Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 193442
Date of publication : 26/4/2018 18:17
Hit : 158

अली सम्माद की शहादत युद्ध का टर्निंग पॉइंट , सऊदी के संवेदनशील तथा महत्वपूर्ण क्षेत्र मिसाइल निशाने पर ।

सम्माद की शहादत का असर देश भर में देखा जा सकता जो उनकी शहादत के बाद देश भर में हुए सशस्त्र प्रदर्शन में देखा जा सकता है, उनके खून ने देश में एक नई लहर जगा दी है और शहीद का खून व्यर्थ नहीं जाएगा।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार यमन की राजनैतिक परिषद के अध्यक्ष शहीद अली सम्माद की शहादत पर सऊदी युद्ध अपराधों के खिलाफ कड़ा रुख अपना रहे यमन ने कहा है कि शहीद अली सम्माद की शहादत यमन युद्ध का टर्निंग पॉइंट है। सऊदी अरब और अमेरिका पर इस युद्ध अपराध की ज़िम्मेदारी है सऊदी अमेरिकी गठबंधन के युद्धक विमानों ने अली सम्माद के काफिले पर तीन मिसाइल दाग़े जिसके नतीजे में वह अपने साथियों समेत शहीद हो गए । अमेरिकी मंत्री ने कहा था कि यमन की मिसाइल क्षमता क्षेत्र में अमेरिकी ठिकानों के लिए गंभीर खतरा है अब अमेरिकी-सऊदी हमलों में सम्माद की शहादत क्षेत्र में जारी युद्ध को नये चरण में ले जाएगी जो आले सऊद के पतन का कारण बनेगा, आले सऊद की स्थिति इतनी नाज़ुक हो गई है कि वह यमन के निर्वाचित नेताओं को निशाना बनाने पर उतर आये हैं । इस बात की बहुत सम्भावना है कि इस घटना के बाद सऊदी अरब के उच्चाधिकारी और सत्ताधीन लोग भी यमन के जवाबी हमलों से सुरक्षित नहीं रह पाएंगे। सम्माद की शहादत का असर देश भर में देखा जा सकता जो उनकी शहादत के बाद देश भर में हुए सशस्त्र प्रदर्शन में देखा जा सकता है, उनके खून ने देश में एक नई लहर जगा दी है और शहीद का खून व्यर्थ नहीं जाएगा।
..................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

क़तर का बड़ा क़दम, ईरान और दमिश्क़ समेत 5 देशों का गठबंधन बनाने की पेशकश एमनेस्टी इंटरनेशनल ने आंग सान सू ची से सर्वोच्च सम्मान वापस लिया ईरान की सैन्य क्षमता को रोकने में असफल रहेंगे अमेरिकी प्रतिबंध : एडमिरल हुसैन ख़ानज़ादी फिलिस्तीन, ज़ायोनी हमलों में 15 शहीद, 30 से अधिक घायल ग़ज़्ज़ा में हार से बौखलाए ज़ायोनी राष्ट्र ने हिज़्बुल्लाह को दी हमले की धमकी आले सऊद ने अब ट्यूनेशिया में स्थित सऊदी दूतावास में पत्रकार को बंदी बनाया मैक्रॉन पर ट्रम्प का कड़ा कटाक्ष, हम न होते तो पेरिस में जर्मनी सीखते फ़्रांस वासी इस्राईल शांति चाहता है तो युद्ध मंत्री लिबरमैन को तत्काल बर्खास्त करे : हमास हश्दुश शअबी ने सीरिया में आईएसआईएस के खिलाफ अभियान छेड़ा, कई ठिकानों को किया नष्ट ग़ज़्ज़ा पर हमले न रुके तो तल अवीव को आग का दरिया बना देंगे : नौजबा मूवमेंट यमन और ग़ज़्ज़ा पर आले सऊद और इस्राईल के बर्बर हमले जारी फिलिस्तीनी दलों ने इस्राईल के घमंड को तोडा, सीमा पर कई आयरन डॉम तैनात अज़ादारी और इंतेज़ार का आपसी रिश्ता रूस इस्लामी देशों के साथ मधुर संबंध का इच्छुक : पुतिन आले खलीफा शासन ने 4 नागरिकों को मौत की सजा सुनाई