काम करना आरंभ कर दिया है। ट्रंप ने जो अपना मंत्रिमण्डल चुना है उसमें अमीर गोरे लोगों को प्रमुखता दी गई है। उन्होंने अपने प्रस्तावित मंत्रियों में पैसों वालों को विशेष महत्व दिया है जो गोरी चमड़ी वाले हैं। ट्रंप के मंत्रिमंडल में लैटिन अमेरीकी मूल का कोई मंत्री नहीं है। अपने चुनावी अभियान के दौरान ट्रंप ने कहा था कि वे अवैध प्रवासियों को अमेरीका से निकाल बाहर करेंगे। अमेरीका के नए राष्ट्रपति ने अपने प्रस्तावित मंत्रीमण्डल में 80 प्रतिशत, गोरी चमड़ी वालों को शामिल किया है। ट्रंप के मंत्रिमण्डल में केवल तीन महिलाएं शामिल हैं जबकि पुरुषों की संख्या 80 प्रतिशत है। ट्रंप के मंत्रिमंडल में एसे धनवान लोग शामिल है जिनके पास अथाह पैसा है जिनकी आय करोड़ों में है। उन्होंने तीन एसे लोगों को मंत्री के रूप में चुना है जिनकी संपत्ति 6 से 14 अरब डालर से अधिक है। उनके प्रस्तावित मंत्रीमण्डल को अरब पतियों का मंत्रीमण्डल कहा जा रहा है। ट्रंप के प्रस्तावित मंत्रिमण्डल में तीन रिटायर्ड जनरल भी शामिल हैं। आइए देखते हैं कि ट्रंप ने जो प्रस्तावित मंत्रीमण्डल पेश किया है उसमें कौन-कौन शामिल है और उनके विचार क्या हैं।
विदेशमंत्रीः डोनाल्ड ट्रंप ने विदेशमंत्री के लिए रेक्स टेलरसन का नाम पेश किया है जो वर्तमान में एक्सन तेलकंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। यदि सीनेट उनकी पुष्टि करती है तो अमेरीकी इतिहास में यह पहली बार होगा कि जब एक एसा व्यक्ति विदेशमंत्रालय की बागडोर संभालेगा जिसे किसी भी प्रकार का प्रशासनिक और सैनिक अनुभव नहीं है। बताया जाता है कि रूसी राष्ट्रपति पुतीन से रेक्स टेलरसन के निकट के संबन्ध हैं।
रक्षामंत्रीः ट्रंप ने पूर्व अमेरीकी जरनल जेम्स मैटिस को रक्षामंत्री के रूप में पेश किया है जो अपनी कठोर नीतियों के कारण “पागल कुत्ते” के नाम से भी जाने जाते हैं। मैटिस आरंभ से अविवाहित हैं। उनके घर में टीवी नहीं है। जेम्स मैटिस के बारे में कहा जाता है कि ईरान के कड़े विरोधी हैं। उन्होंने सीनेट में कहा था कि अगर वे होते तो कभी भी ईरान के साथ परमाणु समझौता न होने देते। पागल कुत्ते के नाम से मश्हूर मैटिस ने एक बार कहा था कि अमेरीका के सामने तीन गंभीर चनौतियां हैं ईरान, ईरान, ईरान।
वित्तमंत्रीः वित्तमंत्रालय के लिए ट्रंप ने Steven Mnuchin का नाम पेश किया है। वे Goldman Sachs and hedge के मैनेजर हैं। वे बहुत धनी अमेरीकी परिवार में जन्मे। सीनेट में योग्यता के सत्यापन करने वाली समिति की बैठक के दौरान स्टीवन मनचिन ने कहा था कि विभिन्न देशों पर वाशिग्टन की ओर से लगाए जाने वाले प्रतिबंधों का वे समर्थन करते हैं।
शिक्षामंत्रीः ट्रंप ने शिक्षामंत्री के रूप में Betsy Devos के नाम को पेश किया है। वे भी एक अरबपति व्यक्ति हैं। बेटसी डीवोस का मानना है कि अमेरीकी छात्रों को हथियार लेकर स्कूल जाना चाहिए। उनके इस विचार से बहुत से अमरीकी सहमत नहीं हैं।
परिवहन मंत्रीः अमेरीकी परिवहन मंत्री के रूप में एलिन चाव को पेश किया गया है। बताया जाता है कि एमकेओ नामक आतंकवादी गुट से अमेरीकी की होने वाली परिवहन मंत्री के संबन्ध मैत्रीपूर्ण हैं। वे आरंभ से ही ईरानी विरोधी रही हैं।
स्वास्थ्य एवं मानव संसाधन मंत्रीः अमेरीका के होने वाले स्वास्थ्य एवं मानव संसाधन मंत्री का पूरा नाम Thomas Edmunds Tom Price है जो “टाम प्राइस” के नाम से मश्हूर हैं। टाम प्राइस, ओबामा केयर नामक स्वास्थ्य योजना के प्रबल विरोधी रह हैं। वे ईरान तथा गुट पांच धन एक बीच हुए समझौते का भी विरोध करते हैं।
वाणिज्य मंत्रीः विल्बर रास को प्रस्तावित वाणिज्यमंत्री के रूप में चुना गया है। वे WL. Ross & co. के संस्थापक हैं। उनकी संपत्ति 2.3 अरब डालर बताई जाती है।
आवासमंत्रीः अमेरीका के आगामी आवासमंत्री के रूप में जिनको पेश किया गया है उनका नाम है Ben Carson वे राष्ट्रपति पद के चुनावों में ट्रपं के प्रतिद्वदवी थे किंतु बाद में उनके पक्ष में बैठ गए थे। हालांकि बेन कारसन को प्रशासनिक अनुभव नहीं है किंतु ट्रंप उन्हें अमेरीका का आवास मंत्री बनाने के इच्छुक हैं। उनकी गणना भी धनवान लोगों में होती है।
आंतरिक सुरक्षा मंत्रीः John Calley को अमेरीका की आंतरिक सुरक्षा के मंत्री के रूप में पेश किया जा रहा है। वे एक सेवानिवृत्त जनरल हैं। इराक़ में वे अमेरीकी सेना के कमांडर के रूप में रहे हैं। जान केले का दावा है कि ईरान, लैटिन अमेरीका में अपनी पैठ बना रहा है और यहां पर अपनी छावनी बनाने के लिए वह इस क्षेत्र के देशों के साथ सहयोग कर रहा है।
गृहमंत्रीः ट्रंप का मानना है कि 55 वर्षीय Ryan Zinke को ही अमेरीका का गृहमंत्री बनाया जाए। अमेरीकी नौसेना की विशेष टुकड़ी के वे सदस्य रह चुके हैं। धन-संपत्ति की दृष्टि से तो Ryan Zinke ट्रप के प्रस्तावित मंत्रिमण्डल के पैसवाले मंत्रियों की तुलना में तो कुछ कम है किंतु ईरान और जेसीपीओए के विरोध में वे बहुत आगे हैं।
ऊर्जामंत्रीः टेक्सास के पूर्व गवर्नर को नए अमेरीकी ऊर्जामंत्री बनाने की तैयार कर ली गई है। James Richard Rick Perry का नाम इस मंत्रालय के लिए पेश किया जा चुका है। रिकपैरी आरंभ में ऊर्जामंत्रालय के समाप्त किये जाने के पक्षधर रहे हैं। वे पहले ही कह चुके हैं कि यदि वे वाइट हाउस पहुंचने में सफल हो जाते हैं तो पहली फुरसत में जेसीपीओए को निरस्त करने के लिए कार्यक्रम बनाऊंगा।
सीआईए डायरेक्टरः Mike Pampyv सन 2011 से अमेरीकी प्रतिनिधि सभा के सदस्य रहे हैं। माइक पांपे भी प्रस्तावित मंत्रीमंडल के अन्य सदस्यों की ही भांति ईरानी विरोधी विचारधारा के स्वामी हैं। हांलाकि वे ईरान यात्रा के लिए निवेदन कर चुके हैं जिसे ईरान की ओर ठुकरा दिया गया। उन्होंने सीनेट की बैठक में कहा था कि नक़ल करने में ईरानी बहुत पेशेवर हैं।
राष्ट्रसघ में अमेरीकी प्रतिनिधिः संयुक्त राष्ट्रसंघ में अमेरीका के प्रतनिधि के रूप में Nikki Haley का नाम पेश किया गया है। 45 वर्षीय निकी हैली वर्तमान समय में दक्षिणी केरोलिना की राज्यपाल हैं। वे इस्राईल समर्थक और ईरानी विरोधी बताई जाती हैं। उन्होंने सीनेटर की बैठक में सुरक्षा परिषद की ओर से ज़ायोनी शासन द्वारा अवैध कालोनी निर्माण के विरुद्ध प्रस्ताव की कड़ी आलोचना की थी। उन्होंने राष्ट्रसंघ को इस्राईल विरोधी बताया था।
उप राष्ट्रपतिः अमेरीका के उप राष्ट्रपति के रूप में Michael Richard Mike Pence का निर्धारण तो काफ़ी पहले हो चुका है। उन्होंने शुक्रवार को अमेरीकी उप राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की थी। वे क़ज़रवेटिव या संरक्षणवादी बताए जाते हैं। माइक पेंस, अमेरीकी नीतियों के कटु आलोचक रहे हैं।
...................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ज़ायोनी युद्ध मंत्री लिबरमैन का इस्तीफ़ा, ग़ज़्ज़ा की राजनैतिक जीत : हमास अमेरिका की चीन को धमकी, हमारी मांगे नहीं मानी तो शीत युद्ध के लिए रहो तैयार देश को मुश्किलों से उभारना है तो राष्ट्रीय क्षमताओं का सही उपयोग करना होगा : आयतुल्लाह ख़ामेनई अय्याश सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान है ग़ज़्ज़ा पर वहशियाना हमलों का मास्टर माइंड : मिडिल ईस्ट आई आईएसआईएस के चंगुल से छुड़ाए गए लोगों से मिले राष्ट्रपति बश्शार असद ग़ज़्ज़ा में हार से निराश इस्राईल के युद्ध मंत्री ने दिया इस्तीफ़ा ज़ायोनी मीडिया ने माना, तल अवीव हार गया, हमास अपने उद्देश्यों में सफल क़तर का बड़ा क़दम, ईरान और दमिश्क़ समेत 5 देशों का गठबंधन बनाने की पेशकश एमनेस्टी इंटरनेशनल ने आंग सान सू ची से सर्वोच्च सम्मान वापस लिया ईरान की सैन्य क्षमता को रोकने में असफल रहेंगे अमेरिकी प्रतिबंध : एडमिरल हुसैन ख़ानज़ादी फिलिस्तीन, ज़ायोनी हमलों में 15 शहीद, 30 से अधिक घायल ग़ज़्ज़ा में हार से बौखलाए ज़ायोनी राष्ट्र ने हिज़्बुल्लाह को दी हमले की धमकी आले सऊद ने अब ट्यूनेशिया में स्थित सऊदी दूतावास में पत्रकार को बंदी बनाया मैक्रॉन पर ट्रम्प का कड़ा कटाक्ष, हम न होते तो पेरिस में जर्मनी सीखते फ़्रांस वासी इस्राईल शांति चाहता है तो युद्ध मंत्री लिबरमैन को तत्काल बर्खास्त करे : हमास