Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190580
Date of publication : 23/11/2017 16:50
Hit : 731

युद्ध हुआ तो इस्राईल का नामो निशान मिट जायेगा : मेजर जनरल जाफरी

वह 2006 में हुए 33 दिवसीय युद्ध में प्रतिरोधी आंदोलन की आंशिक शक्ति का प्रदर्शन देख चुका है और अब तो यह आंदोलन बहुत विशाल हो चुका है । यह आंदोलनकारी शक्तियां एक दूसरे से जुडी हुई हैं, अगर इस्राईल किसी एक पर भी हमला करने की भूल करता है तो बाक़ी स्वंयसेवी संगठन अवैध राष्ट्र के विरुद्ध मोर्चा खोल देंगे ।


विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार ईरान रिवॉल्यूशनरी गार्ड आईआरजीसी बल के चीफ कमांडर मेजर जनरल मोहम्मद अली जाफरी ने क्षेत्र के घटनाक्रम पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा कि स्वंयसेवी बल ईरान तथा क्षेत्र की जनता के प्रतिरोध का प्रतीक हैं । उन्होंने कहा कि क्षेत्र में मिली सफलताओं का सेहरा भी स्वंयसेवी बलों के सर सजता है, अगर आज लेबनान इस्राईली अतिक्रमण के मुक़ाबले में टिका हुआ है तो इसका श्रेय स्वंयसेवी संगठन हिज़्बुल्लाह को जाता है अगर सीरिया में स्वंयसेवी न होते तो यह देश कई टुकड़ों में बाँट चुका होता । उन्होंने ईरान की इस्लामी क्रांति तथा ईरान के प्रति सऊदी अरब के शत्रुतापूर्ण व्यवहार की बात करते हुए कहा कि इस्लामी क्रांति का मूल सिद्धांत यह है कि लोगों को अपने निर्णय लेना का अधिकार होना चाहिए, यही कारण है कि आज साम्राज्यवादी शक्तियां इस क्रांति और इंक़ेलाब को सहन नहीं कर पा रही हैं और खेद के साथ कहना पड़ता है कि सऊदी अरब भी उसी दल का सदस्य है, इसलिए वह इस्लामी क्रांति का कट्टर विरोधी है। उसके और ज़ायोनी देश के संबंध भी किसी से छुपे हुए नहीं है, लेकिन हमारा सिद्धांत है कि हमें साम्राज्यवादी शक्तियों के एजेंटों से नहीं बल्कि खुद साम्राज्यवादी शक्तियों , अमेरिका और अवैध राष्ट्र से टकराना है । मेजर जनरल जाफरी ने कहा कि हम जो यह कहते हैं कि क्षेत्र मे कोई भी युद्ध हुआ तो अवैध राष्ट्र का नामो निशान मिट जायेगा यह बात स्पष्ट सुबूतों के साथ साबित हो चुकी है और हमारे शत्रु को इस बात का आभास है । वह 2006 में हुए 33 दिवसीय युद्ध में प्रतिरोधी आंदोलन की आंशिक शक्ति का प्रदर्शन देख चुका है और अब तो यह आंदोलन बहुत विशाल हो चुका है । यह आंदोलनकारी शक्तियां एक दूसरे से जुडी हुई हैं, अगर इस्राईल किसी एक पर भी हमला करने की भूल करता है तो बाक़ी स्वंयसेवी संगठन अवैध राष्ट्र के विरुद्ध मोर्चा खोल देंगे ।
..................
फ़ार्स न्यूज़


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई