Thursday - 2018 Sep 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 195270
Date of publication : 6/9/2018 12:18
Hit : 542

सीरिया में मुंह की खा चुके अमेरिका को कोई शर्त रखने का अधिकार नहीं : हिज़्बुल्लाह

अमेरिका अत्याचारी देश है उसे पराजय मिलेगी क्योंकि अत्याचारी अस्थायी रूप से सफल हो सकता है लेकिन अंतिम और निर्णायक जीत सत्य की ही होती है ।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार हिज़्बुल्लाह के उप प्रमुख शैख़ नईम ने सीरिया संकट के समाधान के लिए अमेरिका की ओर से रखी जाने वाली शर्तों को मूल्यहीन बताते हुए कहा कि शर्त रखने का अधिकार विजयी पक्ष को है अमेरिका सीरिया और क्षेत्र में हारा हुआ पक्ष है उसकी कोई शर्त स्वीकार्य नहीं है । अमेरिका को न तो कोई शर्त रखने का अधिकार है न ही उसमे इतनी क्षमता है कि अपनी मनमानी कर सके।  उन्होंने कहा कि अमेरिका पर भरोसा कर युद्ध की आग लगाने वाले संगठनों को अपनी नीतियाँ की समीक्षा करना चाहिए अमेरिका दुनिया का सबसे झूठा और सबसे बड़ा शैतान है, उसने दुनिया के किसी भी देश के साथ किये हुए समझौते को ईमानदारी से लागू नहीं किया । आज सऊदी अरब अमेरिका का सबसे बड़ा भागीदार है लेकिन रियाज़ जल्दी ही इस सच्चाई को जान लेगा कि उसे सबसे बड़ी चोट वाशिंगटन ने ही दी है । अमेरिका अत्याचारी देश है उसे पराजय मिलेगी क्योंकि अत्याचारी अस्थायी रूप से सफल हो सकता है लेकिन अंतिम और निर्णायक जीत सत्य की ही होती है ।
......................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :