Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 195703
Date of publication : 10/10/2018 6:27
Hit : 1010

दाइश के पतन से निराश अबूबकर बग़दादी ने दिए सैंकड़ों वहाबी आतंकियों को मारने के आदेश

अबू बकर के आदेशानुसार इन आतंकियों को ठिकाने लगाने का काम शुरू हो चुका है तथा अब तक अबुलबरा अल अंसारी, सैफ अल-दीन अल-इराकी, अबू उसमान अल-तलअफरी, अबू इमान अल-मुवाहाद, अबुल क़िस्म अल-हलबी और मरवान सूरी जैसे आतंकियों को ठिकाने लगाया जा चुका है ।
विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार इराक के बाद सीरिया में भी आतंकी संगठन दाइश के पतन से हताश वहाबी आतंकी संगठन आईएसआईएस के सरगना अबू बकर बग़दादी ने सैंकड़ों आतंकियों को मारने के आदेश दिए हैं जिन में इस आतंकी संगठन के कई वरिष्ठ कमांडर भी शामिल हैं । रिपोर्ट के अनुसार अबू बकर ने लगभग 320 आतंकियों को मौत के घाट उतारने के आदेश दिए हैं जिन्हे सेना के मुक़ाबले पराजय का ज़िम्मेदार बताया गया है, इस सूची में इराक और सीरिया में दाइश के वरिष्ठ कमांडरों के नाम भी है।  अबू बकर के आदेशानुसार इन आतंकियों को ठिकाने लगाने का काम शुरू हो चुका है तथा अब तक अबुलबरा अल अंसारी, सैफ अल-दीन अल-इराकी, अबू उसमान अल-तलअफरी, अबू इमान अल-मुवाहाद, अबुल क़िस्म अल-हलबी और मरवान सूरी जैसे आतंकियों को ठिकाने लगाया जा चुका है ।
.............................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची