Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 61006
Date of publication : 11/10/2014 17:32
Hit : 494

इराक़

दाइश के सबसे छोटे अमीराती आतंकवादी की तस्वीरें प्रकाशित।

दाइश आतंकवादी संगठन ने सबसे छोटे सल्फ़ी वहाबी आतंकवादी की तस्वीरें प्रकाशित की हैं जो संयुक्त अरब अमीरात का नागरिक है और इराक़ और सीरिया में दाइश आतंकवादियों के साथ आतंकवादी गतिविधियों में भागीदारी लेता रहा है



विलायत पोर्टलः इराक़ी सूत्रों के अनुसार दाइश आतंकवादी संगठन ने सबसे छोटे सल्फ़ी वहाबी आतंकवादी की तस्वीरें प्रकाशित की हैं जो संयुक्त अरब अमीरात का नागरिक है और इराक़ और सीरिया में दाइश आतंकवादियों के साथ आतंकवादी गतिविधियों में भागीदारी लेता रहा है। एक वीडियो जारी किया है जिसमें कहा गया है कि अबू उबैदा अल-ईसा संयुक्त अरब अमीरात का रहने वाला था और दाइश आतंकवादी संगठन का सबसे छोटा सदस्य था जिसकी उम्र 10 साल थी दाइश का यह छोटा आतंकवादी भी अमेरिकी और अरब सहयोगी हवाई हमले में मारा गया है। ग़ौरतलब में सल्फ़ी वहाबी दाइश आतंकवादी संगठन के तत्वों का संबंध अरबी, एशियाई, यूरोपीय और अमेरिकी देशों से है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अमेरिका यमन युद्ध के नाम पर सऊदी अरब से वसूली को तैयार सऊदी अरब का युवराज मोहम्मद बिन सलमान है जमाल ख़ाशुक़जी का हत्यारा : निक्की हैली अमेरिका में पढ़ने वाले ईरानी अधिकारियों के बच्चों को निकालेगा वाशिंगटन दमिश्क़ का ऐलान,अपना उपग्रह लांच करने के लिए तैयार है सीरिया । ख़ाशुक़जी कांड से हमारा कोई संबंध नहीं , सेंचुरी डील पर ध्यान केंद्रित : जॉर्ड किश्नर हिज़्बुल्लाह - इस्राईल तनाव, लेबनान ने अवैध राष्ट्र सीमा पर सेना तैनात की । सेना की संभावित कार्रवाई से नुस्राह फ्रंट में दहशत, बु कमाल में मिली सामूहिक क़ब्रें आले सऊद और अरब शासकों को उलमा का कड़ा संदेश, इस्राईल से संबंधों को बताया हराम इस्राईल से मधुर संबंधों की होड़ लेकिन क़तर से संबंध सामान्य न करने पर ज़ोर ! काबे के सेवक इस्लाम दुश्मनों से दोस्ती और मुसलमानों से दुश्मनी न करें : आयतुल्लाह ख़ामेनई ईरान को झुकाने की हसरत अपनी क़ब्रों में ले जाना : आईआरजीसी हिज़्बुल्लाह के साथ खड़ा है लेबनान का क्रिश्चियन समाज : इलियास मुर्र ओमान के आसमान में उड़ान भरेंगे इस्राईल के विमान ज़ायोनी आतंक, पोस्टर लगा कर दी फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति की हत्या की सुपारी । महिलाओं के अधिकार, इस्लाम और आधुनिक सभ्यता की निगाह में