Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 60333
Date of publication : 28/9/2014 19:32
Hit : 496

आयतुल्लाह हाशमी रफसंजानीः

ईरान की मदद के बिना दाइश का अंत संभव नहीं।

आयतुल्लाह हाशमी रफसंजानी ने इस ओर इशारा करते हुए कि दाइश के खिलाफ बनाया गया गठबंधन निश्चित रूप से ख़त्म हो जाएगा कहा कि अमेरिका ने ख़ुद स्वीकार किया है कि अगर ईरान मदद न करे तो यह गठबंधन दाइश को समाप्त नहीं कर सकता है

विलायत पोर्टलः ईरान के राष्ट्रीय हितों के पहचान करने वाली काउंसिल तशख़ीसे मसलेहते नेज़ाम के प्रमुख आयतुल्लाह हाशमी रफसंजानी ने कहा है कि ईरान की मदद के बिना अमेरिकी दाइश को खत्म करने की क्षमता नहीं रखते हैं।  आयतुल्लाह हाशमी रफसंजानी ने इस ओर इशारा करते हुए कि दाइश के खिलाफ बनाया गया गठबंधन निश्चित रूप से ख़त्म हो जाएगा कहा कि अमेरिका ने ख़ुद स्वीकार किया है कि अगर ईरान मदद न करे तो यह गठबंधन दाइश को समाप्त नहीं कर सकता है।  आयतुल्लाह रफसंजानी ने कहा कि केवल बमबारी किसी आतंकी समूह को समाप्त नहीं कर सकती क्योंकि हम इस बात के गवाह हैं कि हाल के कुछ दिनों में दाइश ने तुर्की के सीमावर्ती क्षेत्र कोबानी पर हमला किया है।  उन्होंने कहा कि पिछली रात अमरीकी गठबंधन सैनिकों ने कोबानी के आसपास इस मक़सद से बमबारी की ताकि आतंकवादी शहर पर कब्जा न कर सकें लेकिन शहर के अक्सर क्षेत्रों में आतंकवादी हमला कर रहे हैं।  आयतुल्लाह रफसंजानी ने कहा कि खुद पश्चिम वालों ने बताया कि दाइश पर हवाई हमला शुरू होने के समय से विभिन्न देशों से 235 आतंकवादी और आ चुके हैं और केवल हवाई हमलों से उनका सफाया नहीं किया जा सकता है।  आयतुल्लाह हाशमी रफसंजानी ने इराक़ की हालिया घटनाओं को बयान करते हुए कहा कि ईरान ने इराक़ के मौजूदा संकट के समाधान के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हाशमी रफ़संजानी ने कहा कि अगर अभी जंग शुरू हो जाए तो महत्वपूर्ण काम ईरानियों के हाथ में होगा लेकिन हम यह नहीं कहते कि हमने सैनिक भेजे हैं लेकिन ईरान के सुझावों व स्ट्रॉटेजी से ही मूसेल और आमिरली शहर को मुक्त कराया जा सका है। 


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इंग्लैंड में हर साल 5200 लोग इस्लाम क़ुबूल कर रहे हैं… सीरिया में एक बार फिर तनाव बढ़ा, तुर्की की विस्तारवादी नीतिया चरम पर । ईरान पर आतंकी हमला, बिन सलमान ने दिया पाकिस्तान को 20 अरब डॉलर का इनाम : डी मेडी टेलीग्राफ ज़रूरत पड़ी तो अमेरिका को हमलों का निशाना बनाने को तैयार : रूस हिज़्बुल्लाह ने सेना और देशवासियों के साथ मिलकर लेबनान को सीरिया जैसी दुर्दशा से बचा लिया । पुतिन की नसीहत , विनाशकारी सियासत से बाज़ आए अमेरिका क़तर का आले सऊद पर हमला, हज को राजनैतिक हथियार के रूप में प्रयोग कर रहा है सऊदी अरब। सऊदी युवराज की भारत यात्रा के विरोध में हुए विशाल विरोध प्रदर्शन । वेनेज़ुएला संकट, अमेरिकी हस्तक्षेप की आशंका , सेना हाई अलर्ट । दमिश्क़ कुर्दों का समर्थन करने के लिए तैयार । इंसान मौत के समय किन किन चीज़ों को देखता है? हिटलर की भांति विरोधी विचारधारा को कुचल रहे हैं ट्रम्प । ईरान, आत्मघाती हमलावर और आतंकी टीम में शामिल दो सदस्य पाकिस्तानी : सरदार पाकपूर सीरिया अवैध राष्ट्र इस्राईल निर्मित हथियारों की बड़ी खेप बरामद । ईरान को CPEC में शामिल कर सऊदी अरब और अमेरिका को नाराज़ नहीं कर सकता पाकिस्तान।