नवीनतम लेख

जमाल ख़ाशुक़जी हत्याकांड पर दबाव बढ़ा तो ट्रम्प के लिए संकट खड़ा कर सकता है बिन सलमान ! ज़ायरीन को निशाना बनाने के लिए महिलाओं की वेशभूषा में आए संदिग्ध गिरफ्तार ट्रम्प की ईरान विरोधी नीतियों ने सऊदी अरब को दुस्साहस दिया, सऊदी राजदूतों को देश निकाला दिया जाए । कर्बला से ज़ुल्म के ख़िलाफ़ डट कर मुक़ाबले की सीख मिलती है... अफ़ग़ान युद्ध की दलदल से निकलने के लिए हाथ पैर मार रहा है अमेरिका : वीकली स्टैंडर्ड ईरान में घुसपैठ करने की हसरत पर फिर पानी, आईएसआईएस पर सेना का कड़ा प्रहार ईरान से तेल आयात जारी रखेगा श्रीलंका, भारत की सहायता से अमेरिकी प्रतिबंधों से छूट पाने में जुटा ड्रामा बंद करे आले सऊद, ट्रम्प और जॉर्ड किश्नर को खरीदा होगा अमेरिका को नहीं : टेड लियू ज़ायोनी सैनिकों ने किया क़ुद्स के गवर्नर का अपहरण ट्रम्प ने दी बिन सलमान को क्लीन चिट, हथियार डील नहीं होगी रद्द रूस के कड़े तेवर, एकध्रुवीय दुनिया का सपना देखना छोड़ दे अमेरिका आले सऊद ने अमेरिका के आदेश पर ख़ाशुक़जी के क़त्ल की बात स्वीकारी : मुजतहिद एक पत्रकार की हत्या पर आसमान सर पर उठाने वाला पश्चिमी जगत और अमेरिका यमन पर चुप क्यों ? जमाल ख़ाशुक़जी हत्याकांड में ट्रम्प के दामाद की भूमिका की जांच हो साम्राज्यवाद के मुक़ाबले पर डटा ईरान और ग़ुलामी करते मुस्लिम देशों में ज़मीन आसमान का फ़र्क़ : फहवी हुसैन
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 61346
Date of publication : 18/10/2014 21:58
Hit : 447

हज़रत आयतुल्लाह उज़्मा ख़ामेनई

इस्लामी और क्रांतिकारी संस्कृति के दुश्मनों को निराश कर दें

ईरान के इस्लामी इंक़ेलाब के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाहिल उज़्मा ख़ामेनई ने सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के नए दौर की शुरुआत के अवसर पर अपने आदेश में संस्कृति के क्षेत्र में स्ट्रॉटेजिक चुनौतियों के मैनेजमेंट के संबंध में सभी अवसरों और क्षमताओं से भरपूर और पूरा फ़ायदा उठाने, समझदारी व उचित निगाह के साथ ख़तरों और नुक़सान को महार व कंट्रोल करने और दुश्मन के षड़यंत्रों का सावधानी व होशियारी के साथ मुक़ाबला करने को सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के असली दायित्वों और जिम्मेदारियों में बताया है।


विलायत पोर्टलः ईरान के इस्लामी इंक़ेलाब के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाहिल उज़्मा ख़ामेनई ने सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के नए दौर की शुरुआत के अवसर पर अपने आदेश में संस्कृति के क्षेत्र में स्ट्रॉटेजिक चुनौतियों के मैनेजमेंट के संबंध में सभी अवसरों और क्षमताओं से भरपूर और पूरा फ़ायदा उठाने, समझदारी व उचित निगाह के साथ ख़तरों और नुक़सान को महार कंट्रोल करने और दुश्मन के षड़यंत्रों का सावधानी व होशियारी के साथ मुक़ाबला करने को सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के असली दायित्वों और जिम्मेदारियों में बताया है

इस्लामी इंक़ेलाब के सुप्रीम लीडर ने अनुमोदित पिछले नियमों में 7 अन्य वरीयताओं को सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के दायित्वों में करार दिया है और उन्हें तत्काल लागू करने पर बल दिया है और इस्लामी क्रांतिकारी संस्कृति के समर्थकों और विरोधियों के मोर्चे के साथ इनोवेशन और तेज़ रफ़तार पर जोर दिया और देश में साइंस और टेक्नॉलोजी की प्रगति विकास में बिजली जैसी तेज़ी लाने, देश के शैक्षिक और प्रशिक्षण प्रणाली विशेषकर मानव विज्ञान में तब्दीली और परिवर्तन के मामलों को तय किया और सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के सदस्यों में तीन न्यायिक सदस्यों की वृद्धि की।

इस्लामी इंक़ेलाब के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई का आदेश इस प्रकार है

बिस्मिल्लाहिर् रहमानिर् रहीम

इस्लामी क्रांति की सांस्कृतिक वास्तविकता के कार्यान्वयन, स्थिरता, व्याख्या, इस्लामी क्रांति के सांस्कृतिक मोर्चे लगातार पुनर्गठन, ईरान की महान उपयोगिताओं और क्षमताओं के मद्देनजर देश के सांस्कृतिक विकास पर नज़र रखना वास्तव में सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के गठन का फ़लसफ़ा है।

इस विभाग में स्ट्रॉटेजिक चुनौतियों के मैनेजमेंट, सभी अवसरों और क्षमताओं से भरपूर और संपूर्ण फ़ायदा उठाना तथा समझदारी और उचित निगाह के साथ जोखिमों और चुनौतियों को कंट्रोल करना और दुश्मनों के हमलों का सावधानी के साथ मुक़ाबला करना इस परिषद की वास्तविक जिम्मेदारियों और दायित्वों का हिस्सा है

ज्ञान का उत्पादन, जीवन शैली, शिक्षा और अनुसंधान, सार्वजनिक संस्कृति और कल्चरल इंजीनियरिंग इश विभाग के प्रमुख आधार और बुनियादी क्षेत्र व तत्व हैं और ईरान में इन तत्वों को संगठित करने की जिम्मेदारी सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के कांधों पर रखी गई है

अपने शीर्षक और नाम के साथ सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद की प्रतिबद्धता उस महान जिम्मेदारी में उसकी सफलता की असली शर्त है जो उसके कंधों पर रखी गई है

सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के एक और दौर के पूरा होने और नए युग की शुरुआत के मद्देनजर इस परिषद के पिछले दौर के वास्तविक और न्यायिक सदस्यों के साथ राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की रणनीतिक योजना और महिलाओं व परिवार के मामलों में राष्ट्रपति के स्ट्रॉटेजिक निरीक्षण और तब्लीग़ाते इस्लामी के प्रमुख को न्यायिक सदस्यों के रूप में तीन साल की अवधि के लिए इस परिषद में नियुक्त करता हूँ।

सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद के अध्यक्ष, सचिव एवं सदस्यों के लगातार प्रयासों और मेहनतों पर उनका धन्यवाद करना आवश्यक समझता हूँ और नई परिषद के लिए निम्नलिखित प्राथमिकताओं की घोषणा करता हूँ

1. पिछले वर्षों में जारी की गईं प्राथमिकताओं के बारे में परिषद के अच्छे प्रयासों के बावजूद, आज सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद की असली जिम्मेदारी अनुमोदित नियमों को लागू करने और पूरा नतीजा हासिल हो जाने तक जारी रहने चाहियें।

2. इस्लामी और क्रांतिकारी संस्कृति के समर्थकों और विरोधियों के बीच गंभीर टकराव के मद्देनजर, सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद को खुले सांस्कृतिक मोर्चा बंदी के साथ नवीनीकरण और सक्रिय गति अपनानी चाहिए और इस्लामी और क्रांतिकारी संस्कृति के समर्थकों के देश और विदेश में प्रोत्साहन और इस्लामी और क्रांतिकारी संस्कृति के दुश्मनों को निराश करने की तलाश और कोशिश करनी चाहिए
3. सार्वजनिक स्तर पर सांस्कृतिक गतिविधियों के अनगिनत अवसर विशेष कर मोमिन और क्रांतिकारी जवानों के सांस्कृतिक प्रयासों के मद्देनजर इस्लामी प्रणाली की सांस्कृतिक संस्थाओं और उनके शीर्ष पर सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद को अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए और सुविधाएं उप्लब्ध करने के संबंध में आड़े आने वाली बाधाओं को हटाने के लिये तलाश और कोशिश करनी चाहिए

4. सही नीतियों, लगातार तलाश कोशिश और उपभोग व उत्पादन की गुणवत्ता और मात्रा में सुधार और राष्ट्रीय क्षमताओं से फ़ायदा उठाये बिना सांस्कृतिक उत्पादों और चीज़ों को मैदान में पेश करना संभव नहीं होगा। सांस्कृतिक मैनेजमेंट, सांस्कृतिक गतिविधियों और सांस्कृतिक इंजीनियरिंग के साथ इस क्षेत्र में सफलता संभव होगी। सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद को सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर और सांस्कृतिक क्षेत्र में मानव संसाधन की सभी क्षमताओं को उक्त और उचित शर्तों के साथ बढ़ावा देना चाहिये और उनका पुनर्गठन करना चाहिए

5. देश के साइंस और टेक्नॉलोजी के क्षेत्र में बिजली की गति से प्रगति और विकास, देश की मुख्य प्राथमिकताओं में है और सांस्कृतिक क्रांति की सर्वोच्च परिषद की इसमें महत्वपूर्ण भूमिका हैअलहमदो लिल्लाह देश के व्यापक नक्शे और अनुमोदन के साथ, साइंस और टेक्नॉलोजी के विभाग ने अपना रोडमैप और नक्शा हासिल कर लिया है और व्यापक ज्ञानात्मक नक्शे की स्ट्रॉटेजिक समिति का गठन हौ गया है और उसने इस राह में हरकत शुरू कर दी है और अब तक उसने अच्छे परिणाम प्रस्तुत किए हैं

इस रास्ते पर अग्रसर रहने के लिए अधिकारियों विशेषकर सरकार और तीनों ताक़तों के प्रमुखों को बहुत ज़्यादा अमल करने की जरूरत है।

देश की इल्मी प्रगति और विकास में किसी भी सूरत में कमी नहीं होनी चाहिए बल्कि देश के इल्मी विकास और प्रगति में दिन प्रतिदिन वृद्धि होनी चाहिए और सांस्कृतिक परिषद को भी इस संबंध में अपनी भूमिका गंभीरता के साथ अंजाम देनी चाहिए

6 .देश के उच्च शिक्षा संस्थान और शिक्षा मंत्रालय को मानव साइंस में शिक्षा और प्रशिक्षण प्रणाली में सांस्कृतिक इंजीनियरिंग, परिवर्तन और क्रांति, आधुनिक संगठन पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए क्योंकि अभी तक इस क्षेत्र में आवश्यक सीमा तक नहीं पहुंच सके हैंऔर मामलों में देरी करने से इस्लामी क्रांति को बहुत अधिक नुकसान का सामना करना पड़ेगा इसलिए इन मुद्दों पर गंभीरता से ध्यान देना चाहिए और एक उचित अवधि के भीतर इस पर नए सिरे से नजर करके उसे नतीजे तक पहुंचाना चाहिए

7. समय पर सांस्कृतिक परिषद की बैठकों का आयोजन, सदस्यों खासतौर से तीनों शक्तियों के प्रमुखों की सक्रिय भागीदारी, बहस और विचार विमर्श और सभी सदस्यों खासतौर वास्तविक सदस्यों की हिम्मत और समय देने पर बल दिया जाता है

अल्लाह की बारगाह से सभी लोगों के लिए तौफ़ीक की दुआ करता हूँ

सैयद अली ख़ामेनई

18.10.2014


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :