Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 191963
Date of publication : 7/2/2018 17:56
Hit : 209

बिन सलमान के विरुद्ध तख्ता पलट की आशंका , इस्राईल के लिए हो सकता है गंभीर खतरा ।

सऊदी अरब और इस्राईल के बीच सदैव ही मज़बूत संबंध रहे हैं लेकिन यह संबंध हमेशा गोपनीय रहे हैं लेकिन बिन सलमान के दौर में दोनों देशों के संबंधों में सार्वजानिक रूप से भी बहुत प्रगति देखने को मिली है ।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार सऊदी अरब के अय्याश युवराज मोहम्मद बिन सलमान के लिए विदेश नीतियों मे मिल रही लगातार असफलता के बाद आंतरिक मामलों में मिलने वाली असफलताओं ने संकट बढ़ा दिया है । सऊदी अरब और इस्राईल के बीच सदैव ही मज़बूत संबंध रहे हैं लेकिन यह संबंध हमेशा गोपनीय रहे हैं लेकिन बिन सलमान के दौर में दोनों देशों के संबंधों में सार्वजानिक रूप से भी बहुत प्रगति देखने को मिली है । अब जबकि आंतरिक और विदेश नीति में बिन सलमान को मिल रही लगातार असफलताओं के बीच सऊदी परिवार में उसके विरुद्ध साज़िशे होने की बाते सामने आ रही है तथा बिन सलमान के विरुद्ध तख्ता पलट की आशंका ज़ोर पकड़ रही है तो अवैध राष्ट्र की नींदे भी उड़ गई है ।
..................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी भारत ने दी ईरान को बड़ी राहत, तेल के लिए रुपये से पेमेंट के बाद अब टैक्स में भी छूट