Thursday - 2018 Sep 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190458
Date of publication : 14/11/2017 18:2
Hit : 560

हिज़्बुल्लाह और यमन के बाद सअद हरीरी भी बने आले सऊद के गले की फांस ।

यमन की मिसाइल क्षमता से घबराये सऊदी अरब का कहना है कि हरीरी के साथ हमारी समस्या आंतरिक है लेकिन हम लेबनान विशेष तौर पर हिज़्बुल्लाह से चाहते हैं कि वह क्षेत्र { यमन } में हस्तक्षेप न करने का वचन दे । सऊदी अधिकारियों का कहना है कि यमन की रियाज़ तक मार कर सकने वाली मिसाइल क्षमता के पीछे सिर्फ और सिर्फ हिज़्बुल्लाह है ।


विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार आले सऊद को एक बार फिर अपनी मानवता विरोधी नीतियों में शर्मानक पराजय के साथ ज़िल्लत उठाना पड़ रही है । अलमुस्तक़बिल टीवी को दिए सअद हरीरी के इंटरव्यू के बाद आले सऊद को लेने के देने पड़ गए हैं । इस इंटरव्यू ने यह बात साबित कर दी है कि लेबनानी प्रधानमंत्री खुद को बंदी महसूस कर रहे हैं जिसने लेबनानी जनता के आक्रोश को कम करने के बदले और बढ़ा दिया, साथ ही सअद हरीरी से आले सऊद को और अधिक चिड़ा दिया है । आले सऊद इस इंटरव्यू के द्वारा हरीरी को वापस लेबनान लाने के राष्ट्रपति मिशाल औन के प्रयासों को नाकाम करना चाहते थे लेकिन इस इंटरव्यू में सअद हरीरी की बॉडी लैंग्वेज ने आले सऊद के अरमानों पर पानी फेर दिया । हरीरी संकट को लेकर किये जा रहे तमाम प्रयासों के बाद यह खबर भी आ रही है कि सऊदी अरब हरीरी के बदले एक अमानवीय मामला करना चाह रहा है और वह मामला यमन संकट से जुड़ा हुआ है । यमन की मिसाइल क्षमता से घबराये सऊदी अरब का कहना है कि हरीरी के साथ हमारी समस्या आंतरिक है लेकिन हम लेबनान विशेष तौर पर हिज़्बुल्लाह से चाहते हैं कि वह क्षेत्र { यमन } में हस्तक्षेप न करने का वचन दे । सऊदी अधिकारियों का कहना है कि यमन की रियाज़ तक मार कर सकने वाली मिसाइल क्षमता के पीछे सिर्फ और सिर्फ हिज़्बुल्लाह है । आले सऊद चाहते हैं कि हरीरी क्षेत्र में हिज़्बुल्लाह की रणनीति को बदलें और उसे यमन से अपने सलाहकार और विशेषज्ञों को वापस बुलाने पर मजबूर करे,और अंसारुल्लाह को यमन और अन्य स्थानों पर मिलने वाली सैन्य तथा हर प्रकार की सहायता को रोके।
...........................
तसनीम


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :