Thursday - 2018 July 19
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190100
Date of publication : 19/10/2017 16:48
Hit : 867

नसरुल्लाह के बयान के बाद ज़ायोनी नेता ने स्वीकारा, अवैध राष्ट्र इस्राईल का अंत निकट ।

कुछ दिन पहले ही प्रतिरोधी आंदोलन हिज़्बुल्लाह प्रमुख ने कहा था कि ज़ायोनी नेता क्षेत्र में जंग की आग भड़काना चाहते हैं, हम अवैध राष्ट्र में आकर बसने वाले लोगों से अपील करते हैं कि वह अपने अपने देश पलट जाएँ क्योंकि युद्ध की अवस्था में उन्हें भागने का अवसर नहीं मिलेगा और अवैध राष्ट्र के किसी भाग में भी शांति नहीं रहेगी।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार ज़ायोनी नेता नेतन्याहू ने एक धार्मिक समारोह में इस बात को स्वीकार किया है कि आज अवैध राष्ट्र इस्राईल अपने पतन के कगार पर खड़ा है, हमारी सारी कोशिश यह है कि हम किसी भी तरह अगले 20 साल तक और इस देश को बचाएं रखे और अपने गठन के 100 वर्ष पूरे कर सकें । 2006 में जब नेतन्याहू विपक्ष में थे तब हिज़्बुल्लाह के साथ जंग में उन्होंने विपक्षी नेता की हैसियत से भी ऐसी बात की थी जिसे अधिक महत्त्व नहीं दिया गया था, लेकिन आज जब वह देश के सबसे शक्तिशाली नेता हैं और देश की सत्ता उनके अधीन है उनकी यह बाते बहुत गंभीर मानी जा रही हैं । नेतन्याहू ने 200 ईसा पूर्व रोम साम्राज्य के हाथों नष्ट हुए मनगंढत यहूदी साम्राज्य की बातें करते हुए कहा कि हाश्मोनियाइम ने अपने 80 वर्ष पूरे किये थे, हमारी कोशिश है कि हम उस से 20 साल अधिक तक टिके रहें हमारा प्रयास है कि हम देश के गठन के 100 वर्ष पूरे कर सकें । अवैध राष्ट्र 2010 में सीरिया, इराक और क्षेत्रीय मुस्लिम देशों में उत्पन्न संकट के समय चिंता मुक्त रहा लेकिन आज 2017 में प्रतिरोधी आंदोलन समेत ज़ायोनी देश के मित्रों में भी उसके अंतिम समय की बातें होने लगी हैं । इस खबर के मीडिया में आने पर ज़ायोनी नेता के दफ्तर की ओर से इन ख़बरों का खंडन नहीं किया गया है बल्कि कहा गया है कि ज़ायोनी नेता अधिकांश समय देश की सुरक्षा और शांति व्यवस्था की चिंता मे ड़ूबे रहते हैं। ज्ञात रहे कि नेतन्याहू का यह भाषण ऐसे समय में आया है जब कुछ दिन पहले ही प्रतिरोधी आंदोलन हिज़्बुल्लाह प्रमुख ने कहा था कि ज़ायोनी नेता क्षेत्र में जंग की आग भड़काना चाहते हैं, हम अवैध राष्ट्र में आकर बसने वाले लोगों से अपील करते हैं कि वह अपने अपने देश पलट जाएँ क्योंकि युद्ध की अवस्था में उन्हें भागने का अवसर नहीं मिलेगा और अवैध राष्ट्र के किसी भाग में भी शांति नहीं रहेगी।
.........................
 आख़ेरीन ख़बर


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :