Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185515
Date of publication : 6/2/2017 16:46
Hit : 236

जानिए, किसने जड़ा अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प के मुंह पर तमांचा।

वह हैं उत्तर पश्चिमी अमेरिका के वाशिंगटन प्रान्त के सीएटल शहर के अटार्नी जनरल जेम्स रॉबर्ट, ट्रम्प ही की रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य, दुनिया के लिए गुमनाम लेकिन पूरे अमेरिका में पहचाने जाने वाला चेहरा......


विलायत पोर्टलः जिसने ट्रम्प प्रशासन को अस्थायी रूप से ही सही लेकिन झुकने के लिए मजबूर कर दिया। जिसने ट्रम्प के मुस्लिम विरोधी अध्यादेश को रद्द कर दिया, कौन है वह इंसान?
वह हैं उत्तर पश्चिमी अमेरिका के वाशिंगटन प्रान्त के सीएटल शहर के अटार्नी जनरल जेम्स रॉबर्ट, ट्रम्प ही की रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य, दुनिया के लिए गुमनाम लेकिन पूरे अमेरिका में पहचाने जाने वाला चेहरा। जब २००४ में जॉर्ज बुश ने उन्हें संघीय अदालत का न्यायधीश नियुक्त किया तो सिनेट ने उन्हें नियमों का पक्का तथा नव युवकों और अल्पसंख्यकों के अधिकारो का रखवाला बताया था।
जेम्स रोबर्ट अपने कैरियर के आरम्भ में एक लॉ फर्म से जुड़े थे और बाल अधिकार के लिए काम करने वाली कई संस्थाओं के सहयोगी थे। सीएनएन ने एक प्रोग्राम में बताया था कि रोबर्ट अक्सर ही अपनी फर्म से बिना कोई फीस लिए ग़रीबों, एशिया और दक्षिण पूर्वी शरणार्थियों के लिए केस लड़ते रहे हैं। लेकिन उनकी लोकप्रियता अगस्त २०१६ में उस समय चरम पर पहुँच गयी जब उन्होंने एक अदालती सुनवाई के दौरान पुलिस के खिलाफ अश्वेत आंदोलन के मुख्य नारे कालों का जीवन भी महत्वपूर्ण है, को रेकॉउंट किया।
इस सुनवाई में वह पुलिस द्वारा अत्यधिक बल प्रयोग पर फैसला देने वाले थे। आर्डर से पहले मिले खाली समय में पुलिस द्वारा मारे गए अश्वेत नागरिकों के वह आंकड़े पढ़ रहे थे जिसे एफबीआई ने जुटाए थे जिन्हें पढ़कर रोबर्ट इतना दुखी हुए कि चिल्ला उठे अश्वेतों का जीवन मूल्यवान है।
खैर रोबर्ट ने ट्रम्प के सात मुस्लिम मुल्कों पर लगाए बैन को रद्द करके ट्रम्प के मुंह पर करारा तमांचा लगाया है एकबार फिर साबित कर दिया है कि वह अल्पसंख्यकों के अधिकारों के समर्थक है जिसका उन्होंने सीनेट के सामने हलफ उठाया था।
उन्होंने २१ जून २००४ में अपनी नियुक्ति से पहले कहा था कि मैं समझता हूँ कि मेरे पास चांस है कि सीनेट मेरे पक्ष में फैसला ले। मैं इस मीटिंग के अनुभव से फायदा उठाऊँगा ताकि साबित हो जाये कि सबके साथ गरिमा और सम्मान के साथ व्यवहार किया जाना चाहिए। मैं यह काम इस तरह करूँगा कि अदालत परिसर मैं उपस्थित हर आदमी को लगे कि फैसला न्यायपूर्वक हुआ है। 



आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

दक्षिण कोरिया ने आंग सान सू ची से ग्वांगजू पुरस्कार वापस लेने का फैसला किया । सूडान ने इस्राईल के अरमानों पर पानी फेरा, संबंध सामान्य करने से किया इंकार । हज़रत फ़ातिमा मासूमा स.अ. सऊदी अरब का अमेरिका को कड़ा संदेश, हमारे मामले में मुंह बंद रखे सीनेट । इदलिब की आज़ादी प्राथमिकता, अतिक्रमणकारियों को सीरिया से भागना ही होगा : दमिश्क़ हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स की मांग, अमेरिका से राजनैतिक संबद्धता कम करे इंग्लैंड। अवैध राष्ट्र ने लगाई गुहार, लेबनान सेना पर दबाव बनाए अमेरिका । अमेरिकी गठबंधन आतंकी संगठनों की मदद से सीरिया के तेल संपदा को लूटने में व्यस्त । मासूमा ए क़ुम स.अ. की शहादत के शोक में डूबा ईरान, क़ुम समेत देश भर में मातम । अमेरिका ने स्वीकारा, असद को पदमुक्त करना उद्देश्य नहीं । सिर्फ दो साल, और साठ हज़ार लोगों की जान ले चुका है यमन संकट । हमास ने दिया इस्राईल को गहरा झटका, पकडे गए ड्रोन विमानों का क्लोन बनाया । आले सऊद की काली करतूत, क़तर पर हमला कर हड़पने की साज़िश का भंडाफोड़ । रूस मामलों में पोम्पियो की कोई हैसियत नहीं, अमेरिका की विदेश नीति का भार जॉन बोल्टन के कंधों पर : लावरोफ़ सऊदी अरब की सैन्य टुकड़ियां हैं आईएसआईएस और नुस्राह फ्रंट ।