Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 195738
Date of publication : 11/10/2018 8:35
Hit : 370

अय्याश सऊदी युवराज ने की अर्दोग़ान को 5 अरब डॉलर रिश्वत की पेशकश

तुर्क अधिकारियों का कहना है कि इस हत्याकांड में कुख्यात ज़ायोनी एजेंसी मोसाद और सीआईए की मिलीभगत से इंकार नहीं किया जा सकता है ।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार इराक की असरार मीडिया ने तुर्की में सऊदी आलोचक पत्रकार जमाल खाशुक़जी मुद्दे पर बड़ी खबर देते हुए कहा है कि सऊदी अरब के अय्याश युवराज मोहम्मद बिन सलमान ने अर्दोग़ान से इस केस को बंद करने की गुहार लगाते हुए उन्हें 5 अरब डॉलर की रक़म भेंट करने की पेशकश की है । रिपोर्ट के अनुसार लेबनान में तुर्की के राजदूत हाकान काकील ने कहा है कि बिन सलमान ने अर्दोग़ान को 5 अरब डॉलर की भारी भरकम रिश्वत देने की पेशकश की तथा उनसे बदले में इस्तंबूल में सऊदी वाणिज्य दूतावास में मारे गए पत्रकार जमाल का केस बंद करने की गुहार लगाई है । कहा जा रहा है कि तुर्क राजदूत ने यूरोप के वरिष्ठ अधिकारियों से बात करते हुए इस रहस्य से पर्दा उठाया है।  सूत्रों के अनुसार तुर्क अधिकारियों का कहना है कि इस हत्याकांड में कुख्यात ज़ायोनी एजेंसी मोसाद और सीआईए की मिलीभगत से इंकार नहीं किया जा सकता है ।
.........................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई