Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 60889
Date of publication : 8/10/2014 21:47
Hit : 598

तुर्की में प्रदर्शन, 12 लोगों की मौत।

तुर्की के विभिन्न शहरों में सीरिया में कुर्दों के शहर कोबानी के समर्थन में होने वाले प्रदर्शनों में 12 लोग मारे गए हैं और कई अन्य घायल हो गए हैं।



विलायत पोर्टलः तुर्की के विभिन्न शहरों में सीरिया में कुर्दों के शहर कोबानी के समर्थन में होने वाले प्रदर्शनों में 12 लोग मारे गए हैं और कई अन्य घायल हो गए हैं। अल-आलम टीवी चैनल ने तुर्की के मीडिया के हवाले से रिपोर्ट दी है कि तुर्की के कुछ शहरों में होने वाले प्रदर्शनों में प्रदर्शनकारियों और तुर्क सुरक्षा अधिकारियों के बीच झड़प हुईं, जिसके परिणामस्वरूप 12 लोग मारे गए हैं। इस्तांबूल और अंकारा में होने वाले प्रदर्शनों में दंगा विरोधी बलों ने प्रदर्शनकारियों को छितर बितर करने के लिये ताक़त का इस्तेमाल किया। प्रदर्शनों की कॉल तुर्की की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी ने दी थी, दयार बकर शहर में होने वाले प्रदर्शनों को भी हिंसा का निशाया बनाया गया। इस दौरान होने वाली फायरिंग में पाँच लोग मारे गए हैं।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ इस्राईल ने कोई क़दम उठाया तो पूरा मिडिल ईस्ट सुलग जाएगा : नेशनल इंटरेस्ट यूरोप ईरान के साथ वैज्ञानिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने को उत्सुक : जर्मनी अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका ।