Monday - 2018 Sep 24
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 193223
Date of publication : 17/4/2018 18:15
Hit : 267

ईरान दुश्मनी और इस्राईल दोस्ती रही अरब शिखर सम्मलेन का मुख्य एजेंडा : अल रियाज़

सऊदी अरब के इस आधिकारिक अखबार ने ज़ायोनी और अमेरिकी लॉबी की चापलूसी में फिलिस्तीन पर इस्राईल के क़ब्ज़े को नकारते हुए यहाँ तक लिख दिया इस्राईल ने अरब देश की सिर्फ एक राजधानी पर क़ब्ज़ा किया है जबकि ईरान चार चार अरब देशों की राजधानी और ज़मीनों को क़ब्ज़ाये हुए है ।

विलायत पोर्टल : पिछले कुछ सालों से पश्चिम की ईरान विरोधी मुहिम को सऊदी अरब ने क्षेत्र में ईरान फोबिया के नाम से बहुत ज़ोर शोर से आगे बढ़ाया है । आले सऊद के इशारों पर इस देश का मीडिया भी क्षेत्र में ईरान के विरुद्ध बढ़ चढ़ कर बोलता रहा है तो सऊदी अरब के शासक भी समय समय पर अरब लीग के सम्मलेन बुलाकर ईरान विरोधी प्रोपैगंडे और इस्राईल से अरब देशों की दोस्ती बढ़ाने के लिए पूरा ज़ोर लगते रहे हैं ।

सऊदी अरब की मांग , तल अवीव के साथ सांस्कृतिक तालमेल बढ़ाएं अरब देश ।

इसका ताज़ा उदाहरण हालिया दिनों सऊदी अरब के ज़ेहरान में हुआ अरब शिखर सम्मलेन है प्राप्त जानकारी के अनुसार सऊदी अरब के आधिकारिक समाचार पत्र अल रियाज़ ने सऊदी युवराज के कथन का उल्लेख किया जिस में सऊदी युवराज ने कहा था कि सऊदी अरब ज़ायोनियों के अलग देश का समर्थन और शांति से रहने के अधिकार का सम्मान करता है । अल रियाज़ ने इस्राईल से दोस्ती और ईरान से मुक़ाबला शीर्षक से अपने लेख में लिखा कि अरब शासकों इस सच्चाई को समझो कि ईरान तुम्हारे लिए इस्राईल से अधिक खतरनाक है ईरान की नीति विस्तारवादी है ।

सीरिया पर हमले के लिए बिन सलमान ने चुकाए 4 अरब डॉलर !

सऊदी अरब के इस आधिकारिक अखबार ने ज़ायोनी और अमेरिकी लॉबी की चापलूसी में फिलिस्तीन पर इस्राईल के क़ब्ज़े को नकारते हुए यहाँ तक लिख दिया इस्राईल ने अरब देश की सिर्फ एक राजधानी पर क़ब्ज़ा किया है जबकि ईरान चार चार अरब देशों की राजधानी और ज़मीनों को क़ब्ज़ाये हुए है ।
 ................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :