Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 188883
Date of publication : 6/8/2017 17:57
Hit : 202

जापान ने हिरोशिमा पर परमाणु हमले की ७२ वीं वर्षगांठ मनाई ।

हिरोशिमा में घटना स्थल के निकट बने एटमी डॉम में आयोजित इस समरोह में भाग ले रहे जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि जिस तरह विश्व जगत चाहे जापान हथियार मुक्त विश्व के लिए सहयोग करने को तैयार है ।

विलायत पोर्टल :
प्राप्त जानकारी के अनुसार जापान ने रविवार को पहले परमाणु हमले की भेंट चढ़ने वाले अपने नागरिकों की 72 वीं वर्षगांठ मनाई । ज्ञात रहे की हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ में 120 देशों ने NTP पर दस्तखत किये हैं लेकिन अवैध राष्ट्र तथ अमेरिका समेत परमाणु संपन्न देशों ने इस समझौते पर हस्ताक्षर करने से मना कर दिया है । ज्ञात रहे कि अमेरिका अब तक का इकलौता देश है जिस ने परमाणु बम का इस्तेमाल किया है । हिरोशिमा में घटना स्थल के निकट बने एटमी डॉम में आयोजित इस समरोह में भाग ले रहे जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि जिस तरह विश्व जगत चाहे जापान हथियार मुक्त विश्व के लिए सहयोग करने को तैयार है । हालाँकि जापान ने भी गत महीने परमाणु संपन्न देशों की तरह संयुक्त राष्ट्र के इस प्रस्ताव अर्थात NTP पर हस्ताक्षर करने से मना कर दिया था । आज से ७२ साल पहले ६ अगस्त १९४५ को सुबह ८:१५ मिनट पर अमेरिका ने जापान के हिरोशिमा शहर पर पहला और अब तक का अंतिम परमाणु हमला किया था ।
....................
  तसनीम


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का सम्मान करते हैं लेकिन इस्राईल की नकेल कसो : लेबनान दक्षिण कोरिया ने आंग सान सू ची से ग्वांगजू पुरस्कार वापस लेने का फैसला किया । सूडान ने इस्राईल के अरमानों पर पानी फेरा, संबंध सामान्य करने से किया इंकार । हज़रत फ़ातिमा मासूमा स.अ. सऊदी अरब का अमेरिका को कड़ा संदेश, हमारे मामले में मुंह बंद रखे सीनेट । इदलिब की आज़ादी प्राथमिकता, अतिक्रमणकारियों को सीरिया से भागना ही होगा : दमिश्क़ हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स की मांग, अमेरिका से राजनैतिक संबद्धता कम करे इंग्लैंड। अवैध राष्ट्र ने लगाई गुहार, लेबनान सेना पर दबाव बनाए अमेरिका । अमेरिकी गठबंधन आतंकी संगठनों की मदद से सीरिया के तेल संपदा को लूटने में व्यस्त । मासूमा ए क़ुम स.अ. की शहादत के शोक में डूबा ईरान, क़ुम समेत देश भर में मातम । अमेरिका ने स्वीकारा, असद को पदमुक्त करना उद्देश्य नहीं । सिर्फ दो साल, और साठ हज़ार लोगों की जान ले चुका है यमन संकट । हमास ने दिया इस्राईल को गहरा झटका, पकडे गए ड्रोन विमानों का क्लोन बनाया । आले सऊद की काली करतूत, क़तर पर हमला कर हड़पने की साज़िश का भंडाफोड़ । रूस मामलों में पोम्पियो की कोई हैसियत नहीं, अमेरिका की विदेश नीति का भार जॉन बोल्टन के कंधों पर : लावरोफ़