Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185443
Date of publication : 2/2/2017 19:47
Hit : 247

जनवरी 2017 में अब तक ३८२ इराकी नागरिक आतंक की भेंट चढ़ चुके हैं।

इराक में संयुक्त राष्ट्र सहायता केंद्र ने कहा है की जनवरी 2017 में अब तक ३८२ इराकियों को आतंकवादी हमलों में अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है तथा ९०८ लोग घायल हुए हैं


विलायत पोर्टलः इराक में संयुक्त राष्ट्र सहायता केंद्र ने कहा है की जनवरी 2017 में अब तक ३८२ इराकियों को आतंकवादी हमलों में अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है तथा ९०८ लोग घायल हुए हैं।
यूएनएएमआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि इन आंकड़ों में इराकी फोर्सेज़ से जुड़े लोग शामिल नहीं हैं इसी तरह अल अंबार प्रान्त के आंकड़े भी इस रिपोर्ट में नहीं है क्योंकि अस्थिरता के कारण वहां आंकड़े जुटाए नहीं जा सके।
इराक़ में संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत जान कोबीस ने कहा कि दुख की बात है कि दाइश और आतंवादी गुटों की नीति बाज़ारो और भीड़भाड़ वाली जगहों पर बम ब्लास्ट कर के बच्चों और औरतों सहित आम नागरिकों की जान लेना है लेकिन फिर भी दाइश इराकी लोगों को इराकी सुरक्षाबलों की ओर से निराश और हताश करने के अपने उद्देश्य में असफल है।
दूसरी ओर उत्तरी बग़दाद के एक उपनगर में होने वाले ब्लास्ट में ५ घायल और एक नागरिक के मारे जाने की खबर है दक्षिण पूर्वी बग़दाद में भी एक बम धमाके में १ मौत और ४ लोगों के घायल होने की खबर है।
ज्ञात रहे जून २०१४ से ही आतंकवादी गतिविधियों के कारण इराक में हिंसा का दौर जारी है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची