Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190724
Date of publication : 4/12/2017 16:46
Hit : 636

अरब देशों ने संकट में साथ छोड़ा, ईरान ने हर मुश्किल में निभाया साथ : इब्राहीम जाफरी

सद्दाम सरकार के पतन के समय भी जब अधिकांश अरब देशों ने संकट की घड़ी में हमारा साथ छोड़ दिया था तब भी इराकी जनता के लिए ईरान ने अपनी सरहदें खोल दी थी और हमें यह स्वीकार करने में कोई शर्मिंदगी नहीं है।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार इराक के विदेश मंत्री इब्राहीम जाफरी ने ईरान की प्रशंसा करते हुए कहा कि हम ईरान के विरुद्ध किसी गठबंधन का भाग नहीं बन सकते । जब अरब देश हमें संकट की घडी में छोड़ चुके थे उस समय भी ईरान ने हमारे लिए अपने दरवाज़े खुले रखे । उन्होंने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि न चाहते हुए भी इराक को ईरान का सहयोगी और भागीदार समझा जाता है, हमें क्या करना होगा जो साबित हो सके कि हम सबके साथ सहयोग करने के लिए तैयार हैं । ईरान एक शक्तिशाली और प्रभावशाली देश है उसने हर संकट में हमारा सहयोग किया है, हालाँकि बहुत से इराकी ईरान में पनाह लिए हुए थे लेकिन सद्दाम सरकार के पतन के समय भी जब अधिकांश अरब देशों ने संकट की घड़ी में हमारा साथ छोड़ दिया था तब भी इराकी जनता के लिए ईरान ने अपनी सरहदें खोल दी थी और हमें यह स्वीकार करने में कोई शर्मिंदगी नहीं है।
............................
आख़ेरीन ख़बर


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....