Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 64195
Date of publication : 3/12/2014 23:37
Hit : 492

न्यूज़वीक:

पहले सुलैमानी ने अमेरिका से जंग लड़ी और अब वह ISIL को नाबूद कर रहे हैं।

अमेरिका की मशहूर मैगज़ीन न्यूज़वीक के कवर पेज पर छपी ईरान के जनरल क़ासिम सुलैमानी की तस्वीर के दाईं तरफ़ यह लिखा है “(first he fought america। Now he is crushing isis)”: पहले उन्होंने अमेरिका से जंग की और अब वह ISIL को नाबूद कर रहे हैं।
विलायत पोर्टलः अमेरिका की मशहूर मैगज़ीन न्यूज़वीक के कवर पेज पर छपी ईरान के जनरल क़ासिम सुलैमानी की तस्वीर के दाईं तरफ़ यह लिखा है “(first he fought america। Now he is crushing isis)”: पहले उन्होंने अमेरिका से जंग की और अब वह ISIL को नाबूद कर रहे हैं।
अमेरिका की सबसे महत्वपूर्ण राजनीतिक मैगज़ीन ने अपने ताज़ा इशू के कवर पेज पर ईरान के जनरल क़ासिम सुलैमानी की तस्वीर छाप कर उन्हें “इंतेक़ाम के ख़ुदा” का नाम दिया है। मैगज़ीन न्यूज़वीक (Newsweek) ने बअसी हुकूमत के बाद इराक़ के राजनीतिक हालात में बदलाव की रिपोर्ट देते हुए जनरल क़ासिम सुलैमानी को उस इंसान के रूप में याद किया है जिनके हाथ में इराक़ का सैन्य नेतृत्व और स्ट्रॉटेजिक कमान है। न्यूज़वीक के विश्लेषकों ने इस रिपोर्ट में लिखा: “ईरानियों ने सिपाहे पासदारान की क़ुद्दसा फ़ोर्स के कमांडर और फ़ौजी मास्टर माइंड को इराक़ भेजा है जो इराक के बहुत सारे उच्च कमांडरों का मार्गदर्शन कर रहे हैं। यह ऐसे हाल में है कि जनरल क़ासिम सुलैमानी खुद को किसी स्थान पर प्रकट नहीं करते लेकिन पिछले महीने सितंबर में उन्होंने आमुरली ऑप्रेशन में अपने फोटो लिए जाने की अनुमति दी। उनका यह कदम पश्चिम को यह बताना था कि ईरान इराक़ में मौजूद है।”


न्यूज़वीक ने लिखाः इराकी राजनीतिज्ञ उनके बारे में खास तौर पर कहते हैः “वह आमतौर पर बग़दाद और उत्तरी इराक में मौजूद रहते हैं और इराक़ की सरकार इस बात से अवगत है। जनरल सुलैमानी एक समझदार आदमी है और वह खुद भी जानते हैं कि वह एक एक्सपर्ट लड़ाके हैं। “इराक़ी इस बात का खुल्लम खुल्ला ऐलान करते हैं कि उन्हें ईरान के इराक़ में मौजूद होने से कोई परेशानी नहीं है। इराक़ की संसद के सदस्य और पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डा मुवफ़्फ़क़ अल-रबीई इस बारे में कहते हैं: “वह कौन है जो मूसेल पर क़ब्जा किए जाने के बाद तीसरे दिन इराकी सेना की मदद करने पहुंच गया? वास्तव में अमेरिका नहीं था।
उन्होंने तो तीन महीने बाद हवाई हमलों का ढोंग रचाना शुरू किया वह भी तब जब उनके निवासियों के सिर काटे जाने लगे। यह ऐसे हाल में हुआ कि ईरान, इराक के केंद्रीय सरकार के निमंत्रण पर एक दिन के अंदर उनकी सहायता के लिए पहुंच गया।“ कुछ प्वाइंट न्यूज़वीक की रिपोर्ट की कुछ बातें ऊपर बयान करने के बाद अब कुछ प्वाइंट्स की ओर इशारा करते हैः इस इशू के कवर पेज पर जनरल क़ासिम सुलैमानी की दी हुई तस्वीर पर बड़े बड़े अक्षरों में “NEMESIS” शब्द लिखा हुआ है जो बदला लेने और प्रतिशोध के अर्थ में इस्तेमाल होता है।
यूनानी कहानियों में “NEMESIS” अच्छाई और बुराई के ख़ुदा या न्याय और प्रतिशोध के देवता को कहा जाता था, यूनानी भाषा में इस शब्द का पर्यायवाची Νέμεσις है जिसका मतलब “प्रतिशोध का देवता” है। यूनानी भाषा में इस शब्द की व्याख्या करते हुए कहा गया है कि यूनानी घटनाओं में बेवफ़ा आशिकों, क़ानून तोड़ने वालों और लापरवाह लोगों को सजा देने वाले को Νέμεσις कहते हैं। ऐसे इंसान की जो तस्वीर और मूर्ति बनाई जाती है उसके दो पर होते हैं जो हाथ में आग की छड़ी लेकर जंग करता है।
प्रतिशोध का ख़ुदा, दंगा और फ़साद करने वाले लोगों के लिए परेशानी का कारण होता है जिन्हें “Echo” and “Narcissus” होते हैं। नारकिसोस वह शिकारी पक्षी है जो अपनी दिखावटी ख़ूबसूरती के माध्यम से अपने आशिक़ों को धोखा देता है। लेकिन “NEMESIS” उसके असली रूप को सामने लाता है और उसके झूठ से पर्दा हटा कर सच्चाई को सामने लाता है और नारकिसोस को परेशानी में डाल देता है और आखिरकार वह हार का सामना करके अपनी जान से हाथ धो बैठता है।
लेकिन न्यूज़वीक के विश्लेषकों से यह सवाल पूछना उचित होगा कि नारकिसोस से उनकी मुराद क्या है? क्या नारकिसोस वही अमेरिका नहीं है कि जो इस शिकारी पक्षी की तरह अपनी दिखावटी खूबसूरती से पूरी दुनिया को अपना प्रेमी बनाकर धोखा दे रहा है और उन पर अत्याचार कर रहा है? क्या तकफीरी आतंकी टोलियां अमेरिका की देन नहीं हैं जो इस समय खुद उसके लिए बवाले जान बनी हुई हैं और “NEMESIS” (जनरल क़ासिम सुलैमानी) इराक़ में अमेरिका और ISIL दोनों को नाको चने चबवाने में व्यस्त हैं? शायद न्यूज़वीक के कवर पेज पर जनरल क़ासिम सुलैमानी की तस्वीर की दाईं ओर लिखी हुई हेडिंग इस पहेली को हल करने में सहायक साबित हो” पहले उन्होंने अमेरिका से जंग की और अब वह ISIL को नाबूद कर रहे हैं” (first he fought america now he is crushing isis)। गौरतलब है कि न्यूज़वीक अमेरिका के वॉशिंगटन शहर में वॉशिंगटन पोस्ट इंस्टिट्यूट (Washington Post Institute) के माध्यम से छपता है और अमेरिका के सभी राज्यों में भेजा होता है। इसका मुख्य कार्यालय न्यूयार्क में है जबकि अमेरिका के अन्य राज्यों और दुनिया में उसकी 17 ब्रांचें हैं।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अमेरिका उत्तर पूर्वी सीरिया से अपनी सेना निकलने को तैयार : वाल स्ट्रीट जर्नल सीरिया और इराक से भागे वहाबी आतंकियों का अगला निशाना अफ़्रीका । ईरान के चाबहार बंदरगाह पर भारत की योजना को हमारा समर्थन : यूरोपीय संघ अवैध राष्ट्र को आले सऊद का तोहफा, बिना वीज़ा सऊदी अरब आ सकेंगे इस्राईली कारोबारी। उमर बशीर के बाद सीरिया यात्रा पर जाने वाला अरब शासक कौन ? हमास नेता को मॉस्को यात्रा के निमंत्रण से बौखलाया इस्राईल, विरोध दर्ज कराया अमेरिका ने दिया कुर्द बलों को धोखा, सीरियन सेना में सम्मिलित हों कुर्द लड़ाके : YPG नेतन्याहू का ऐलान, ईरान से युद्ध कर रहे हैं अमेरिका और इस्राईल आईएसआईएस ने 700 से अधिक बंदियों को मौत के घाट उतारा संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का सम्मान करते हैं लेकिन इस्राईल की नकेल कसो : लेबनान दक्षिण कोरिया ने आंग सान सू ची से ग्वांगजू पुरस्कार वापस लेने का फैसला किया । सूडान ने इस्राईल के अरमानों पर पानी फेरा, संबंध सामान्य करने से किया इंकार । हज़रत फ़ातिमा मासूमा स.अ. सऊदी अरब का अमेरिका को कड़ा संदेश, हमारे मामले में मुंह बंद रखे सीनेट । इदलिब की आज़ादी प्राथमिकता, अतिक्रमणकारियों को सीरिया से भागना ही होगा : दमिश्क़