Friday - 2018 Oct 19
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 61303
Date of publication : 17/10/2014 23:49
Hit : 523

आयतुल्लाह ख़ात्मीः

आतंकवादियों का समर्थन सऊदी खजाने से।

आयतुल्लाह सैयद अहमद ख़ात्मी ने सऊदी विदेश मंत्री सऊद अलफ़ैसल के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जो यह नहीं जानता है कि सऊदी अरब ने अपने पेट्रो डालरों से दाइश आतंकवादी समूह को जन्म दिया है और इस्लामी देशों में जो भी आतंकवादी कार्रवाई होती उसका समर्थन सऊदी खजाने से होता है।


विलायत पोर्टलः तेहरान की केन्द्रीय नमाज़े जुमा आयतुल्लाह सैयद अहमद ख़ात्मी की इमामत में अदा की गई। तेहरान के इमामे जुमा ने लाखों नमाज़ियों से क्षेत्र में ईरान के खिलाफ़ आले सऊद के विदेश मंत्री के गैर जिम्मेदाराना और गलत बयान की निंदा की। आयतुल्लाह सैयद अहमद ख़ात्मी ने सऊदी विदेश मंत्री सऊद अलफ़ैसल के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जो यह नहीं जानता है कि सऊदी अरब ने अपने पेट्रो डालरों से दाइश आतंकवादी समूह को जन्म दिया है और इस्लामी देशों में जो भी आतंकवादी कार्रवाई होती उसका समर्थन सऊदी खजाने से होता है। आयतुल्लाह सैयद अहमद ख़ात्मी ने कहा कि सऊदी अरब की वजह से क्षेत्र में सारी कठिनाइयां हैं लेकिन यह भी समझा जा सकता है कि सऊदी सरकार किस वजह से गुस्से में है, इसकी वजह यह है कि सऊदी अरब ने सीरिया और इराक़ में करोड़ों डॉलर खर्च करके उनकी सरकारों को गिराने की कोशिश की थी, जिसमें उसे बुरी तरह नाकामी हुई है।

तेहरान के इमामे जुमा ने सऊदी अदालत की ओर से बुज़ुर्ग आलिमे दीन आयतुल्लाह शेख़ बाक़िर नम्र को फांसी की सज़ा सुनाए जाने की निंदा की। उन्होंने कहा कि आयतुल्लाह शेख नम्र बाक़िर नम्र को बहरैन के क्रांतिकारियों, विलायते फ़क़ीह और सऊदी अरब में शिया मुसलमानों के अधिकारों का समर्थन और संघर्ष के मामले में फांसी की सजा दी गई है। उन्होंने कहा कि मानवाधिकार संगठन ईरान में अपराधियों को फांसी की सजा दिए जाने पर शोर मचा रही हैं लेकिन सऊदी अरब के बुजुर्ग आलिमे दीन को फांसी की सजा सुनाए जाने पर मूकदर्शक बनी हुई हैं। आयतुल्लाह सैयद अहमद ख़ात्मी ने कहा आयतुल्लाह शेख बाक़िर नम्र के खिलाफ़ फांसी की सज़ा का फैसला ज़ालेमाना है। उन्होंने ऑले सऊद को चेतावनी दी कि वह इस फैसले पर अमल के बहुत गंभीर परिणाम भुगतना होंगे। उन्होंने मुहर्रम के आगमन पर कहा कि हम सब पर कर्बला और आशूरा के एहसान हैं और सभी मुसलमान कौमें इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम से मुहब्बत करती हैं।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :