Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 191727
Date of publication : 25/1/2018 14:28
Hit : 477

बुरे कामों का अच्छे कामों पर असर

इंसान के कुछ बुरे काम जहाँ उसके सभी नेक कामों को नष्ट करते हुए उन पर पानी फेर देते हैं वहीं कुछ अच्छे काम उसके बुरे कामों को भी खत्म कर देते हैं

विलायत पोर्टल : कैसे इंसान के कुछ बुरे काम सभी अच्छे कामों को बर्बाद कर देते हैं?
जवाब: अगर कोई इंसान 20 वर्षों तक समाजिक हित में सक्रिय रहे, लेकिन वह अपने बेटे को क़त्ल कर दे, तो उसके सभी समाजिक कार्यों पर पानी फिर जाएगा।
एक बम विस्फोट होने से पूरी बिल्डिंग गिर जाती है जिसकी वजह से सालों तक किया गया इंसान का प्रयास पल भर में नष्ट हो जाता है।
इंसान द्वारा दी गई एक गाली सालों पुरानी दोस्ती को ख़त्म कर देती है। एक चम्मच ज़हर पीना सालों स्वास्थ से जुड़ी सतर्कता को देखते ही देखते बर्बाद कर देता है।
ड्राइवर की एक पल की नींद गाड़ी को खाई में पहुचाने के लिए काफ़ी है।
आँख में मारा जाने वाला चाक़ू पल भर में पूरे जीवन के उजाले को छीन लेता है।
सच है कि कुछ गुनाह और पाप की एक चिंगारी अच्छे और नेक अमल के बाग़ को जला कर राख कर देते हैं, जैसा कि क़ुर्आन में सूरए बक़रा की आयत न. 217 में भी आया है।
हाँलाकि कुछ गुनाह के कारण सभी आमाल के बर्बाद होने के साथ साथ यह भी बयान किया है कि इंसान के एक अमल से सारे गुनाह और पाप ख़त्म हो जाते हैं जिसे क़ुर्आन ने सूरए तग़ाबुन की आयत न. 9 में बयान किया है। जैसे एक फ़ैक्ट्री में काम करने वाला जिस ने सालों तक अपने किसी काम को सही से नहीं किया, अचानक एक दिन फ़ैक्ट्री के मालिक के घर में जाते ही देखे कि मालिक का बेटा स्वीमिंग पूल में डूब रहा है, उसने उसी समय पानी में कूद कर उसके बेटे की जान को बचा लिया, उसका यह काम उसके पिछले सभी बुरे काम सुस्ती और आलस की भरपाई कर देता है।
जैसा कि क़ुर्आन का बयान है कि नमाज़ को क़ायम करो, वह ऐसी नेकी है जिस से बुराईयाँ दूर हो जाती है। (सूरए हूद, आयत 114)
.....................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हिटलर की भांति विरोधी विचारधारा को कुचल रहे हैं ट्रम्प । ईरान, आत्मघाती हमलावर और आतंकी टीम में शामिल दो सदस्य पाकिस्तानी : सरदार पाकपूर सीरिया अवैध राष्ट्र इस्राईल निर्मित हथियारों की बड़ी खेप बरामद । ईरान को CPEC में शामिल कर सऊदी अरब और अमेरिका को नाराज़ नहीं कर सकता पाकिस्तान। भारत पहुँच रहा है वर्तमान का यज़ीद मोहम्मद बिन सलमान, कई समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर । ईरान के कड़े तेवर , वहाबी आतंकवाद का गॉडफादर है सऊदी अरब अर्दोग़ान का बड़ा खुलासा, आतंकवादी संगठनों को हथियार दे रहा है नाटो। फिलिस्तीन इस्राईल मद्दे पर अरब देशों के रुख में आया है बदलाव : नेतन्याहू बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी....