Tuesday - 2018 May 22
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 191431
Date of publication : 8/1/2018 18:2
Hit : 456

सत्ताधिकारी जनता की समस्याएं सुलझाएं , अमेरिका हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकता : आयतुल्लाह ख़ामेनई

सुप्रीम लीडर ने कह कि वह लोग कहते हैं कि ईरान अमेरिका की शक्ति से डरता है तो हम जवाब में सिर्फ इतना कहेंगे कि अगर हम तुमसे डरते तो तुम्हे अपने देश से कैसे मार भगाया ? और अब तो सिर्फ देश से ही नहीं हमने अमेरिका को इस क्षेत्र से भी ज़लील होकर भागने पर मजबूर कर दिया ।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार आज ईरान के पवित्र नगर क़ुम के लोगों ने इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई से भेंट की ।
आयतुल्लाह ख़ामेनई ने क़ुम के लोगों की सराहना करते हुए कहा कि ईरानी समाज पिछले 40 सालों से न किसी की धौंस में आया है न किसी के सामने झुका है बल्कि हिम्मत और बहादुरी से साम्राज्यवादी शक्तियों के मुक़ाबले में डटा हुआ है । उन्होंने देश की हालिया घटनाओं की ओर इशारा करते हुए कहा कि हमारे देश की जनता जागरूक है जब उन्होंने दुश्मन शक्तियों के इशारे पर आम जनता के बीच घुस कर उपद्रव मचाने वाले कुछ लोगों को देखा तो उनके विरुद्ध इस्लामी सिस्टम के समर्थन में लगातार विशाल रैलियां निकालीं ।
उन्होंने कहा कि इस्लामी सिस्टम के समर्थन में निकली यह रैलियां कोई मामूली घटना नहीं है, दुश्मन के विरुद्ध यह विशाल , सुसंगठित , प्रेरणादायी और सूझबूझ के साथ निकाली गयी रैलियां विश्व इतिहास में अद्भुत घटना है , यह इस्लाम विरोधी शक्तियों के विरुद्ध इस्लाम तथा समाज दुश्मन को विरूध्द ईरानी समाज की जंग है जो यथावत जारी रहेगी ।
आयतुल्लाह ख़ामेनई ने ईरान के विरुद्ध घिनौने षड्यंत्रों का पर्दाफाश करते हुए कहा कि ईरान के विरुद्ध गठजोड़ में एक ओर अमेरिका और अवैध राष्ट्र इस्राईल है तो एक ओर खाड़ी का एक धनवान अरब देश है जिस ने इस पूरे षड्यंत्र में अपनी दौलत का उपयोग किया वहीँ कई महीनों से षड्यंत्र में लिप्त मुनाफ़ेक़ीन ने अपने बदमाशों का सहारा लेकर उपद्रव किया ।
सुप्रीम लीडर ने कह कि वह लोग कहते हैं कि ईरान अमेरिका की शक्ति से डरता है तो हम जवाब में सिर्फ इतना कहेंगे कि अगर हम तुमसे डरते तो तुम्हे अपने देश से कैसे मार भगाया ? और अब तो सिर्फ देश से ही नहीं हमने अमेरिका को इस क्षेत्र से भी ज़लील होकर भागने पर मजबूर कर दिया ।
आयतुल्लाह ख़ामेनई ने मानवाधिकारों की दुहाई देकर अनर्गल बयानबाज़ी करने वाले अमेरिकी अधिकारियों को लताड़ते हुए कह कि तुम्हे शर्म नहीं आती ? तुमने पिछले 1 साल में ही 800 से अधिक अमेरिकी नागरिकों की हत्या की, वाल स्ट्रीट आंदोलन में तुमने हर बहाने से अपने लोगों को मौत के घाट उतारा और अब ईरान की जनता के बारे में हमदर्द बन रहे हो ?
सुप्रीम लीडर ने ईरान सरकार को सम्बोधित करते हुए कहा कि दुशमन मक्खी की तरह कमज़ोरी और समस्या से उभरे हुए ज़ख्म पर बैठता है, इन सस्याओं को दूर किया जाये क्योंकि अगर कमज़ोरी और समस्या नहीं होगी तो दुश्मनों का दुष्प्रचार प्रभावी नहीं होगा, अपनी सस्याएं सुलझाएं तो अमेरिका हमारा कुछ नही बिगाड़ सकता ।
.......................
तसनीम


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :