Wed - 2018 April 25
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 186245
Date of publication : 16/3/2017 19:36
Hit : 190

बहरैन संकट पर संयुक्त राष्ट्र की चुप्पी चिंता जनक है : ह्यूमन राइट्स वॉच

बहरैन हयूमन राइट्स वॉच ने देश के मुख्य विपक्षी दल अल विफ़ाक़ को भंग किये जाने के मामले में संयुक्त राष्ट्र से हस्तक्षेप की मांग करते हुए राजनैतिक बन्दियों से दुर्व्यवहार और आम नागरिकों पर सैन्य अदालतों में मुक़दमे चलाये जाने पर चिंता व्यक्त की है ।


विलायत पोर्टल :
हयूमन राइट्स वॉच ने बहरैन संकट पर संयुक्त राष्ट्र की चुप्पी पर गहरी चिंता जताई है । हयूमन राइट्स वॉच ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि २०१६ के अंतिम ६ महीनों में बहरैन की स्थिति और विकट हुए है । शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर बलप्रयोग तथा अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता के खिलाफ तानाशाही शासन ने क्रूर क़दम उठाये हैं । इस बयान में संयुक्त राष्ट्र से बहरैन मामले में शीघ्र हस्तक्षेप का आग्रह किया गया है । बहरैन हयूमन राइट्स वॉच ने देश के मुख्य विपक्षी दल अल विफ़ाक़ को भंग किये जाने के मामले में संयुक्त राष्ट्र से हस्तक्षेप की मांग करते हुए राजनैतिक बन्दियों से दुर्व्यवहार और आम नागरिकों पर सैन्य अदालतों में मुक़दमे चलाये जाने पर चिंता व्यक्त की है । हयूमन राइट्स वॉच ने मानवाधिकार कार्यकर्ता रजब नबील की गिरफ्तारी का मुद्दा उठाते हुए उनकी रिहाई की मांग की उनके अनुसार उन्हे बहरैन तानाशाही के अपराधों का विरोध करने के जुर्म में बन्दी बनाया गया है ।
..............
प्रेस टीवी


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :