Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190657
Date of publication : 30/11/2017 15:6
Hit : 558

सरदार क़ासिम सुलेमानी, वह शेर मर्द जिसने अवैध राष्ट्र इस्राईल को उलझा कर रख दिया : अब्दुल बारी अतवान

..........लेकिन जहाँ तक सरदार क़ासिम सुलेमानी के विरुद्ध षड्यंत्र रचने की बात है तो अवैध राष्ट्र से इस के अलावा कोई और अपेक्षा भी नहीं की सकती क्योंकि इस शेर मर्द ने अवैध राष्ट्र को देश विदेश हर जगह उलझा कर रख दिया है, उन्होंने हश्दुश शअबी को एक सुसज्जित प्रशिक्षित सैन्य संगठन के रूप में ढ़ाल दिया है, इराक के कुर्दिस्तान में अवैध राष्ट्र के सहयोगियों को संकट में ड़ाल दिया है ।


विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार अरब जगत के प्रख्यात पत्रकार और विश्लेषक अब्दुल बारी अतवान ने अपने लेख में ईरान के विरुद्ध अवैध राष्ट्र की दो धमकियों का उल्लेख करते हुए लिखा है कि ईरान के आईआरजीसी बल की क़ुद्स ब्रिगेड के कमांडर सरदार क़ासिम सुलेमानी ने अवैध राष्ट्र को तिगनी का नाच नचा दिया है । अतवान के अनुसार ईरान के विरुद्ध अवैध राष्ट्र ने दो धमकियाँ दी हैं लेकिन वह उन दोनों पर ही एक्शन लेने की क्षमता नहीं रखता । पहले धमकी में अवैध राष्ट्र ने कहा कि अगर सीरिया ईरान को अपने यहाँ सैन्य अड्डे स्थापित करने की आज्ञा देता है तो वह सीरिया पर बमबारी कर देगा, वहीँ दूसरी धमकी में एक ज़ायोनी जनरल ने कहा है कि इस्राईली ख़ुफ़िया एजेंसी सरदार क़ासिम सुलेमानी की हत्या की योजना बना रही है । सीरिया में ईरान के सैन्य अड्डे की बात रही तो बश्शार असद अवैध राष्ट्र की धमकियों को कोई महत्त्व नहीं देंगे क्योंकि तेहरान और दमिश्क़ के बीच मज़बूत स्ट्रैटजिक संबंध हैं। पिछले सात साल से ईरान के सैन्य कमांडर और सैंकड़ों जवान सीरिया की रक्षा के लिए उपस्थित हैं तथा ईरान ने इस युद्ध में अपने सैंकड़ों सेना नायकों की शहादत दी है, वहीँ सीरिया के आर्थिक ढांचे को बनाये रखने के लिए भी अरबों डॉलर का निवेश किया है और दोनों ही मोर्चों पर उसने सफलता प्राप्त की है। अगर ईरान सीरिया में सैन्य अड्डे स्थापित करना भी चाहे तो उसका खुले दिल से स्वागत किया जायेगा जैसे हमीमीम एयरबेस पर रूसी सैन्य अड्डे के बारे में पहले भी देखा जा चुका है, और खुद रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोफ़ कह चुके हैं कि सीरिया में ईरान की उपस्थिति संवैधानिक और इस देश की निर्वाचित सरकार के अनुमति के बाद है । लेकिन जहाँ तक सरदार क़ासिम सुलेमानी के विरुद्ध षड्यंत्र रचने की बात है तो अवैध राष्ट्र से इस के अलावा कोई और अपेक्षा भी नहीं की सकती क्योंकि इस शेर मर्द ने अवैध राष्ट्र को देश विदेश हर जगह उलझा कर रख दिया है, उन्होंने हश्दुश शअबी को एक सुसज्जित प्रशिक्षित सैन्य संगठन के रूप में ढ़ाल दिया है, इराक के कुर्दिस्तान में अवैध राष्ट्र के सहयोगियों को संकट में ड़ाल दिया है । ईरान और उससे संबंधित बहादुर और विशिष्ट लोगों की हत्या करना खुद अवैध राष्ट्र की छवि को और धूमिल करेगा, अवैध राष्ट्र ने इस क्रम में सिर्फ ईरान को ही निशाना नहीं बनाया है बल्कि विश्व भर में इस देश के दूतावास और वाणिज्य दूतावास हत्या और षड्यंत्र का अड्डा बन चुके हैं, अवैध राष्ट्र इस्राईल, फिलिस्तीन , इराक लेबनान समेत कई देशों मे हत्याओं का घिनौना खेल खेलता रहा है ।
....................
अलआलम


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

यूरोप ईरान के साथ वैज्ञानिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने को उत्सुक : जर्मनी अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह