Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 60890
Date of publication : 8/10/2014 21:55
Hit : 1587

जादूई मोती

वियतनाम के किसी गांव में एक शिकारी रहता था। उसका नाम डाईज़िंग था और वह अकेला एक छोटी सी झोपड़ी में रहता था। एक दिन वह शिकार ढ़ूंढ़ रहा था कि उसे एक बाज़ दिखाई पड़ा जो सांप पर झपटने ही वाला था। डाईज़िंग को सांप पर तरस आ गया उसने तीर से बाज़ को मार गिराया।



विलायत पोर्टलः वियतनाम के किसी गांव में एक शिकारी रहता था। उसका नाम डाईज़िंग था और वह अकेला एक छोटी सी झोपड़ी में रहता था। एक दिन वह शिकार ढ़ूंढ़ रहा था कि उसे एक बाज़ दिखाई पड़ा जो सांप पर झपटने ही वाला था। डाईज़िंग को सांप पर तरस आ गया उसने तीर से बाज़ को मार गिराया। सांप भागते भागते रुक गया फन उठाकर डाईज़िंग को देखा और फिर बोला ٴٴतुम्हारा बहुत बहुत धन्यवाद डाईज़िंगٴ, तुमने मुझ पर जो एहसान किया है, उसका बदला देना चाहता हूँ यह लो यह जादू का मोती है, इसे ज़बान के नीचे रखोगे तो दुनिया के हर जानवर की बोली समझ सकोगे, लेकिन एक बात याद रखना इसे अच्छे व नेक कामों में इस्तेमाल करना। फिर अचानक साँप गायब हो गया, उसी समय डाईज़िंग को एक पहाड़ी कौव्वे की काएँ काएँ सुनाई दी, उसने जादू के मोती को ज़बान के नीचे रखा और कौवे की काएँ काएँ पर कान लगा दिए, कौआ कह रहा था यहाँ पास ही झाड़ी में एक मोटा ताजा हिरन बैठा है। अगर तुम वादा करो कि उसकी कलेजी मुझे दे दोगे तो मैं तुम्हें उस तक ले जाऊँगा, कौव्वा डाईज़िंग को उस झाड़ी के पास ले गया, डाईज़िंग ने तीर से हिरन को शिकार उसकी कलेजी कव्वे को दे दी और बाक़ी मांस घर ले गया। फिर वह कौवे के साथ शिकार करने लगा, दोनों ही खुश थे। डाईज़िंग को शिकार के लिए अधिक दौड़ धूप नहीं करनी पड़ती थी और पहाड़ी कौवे को आसानी से कलेजी मिल जाती थी। एक दिन कौव्वे को आने में देर हो गई तो डाईज़िंग अकेला ही शिकार की खोज में निकल पड़ा। कुछ देर बाद एक शिकार मार गिराया और उसकी कलेजी पेड़ की डाल पर रख दी कि कौआ आकर खा लेगा, लेकिन वह कलेजी कोई दूसरा पक्षी खा गया, इतने में कौआ काएँ काएँ करता हुआ आ गया, उसे कलेजी नहीं मिली, तो उसने डाईज़िंग को खूब भला बुरा कहा, डाईज़िंग को भी गुस्सा आ गया और उसने कमान में तीर लगाया और कौवे पर निशाना लगाया दिया कौव्वा उछलकर एक तरफ हो गया और तीर कुछ दूर जाकर ज़मीन पर गिर गया। कौआ चीख़ कर बोलाٴٴ पहले तुमने हमें दोखा दिया और अब मेरी जान लेने की कोशिश की। तुम्हें इसकी सजा मिलेगी। यह कहकर उसने तीर चोंच में दबाया और गांव की ओर उड़ गया। गांव के पास नहर थी नहर में किसी आदमी का शव पड़ा था। शायद डूब कर मर गया था कौवे ने डाईज़िंग का तीर मुर्दे के शरीर में मार दिया और जंगल की ओर उड़ गया। कुछ देर बाद कुछ लोग नहर के पास से गुजरे उन्होंने नहर में शव देखा तो रुक गए लाश में तीर लगा था। यह तीर डाईज़िंग का था। उन्होंने पुलिस को खबर कर दी और पुलिस ने डाईज़िंग को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। अब बेचारा डाईज़िंग जेल की कॉल कोठरी में पड़ा आहें भरता रहा, उस कोठरी में बस मक्खी मच्छर ही थे या पिस्सू और चूहे जो इधर उधर दौड़ते फिरते थे। डाईज़िंग ने सोचा चलो उन्हीं की बातें सुनकर समय गुज़ारे। अब वह सुबह होते ही जादू के मोती को ज़बान के नीचे रख लेता और उनकी बातें सुनता। एक सुबह एक चिड़िया दूसरी चिड़िया से कह रही थी इस देश का राजा बहुत मूर्ख है उसके गल्ले के गोदाम से दिन रात चोर चावलों की बोरियां चुरा कर ले जाते हैं अगर यही हाल रहा तो कुछ दिनों में पूरा गोदाम खाली हो जाएगा। डाईज़िंग ने जेलर को बुलाया और उसे यह बात बताई, जेलर को इस बात का विश्वास नहीं हुआ उसने कहा तुम कोई जादूगर हो कि तुम्हें यहां बैठे बैठे चोरी की खबर मिल गई? डाईज़िंग बोला मेरी बात ग़लत हो तो मुझे फांसी दे देना। जेलर ने कोतवाल को यह बात बताई और कोतवाल ने मंत्री को सूचना दी और मंत्री ने यह बात राजा को बताई। उसी रात राजा के सिपाहियों ने गोदाम पर छापा मारा और चोरों को रंगे हाथों पकड़ लिया गोदाम के चौकीदार चोरों से मिले हुए थे वह भी पकड़े गए। बादशाह ने खुश होकर मंत्री को 100 अशरफ़ियाँ दीं, मंत्री ने खुश होकर कोतवाल को 10 अशरफ़ियाँ दे दीं। कोतवाल ने खुश होकर जेलर को भी एक अशरफ़ी दी लेकिन डाईज़िंग को फूटी कौड़ी भी नहीं मिली। कुछ दिन बाद डाईज़िंग ने देखा कि उसकी कोठरी की चींटियाँ बाहर भाग रही हैं, एक चींटी कह रही थी ٴٴचलो चलो किसी ऊंची जगह चलो। पहाड़ों पर मूसलाधार बारिश हो रही है। बाढ़ आने वाली है यह सारे गांव खेत और खलिहान बह जाएंगे। डाईज़िंग ने यह बात जेलर को बताई, जेलर ने कोतवाल को बताई कोतवाल ने मंत्री से कहा और मंत्री ने राजा को बताया। राजा ने उसी समय गांव गांव अपने नौकरों को भेजकर लोगों को चेतावनी दी। लोगों ने जल्दी जल्दी बजरी पत्थर डालकर बांधों को मजबूत कर दिया। और इस तरह बाढ़ का पानी बिना कोई नुकसान पहुंचाए गुजर गया। राजा ने मंत्री से पूछा तुमसे यह बातें कौन कहता है? मंत्री ने कोतवाल, कोतवाल बोला जेलर और जेलर बोला डाईज़िंग जो मेरी जेल में बंद है। राजा ने उसी समय डाईज़िंग को बुलाया और उससे पूछा कि तुम्हें यह बातें कैसे मालूम होती हैं? डाईज़िंग ने सब कुछ सच सच बता दिया राजा बहुत खुश हुआ उसने डाईज़िंग को अपना मंत्री बना लिया। राजा राज्य के कामकाज से छुट्टी पाता तो डाईज़िंग को लेकर किसी ब़गीचे या जंगल में चला जाता और डाईज़िंग उसे विभिन्न जानवरों की बातें सुनाता। राजा बहुत खुश होता और उसे खूब पुरस्कार व इनाम देता। डाईज़िंग ऐश व आराम में ऐसा मस्त हुआ कि अपने गांव के लोगों को भी भूल गया कि मुश्किल वक़्तों में उसकी मदद करते थे। एक दिन राजा ने नदी की सैर का इरादा किया, पानी में रंग बिरंगी मछलियां तैर रही थीं और डाईज़िंग उनकी दिलचस्प बातें राजा को सुना रहा था अचानक एक मछली ने कोई ऐसी बात कही जिसे सुनकर डाईज़िंग ने जोरदार ठहाका लगाया। उसका मुंह खुला तो मोती पानी में गिर पड़ा। राजा ने गोताख़ोरों को आदेश दिया कि वह पानी से मोती निकाल लें। गोताख़ोरों ने पूरी नदी खंगाल डाली लेकिन मोती का कहीं पता न चला। राजा कुछ दिन उदास रहा फिर उसने मनोरंजन का कोई दूसरा प्रबंध कर लिया और डाईज़िंग को महल से निकाल दिया। डाईज़िंग उदास होकर नदी के किनारे बैठ गया और रेत में मोती खोजने लगा, लेकिन कोई फ़ायदा नहीं हुआ और इसी तरह कई दिन बीत गए। उसकी कमर झुके झुके कुबड़ी हो गई, हाथ पांव अकड़ गए अब उससे खड़ा हुआ न जाता था वह केकड़ा बन गया था। आपको कभी दक्षिण चीन के समुद्र तटों पर जाने का संयोग हो तो वहाँ सैकड़ों छोटे छोटे केकड़े अपने पंजों से रेत ख़ोदते दिखाई देंगे और कुछ खोजतो नज़र आएंगे, लोग कहते हैं कि डाईज़िंग की सन्तानें हैं और मोती ढ़ूंढ़ रहे हैं जो सैकड़ों साल पहले नदी में गिर गया था। (यह केवल एक कहानी है।)


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई