Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 195728
Date of publication : 11/10/2018 16:4
Hit : 557

सीरिया को बर्बाद करने वाले आईएसआईएस आतंकी बने इस्राईल के गले की हड्डी

इस्राईल में प्रकाशित एक रिपोर्ट में बताया गया है कि उत्तरी क्षेत्रों के अस्पतालों में सन 2013 से इन आतंकियों का इलाज शुरु किया गया और धीरे धीरे इस्राईल की ओर से यह इलाज, सब से बड़ा ” मानवीय ” अभियान बन गया। इस्राईली टीवी ने बताया कि इस्राईल ने लगभग 3525 घायलों का इलाज किया और इन सब का इलाज उत्तरी क्षेत्र के चार सरकारी अस्पतालों में किया गया

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार सीरिया में युद्ध की आग भड़काने में अहम् भूमिका निभाने वाले तथा वहाबी आतंकी संगठनों के घायल हत्यारों को इस्राईल मुफ्त इलाज और चिकित्सीय सुविधा पहुँचाने वाला इस्राईल सीरिया में आतंकियों के सफाये के बाद अब एक और उलझन में पड़ गया है और यह उलझन है हज़ारों की संख्या में वह क्रूर आतंकी जिन्हे इस्राईल में इलाज के लिए लाया गया था । यह वह आतंकवादी हैं जिन्हें घायल होने के बाद इस्राईल पहुंचाया गया है और वहां उनका इलाज चल रहा है। यह सब लोग उत्तरी इस्राईल के अस्पतालों में भर्ती हैं मगर सवाल यह है कि इस्राईल उनका क्या करे? क्या उन्हें वह वापस सीरिया भेज सकता है? हरगिज़ नहीं! इस लिए अब वह इन लोगों की वापसी के लिए दूसरे देशों से बात-चीत कर रहा है। इस्राईल ने सीरिया में घायल होने वाले हज़ारों आतंकवादियों को उत्तरी क्षेत्रों के अस्पतालों में इलाज कराया मगर अब जबकि सीरिया से आतंकवादियों का सफाया हो चुका है, और उनके समर्थक भी मैदान छोड़ चुके हैं, सवाल यह है कि इस्राईल उन्हें कहां भेजे और अस्पतालों का बिल कौन अदा करे? इस संदर्भ में इसाईली जनरल और संसद में विदेश एवं सुरक्षा आयोग के सदस्य एयाल रूओफीन ने एक इंटरव्यू में कहा है कि ” संभव है इन आतंकियों को वापस दमिश्क़ भेज दिया जाए और इसके लिए सीरिया के संबंधित अधिकारियों से परोक्ष रूप से वार्ता भी की जाए और सरकार से इन घायलों की सुरक्षा की गारंटी ली जाए यह भी संभव है कि इस्राईल औपचारिक रूप से संयुक्त राष्ट्र से यह अपील करे कि वह कुछ देशों को इस बात पर तैयार करे कि वह इस्राईल से इन घायलों में अपने वहां बुला लें जैसा कि व्हाइट हेल्मेट्स संगठन की आड़ में छुपे आतंकियों के बारे में हुआ है। इस्राईल में प्रकाशित एक रिपोर्ट में बताया गया है कि उत्तरी क्षेत्रों के अस्पतालों में सन 2013 से इन आतंकियों का इलाज शुरु किया गया और धीरे धीरे इस्राईल की ओर से यह इलाज, सब से बड़ा ” मानवीय ” अभियान बन गया। इस्राईली टीवी ने बताया कि इस्राईल ने लगभग 3525 घायलों का इलाज किया और इन सब का इलाज उत्तरी क्षेत्र के चार सरकारी अस्पतालों में किया गया। जबकि हैफा के रमबाम अस्पताल में 186, सफद के ज़ीफ अस्पताल में 806 और तबरिया के बूरिया अस्पताल में 181 घायल आतंकियों का इलाज किया गया। इस्राईल ने बश्शार असद की सरकार गिराने और सीरिया को बर्बाद करने का भरपूर प्रयास किया और आतंकियों को सैन्य , चिकित्सीय एवं आर्थिक हर प्रकार से सहायता की लेकिन सीरिया में साम्राज्यवाद की हार के साथ ही हज़ारों की संख्या में इस्राईल के अस्पतालों में मौजूद यह आतंकी अवैध राष्ट्र के गले की हड्डी बन गए हैं तथा ज़ायोनी राष्ट्र को समझ नहीं आ रहा है कि अब वह इनका क्या करे?
.........................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अमेरिका यमन युद्ध के नाम पर सऊदी अरब से वसूली को तैयार सऊदी अरब का युवराज मोहम्मद बिन सलमान है जमाल ख़ाशुक़जी का हत्यारा : निक्की हैली अमेरिका में पढ़ने वाले ईरानी अधिकारियों के बच्चों को निकालेगा वाशिंगटन दमिश्क़ का ऐलान,अपना उपग्रह लांच करने के लिए तैयार है सीरिया । ख़ाशुक़जी कांड से हमारा कोई संबंध नहीं , सेंचुरी डील पर ध्यान केंद्रित : जॉर्ड किश्नर हिज़्बुल्लाह - इस्राईल तनाव, लेबनान ने अवैध राष्ट्र सीमा पर सेना तैनात की । सेना की संभावित कार्रवाई से नुस्राह फ्रंट में दहशत, बु कमाल में मिली सामूहिक क़ब्रें आले सऊद और अरब शासकों को उलमा का कड़ा संदेश, इस्राईल से संबंधों को बताया हराम इस्राईल से मधुर संबंधों की होड़ लेकिन क़तर से संबंध सामान्य न करने पर ज़ोर ! काबे के सेवक इस्लाम दुश्मनों से दोस्ती और मुसलमानों से दुश्मनी न करें : आयतुल्लाह ख़ामेनई ईरान को झुकाने की हसरत अपनी क़ब्रों में ले जाना : आईआरजीसी हिज़्बुल्लाह के साथ खड़ा है लेबनान का क्रिश्चियन समाज : इलियास मुर्र ओमान के आसमान में उड़ान भरेंगे इस्राईल के विमान ज़ायोनी आतंक, पोस्टर लगा कर दी फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति की हत्या की सुपारी । महिलाओं के अधिकार, इस्लाम और आधुनिक सभ्यता की निगाह में