Tuesday - 2018 Sep 18
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 195012
Date of publication : 18/8/2018 16:17
Hit : 778

क़राक़ुरम पर्वत की 6250 मीटर ऊंची छोटी पर लहराया इमाम रज़ा अ.स. का परचम ।

पाकिस्तान के सदपारे के ही रहने वाले युवक और प्रसिद्ध पर्वतारोही हसन सदपारे, पहली बार विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर हज़रत अब्बास (अ) के परचम को लहरा चुके हैं।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार, उत्तरी पाकिस्तान के इस्करदू इलाक़े से संबंध रखने वाले प्रसिद्ध पर्वतारोही नज़ीर सदपारे ने 6250 मीटर ऊंचे क़राक़ुरम पहाड़ की सबसे ऊंची चोटी बरगी छूपैक पर पैग़म्बरे इस्लाम स.अ.के उत्तरधिकारी आठवें इमाम हज़रत इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के परचम को लहराकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। याद रहे कि इससे पहले मोहम्मद नज़ीर सदपारे ने पाकिस्तान में स्थित तथा दुनिया की ऊंची चोटियों में से शामिल , “सब्ज़ हेलाली” पर हज़रत अब्बास कर परचम लहराया था। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के सदपारे के ही रहने वाले युवक और प्रसिद्ध पर्वतारोही हसन सदपारे, पहली बार विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर हज़रत अब्बास (अ) के परचम को लहरा चुके हैं। याद रहे कि बरगी छूपैक चोटी पर हज़रत इमाम रज़ा और हज़रत अब्बास (अ) के नाम का परचम लहराने वाले पर्वतारोही नज़ीर सदपारे, 1982 में इस्करदू सदपारे में पैदा हुए और उन्होंने औपचारिक रूप से पहाड़ों पर चढ़ना वर्ष 2009 में आरंभ किया। नज़ीर सदपारे के 7 भाई हैं जिनमें से दो भाइयों की जान भी पहाड़ों पर चढ़ने के दौरान जा चुकी है। मोहम्मद नज़ीर सदपारे के मुताबिक़, वह अबतक 8000 मीटर से ऊंची 5 चोटियों, 7000 मीटर से ऊंची 3 पहाड़ी चोटियों और 5000 मीटर से ऊंची 8 चोटियों पर पहुंचने में कामयाब रहे हैं। नज़ीर सदपारे की इच्छा है कि वह माउंट एवरेस्ट सहित विश्व में मौजूद 8000 मीटर से ऊंची सभी चोटियों पर पहुंचकर हज़रत अब्बास (अ) के परचम को लहरा सकें।
.................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :