Thursday - 2018 July 19
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190081
Date of publication : 18/10/2017 19:30
Hit : 461

क़ुर्आन मजीद की बरकत से टली फांसी की सजा ।

27 वर्षीय मोहम्मद रज़ा सालेहियान के हाथों दो साल पहले हुए एक झगडे में 54 वर्षीय असदुल्लाह शफ़ीई की मौत हो गई थी, जिस के बाद अदालत ने मामले की सुनवाई करते हुए आरोपी को मौत की सजा सुनाई थी ।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार ईरान के कुर्द शहर में एक युवक जिसे अदालत ने फांसी की सजा सुनाई थी और उसकी सजा पर अमल होने वाला था तभी यह युवक आश्चर्यजनक रूप से क़ुर्आन मजीद की बरकतों से फांसी की सजा से बच गया । सूत्रों के अनुसार 27 वर्षीय मोहम्मद रज़ा सालेहियान के हाथों दो साल पहले हुए एक झगडे में 54 वर्षीय असदुल्लाह शफ़ीई की मौत हो गई थी, जिस के बाद अदालत ने मामले की सुनवाई करते हुए आरोपी को मौत की सजा सुनाई थी । मौत की सजा पर अमल करने के लिए न्यायालाय के दो आदमी और मरने वाले के वारिसों में से माँ और भाई भी उपस्थित हुए जहाँ आपसी बातचीत के बाद मरने वाले के परिवार वालों ने कहा कि अगर अपराधी मोहम्मद रज़ा सालेहियान 3 महीने में क़ुर्आन मजीद के कुछ भाग को हिफ़्ज़ कर लेता है और अपने बर्ताव और आचरण में सुधार करता है तो मरने वाले का परिवार उसे माफ़ करने के लिए तैयार है ।
................
   इरना


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :