Thursday - 2018 July 19
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 63159
Date of publication : 21/11/2014 0:9
Hit : 473

फ़िलिस्तीन की स्वतंत्रता के पक्ष में स्पेन के वोट पर इस्राईल नाराज़।

फ़िलिस्तीन की स्वतंत्रता के पक्ष में वोट देने पर इस्राईल ने स्पेन की आलोचना की है। रिपोर्ट के अनुसार फिलिस्तीन को एक स्वतंत्र राज्य स्वीकार करने के पक्ष में स्पेन के वोट की इस्राईली अधिकारियों ने कड़ी आलोचना की है।


विलायत पोर्टलः फ़िलिस्तीन की स्वतंत्रता के पक्ष में वोट देने पर इस्राईल ने स्पेन की आलोचना की है। रिपोर्ट के अनुसार फिलिस्तीन को एक स्वतंत्र राज्य स्वीकार करने के पक्ष में स्पेन के वोट की इस्राईली अधिकारियों ने कड़ी आलोचना की है।
इस्राईली विदेश मंत्रालय ने कहा है कि स्पैनिश संसद का यह संकल्प इस्राईल और फिलिस्तीन को एक समझौते पर पहुंचने में अड़चनें ही पैदा कर सकता है क्योंकि यह बिल फ़िलिस्तीनियों को अपने पक्ष पर खड़े रहने का साहस देगा।
मंगलवार के दिन स्पैनिश सांसदों ने समाजवादी विपक्षी पार्टी के एक बिल पास किया जिसमें फ़िलिस्तीन को एक संप्रभु राज्य स्वीकार करने की मांग की गई थी। इस बिल को 319 वोट मिले, 2 वोट उसके खिलाफ़ गए जबकि एक वोट नहीं पड़ा और इस बिल में प्रधानमंत्री मेरी नौ राजाई को यूरोपीय संघ के साथ सहयोग को बढ़ावा देने और फिलिस्तीन को एक संप्रभु लोकतांत्रिक और स्वतंत्र राज्य स्वीकार करने पर जोर दिया गया।
फ्रांस की नेशनल असेंबली में भी 28 नवंबर को फिलिस्तीन को एक स्वतंत्र राज्य स्वीकार करने के लिए वोट डालें जाएंगे।
ब्रिटेन और आयरलैंड ने 30 अक्टूबर को ही फ़िलिस्तीन को एक स्वतंत्र राज्य स्वीकार करना का बिल पास किया है। जबकि स्वीडन ने एक कदम आगे चलकर फ़िलिस्तीन को आधिकारिक तौर पर स्वायत्त सरकार स्वीकार किया है।
स्वीडेन के विदेश मंत्री मरगोड वालिसट्राम ने अमेरिका की ओर से आलोचना को खारिज करते हुए कहा कि हमारे राज्य का राजनीतिक फैसला अमेरिका नहीं कर सकता है।
एक राज्य का दर्जा मिलने से फिलिस्तीन को संयुक्त राष्ट्र एजेंसीज़ और अंतर-राष्ट्रीय आपराधिक अदालत पहुँच हो चुकी है जिसकी बिना पर वह ग़ासिब इस्राईली सरकार के खिलाफ़ औपचारिक शिकायत दर्ज करा सकते हैं।
ग़ौरतलब है कि फ़िलिस्तीन पश्चिमी तट, पूर्वी यरूशलेम और ग़ज़्जा पट्टी के क्षेत्रों पर एक स्वतंत्र राज्य स्थापित करने की कोशिश कर रहा है और इस्राईल से अधिकृत फिलिस्तीनी क्षेत्रों को वापस करने की मांग कर रहा है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :