Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 59424
Date of publication : 16/9/2014 22:57
Hit : 525

घायल आतंकवादियों का इस्राईल में रहा है इलाज।

सीरिया की सरकारी समाचार एजेंसी सना के अनुसार संयुक्त राष्ट्र ने अपनी एक रिपोर्ट में जोलान में तैनात शांति सेना के अधिकारियों द्वारा जारी की गई रिपोर्ट का हवाला देते हुए इस रहस्य से पर्दा उठाया है कि सीरिया में आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त सशस्त्र तत्वों के साथ ज़ायोनी सरकार बड़े ही व्यवस्थित तरीक़े से सहयोग कर रही है


विलायत पोर्टलः रिपोर्ट के अनुसार सीरिया और इराक़ में आतंकवाद के खिलाफ़ बनने वाले अंतरराष्ट्रीय गठबंधन के बारे में संयुक्त राष्ट्र संघ ने ख़ुशी व्यक्त की है। सूचना के अनुसार अमेरिकी देखरेख में अंजाम पाने वाले इस तथाकथित गठबंधन के बारे में संयुक्त राष्ट्र संघ ने सीरिया में सक्रिय आतंकवादियों और ज़ायोनी सरकार के बीच एक मजबूत संपर्क का खुलासा किया है। सीरिया की सरकारी समाचार एजेंसी सना के अनुसार संयुक्त राष्ट्र ने अपनी एक रिपोर्ट में जोलान में तैनात शांति सेना के अधिकारियों द्वारा जारी की गई रिपोर्ट का हवाला देते हुए इस रहस्य से पर्दा उठाया है कि सीरिया में आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त सशस्त्र तत्वों के साथ ज़ायोनी सरकार बड़े ही व्यवस्थित तरीक़े से सहयोग कर रही है। इस रिपोर्ट के अनुसार सीरिया में सक्रिय आतंकवादियों ने पिछले कुछ सप्ताह के दौरान अपने पचास घायल आतंकवादियों को इस्राईल स्थानांतरित किया है। इस दौरान चालीस के करीब आतंकवादियों को इलाज के बाद जोलान के रास्ते से सीरिया भिजवा दिया गया है। इस रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि जिब्हतुन नुस्रा से जुड़े आतंकवादी तत्वों ने जोलान क्षेत्र में संयुक्त राष्ट्र संघ के सैनिकों की चौकियों पर हमला करके उनकी गाड़ियों, फ़ौजी वरदियों और अन्य संसाधनों को अपने कब्जे में ले लिया था और उन्हें सीरिया के खिलाफ़ आतंकवाद कार्यवाहियों में इस्तेमाल कर रहे हैं। इस खबर की पुष्टि इराक़ और सीरिया में गिरफ्तार होने वाले अन्नुसरा और दाइश के कुछ प्रमुख तत्वों के बयानों से भी हो जाती है जिसमें उन्होंने यह स्वीकार किया है कि उन्हें ज़ायोनी सरकार की भरपूर मदद और समर्थन हासिल है। इन रिपोर्टों के प्रकाशन से आतंकवादियों और ज़ायोनी अधिकारियों के बीच गुप्त संपर्कों से संबंधित सीरियाई अधिकारियों के बयानों की पुष्टि भी हो जाती है। विदेश में रह रहे सीरियाई सरकार विरोधी प्रमुख नेता "मुहम्मद बदीअ" ने कुछ ही समय पहले जोलान क्षेत्र में स्थापित सैनिक अस्पतालों में घायलों को देखने जाने और उनका हालचाल पूछने पर इस्राईली प्रधानमंत्री बेंजामिन नितिन याहू को धन्यवाद किया था। आतंकवादियों और ज़ायोनी सरकार के बीच संपर्क से संबंधित समाचार ऐसे समय सामने आ रहे हैं कि ज़ायोनी सरकार की पार्लियामेंट के पूर्व उपसभापति सईद नफा और कुछ ज़ायोनी अखबार कई बार सीरिया में सक्रिय सरकार विरोधी आतंकवादी समूहों की अरब दलालों की मदद से वित्तीय और हथियार की मदद पहुंचाये जाने और उनके समर्थन से पर्दा उठा चुके हैं।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची