Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 194262
Date of publication : 21/6/2018 14:15
Hit : 326

फीफा वर्ल्ड कप में मगन दुनिया और यमन में दम तोड़ रही है मानवता

अल-हदीदह एयरपोर्ट में अतिक्रमणकारी सैनिकों के प्रवेश के समाचार झूठे हैं और यूएई के अधिकारियों के यह दावे अपनी अपमानजनक हार को छिपाने के लिए हैं। अल-बुख़ैती ने सऊदी समर्थित लड़ाकों को संदेश देते हुए कहा, उन्हें यमनी सेना के सामने आत्मसमर्पण कर देना चाहिए वरना वह मरने के लिए तैयार रहें।
विलायत पोर्टल : मार्च 2015 से सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात अपने अन्य सहयोगी देशों के साथ मिलकर यमन पर भीषण हवाई हमले कर रहे हैं और इन देशों ने पूर्ण रूप से यमन की नाकाबंदी कर रखी है। ऐसी स्थिति में भुखमरी का शिकार यमन की 2 करोड़ 70 लाख की जनता तक जो थोड़ी बहुत सहायता सामग्री पहुंच रही है, वह अल-हदीदह बंदरगाह के ज़रिए पहुंच रही है। इसीलिए इस बंदरगाह को यमन की लाइफ़ लाइन कहा जा रहा है, क्योंकि संयुक्त राष्ट्र संघ का कहना है कि अगर पोर्ट सिटी अल-हदीदह पर सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात के भीषण हमले इसी तरह जारी रहते हैं, तो तुरंत रूप से इस देश में 2 लाख 51 हज़ार लोग भूख से मर जाएंगे। सऊदी अरब ने यमन के पूर्व राष्ट्रपति मंसूर हादी को सत्ता में वापस लौटाने का बहाना बनाकर अमेरिका और इस्राईल के समर्थन से इस देश के ख़िलाफ़ युद्ध छेड़ा था, लेकिन तीन वर्ष के बाद भी इस गठबंधन को ज़मीन पर कोई प्रगति हासिल नहीं हुई है। यही कारण है कि अमेरिका और कुछ पश्चिमी देशों के सीधे सहयोग से अतिक्रमणकारी देशों ने यमन की लाइफ़ लाइन काटने की साज़िश रची है और पिछले बुधवार से हदीदह पर भीषण हमले शुरू किए हैं और मंगलवार को एक बार फिर यह दावा किया है कि अल-हदीदह एयरपोर्ट पर उनका क़ब्ज़ा हो गया है। यमन की संसदीय परिषद और अंसारुल्लाह आंदोलन के राजनीतिक कार्यालय के सदस्य मोहम्मद अल-बुख़ैती ने कि जो हदीदह में ख़ुद अग्रिम मोर्चे पर लड़ रहे हैं सऊदी और यूएई के सैन्य अधिकारियों के इन दावों को निराधार बताते हुए कहा है कि यमनी सैनिक और स्वयंसेवी बल अतिक्रमणकारियों के हमलों का मुंह तोड़ जवाब दे रहे हैं। अल-बुख़ैती का कहना है कि, अल-हदीदह एयरपोर्ट में अतिक्रमणकारी सैनिकों के प्रवेश के समाचार झूठे हैं और यूएई के अधिकारियों के यह दावे अपनी अपमानजनक हार को छिपाने के लिए हैं। अल-बुख़ैती ने सऊदी समर्थित लड़ाकों को संदेश देते हुए कहा, उन्हें यमनी सेना के सामने आत्मसमर्पण कर देना चाहिए वरना वह मरने के लिए तैयार रहें।
.................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हश्दुश शअबी का आरोप , आईएसआईएस को इराकी बलों की गोपनीय जानकारी पहुंचाता था अमेरिका ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी