Thursday - 2018 July 19
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185236
Date of publication : 25/1/2017 9:46
Hit : 109

इस्राईल के परमाणु हथियार पूरी दुनिया की सुरक्षा के लिए गम्भीर खतरा हैं।

परमाणु हथियारों के निरस्त्रीकरण के संबंध में जापान के नागासकी नगर में जो अंतरराष्ट्रीय बैठक हुई है उसमें ईरानी प्रतिनिधि ने घोषणा की है कि जायोनी शासन के पास सैकड़ों परमाणु वार हेड्स हैं जिससे क्षेत्र के अलावा विश्व की सुरक्षा को गम्भीर खतरा है।

विलायत पोर्टलः
परमाणु हथियारों के निरस्त्रीकरण के संबंध में जापान के नागासकी नगर में जो अंतरराष्ट्रीय बैठक हुई है उसमें ईरानी प्रतिनिधि ने घोषणा की है कि जायोनी शासन के पास सैकड़ों परमाणु वार हेड्स हैं जिससे क्षेत्र के अलावा विश्व की सुरक्षा को गम्भीर खतरा है। मोहम्मद हसन दरियाई ने इस ख़तरे का वर्णन करते हुए कहा कि विश्व वासियों को चाहिये कि इस्राईल पर दबाव डालकर परमाणु हथियार रहित मध्यपूर्व बनाने में वे अपने दायित्व का निर्वाह करें और इस महत्वपूर्ण कार्य को व्यवहारिक बनाने में मदद करें। क्योंकि जायोनी शासन के परमाणु कार्यक्रमों को लेकर अंतरराष्ट्रीय समाज में गम्भीर चिंता पाइ जाती है। उन्होंने स्पष्ट किया कि परमाणु हथियारों से सम्पन्न देश इस संबंध में अपने वचनों के प्रति कटिबद्ध नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि खेद के साथ कहना पड़ता है कि इन देशों ने परमाणु हथियारों के निरस्त्रीकरण की दिशा में कोई गम्भीर कार्य अंजाम नहीं दिया है और नागासाकी और हीरोशीमा की कटु घटना से पाठ नहीं लिया है। उल्लेखनीय है कि द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम दिनों में अमेरिका ने सबसे पहले जापान के हीरोशीमा नगर पर परमाणु बम मारा था जिसके आरंभ में ही लगभग एक लाख निर्दोष महिला और पुरुष हताहत व घायल हो गये और पूरा शहर बर्बाद हो गया और आज भी हीरोशीमा में अपंग बच्चे पैदा होते हैं और उस नगर के लोगों को विभिन्न प्रकार की बीमारियों का सामना है। हीरोशीमा पर परमाणु बमबारी के तीन दिन बाद अमेरिका ने जापान के नागासाकी नगर पर भी परमाणु बम मारा। इसके बावजूद अमेरिका परमाणु हथियारों के आधुनिकीकरण और उन्हें छोटा बनाये जाने पर आग्रह कर रहा है। बहरहाल मध्यपूर्व में केवल जायोनी शासन है जिसके पास परमाणु हथियार मौजूद हैं और वह सदैव परमाणु हथियार अप्रसार संधि एनपीटी पर हस्ताक्षर करने से आना- कानी करता है। प्राप्त विभिन्न आंकड़ों के अनुसार जायोनी शासन के पास लगभग 300 परमाणु वार हेड्स हैं और वह अपने अतिग्रहण के कारण न केवल मध्यपूर्व में संकट का कारण और क्षेत्र में शांति की स्थापना की दिशा की रुकावट है बल्कि उसने अपनी युद्धोन्मादी नीति विशेषकर परमाणु हथियारों का निर्माण करके व्यवहारिक रूप से मध्यपूर्व और विश्व की सुरक्षा को खतरे में डाल दिया है।
....................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :