Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 60918
Date of publication : 9/10/2014 20:41
Hit : 455

कोबानी को बचाया जाए, इराकी राष्ट्रपति की अपील।

इराक़ के राष्ट्रपति फ़ुवाद मासूम सीरिया के सीमावर्ती और कुर्द आबादी के शहर कोबानी की रक्षा के लिए दाइश आतंकवादी समूह के खिलाफ बनने वाले गठबंधन द्वारा प्रभावी रूप से कार्यवाही कियो जाने की आवश्यकता पर बल दिया है।



विलायत पोर्टलः इराक़ के राष्ट्रपति फ़ुवाद मासूम सीरिया के सीमावर्ती और कुर्द आबादी के शहर कोबानी की रक्षा के लिए दाइश आतंकवादी समूह के खिलाफ बनने वाले गठबंधन द्वारा प्रभावी रूप से कार्यवाही कियो जाने की आवश्यकता पर बल दिया है। सूत्रों के अनुसार इराकी राष्ट्रपति फ़ुवाद मासूम ने बग़दाद में अपने आवास पर अमेरिकी राजदूत से बातचीत में सीरिया के सीमावर्ती शहर कोबानी पर दाइश आतंकवादी गिरोह के हमले की ओर इशारा करते हुए शहर में दाइश आतंकवादी समूह के खिलाफ अमेरिका के नेतृत्व में बनने वाले गठबंधन की ओर से सख्त कार्रवाई की आवश्यकता पर बल दिया है। उन्होंने कुर्द आबादी के इस शहर की ख़तरनाक स्थिति की ओर इशारा करते हुए कहा है कि कोबानी की स्थिति से इराक़ और सीरिया और पूरे क्षेत्र की सुरक्षा पर गहरा असर पड़ सकता है। सीरिया का शहर तुर्की की सीमा के पास स्थित है जहां दाइश आतंकवादी समूह के बर्बर हमले जारी हैं। दूसरी ओर अमेरिका ने कहा है कि कोबानी शहर की बरबादी के बारे में उसे कोई चिंता नहीं है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि तुर्की की सीमा के पास स्थित सीरिया के शहर कोबानी पर दाइश आतंकवादी गिरोह के कब्जे से कोई खास चिंता नहीं होगी। यह ऐसी स्थिति में है कि कोबानी के संभावित पतन पर न केवल क्षेत्रीय बल्कि वैश्विक स्तर पर चिंता जताई जा रही है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ इस्राईल ने कोई क़दम उठाया तो पूरा मिडिल ईस्ट सुलग जाएगा : नेशनल इंटरेस्ट यूरोप ईरान के साथ वैज्ञानिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने को उत्सुक : जर्मनी अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका ।