Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 64867
Date of publication : 17/12/2014 21:59
Hit : 345

लेबनान के शिया मौलाना

तकफीरी आतंकवाद के मुकाबले के लिए एकजुट हों मुसलमान।

लेबनान के एक प्रमुख शिया मौलाना ऑस्ट्रेलियाई शहर सिडनी में एक कैफे में लोगों को बंधक बनाए जाने की घटना की निंदा करते हुए कहा है कि इस घटना का इस्लाम से कोई संबंध नहीं है।



विलायत पोर्टलः लेबनान के एक प्रमुख शिया मौलाना ऑस्ट्रेलियाई शहर सिडनी में एक कैफे में लोगों को बंधक बनाए जाने की घटना की निंदा करते हुए कहा है कि इस घटना का इस्लाम से कोई संबंध नहीं है।
रिपोर्ट के अनुसार लेबनान के प्रमुख शिया मौलाना सैयद अली फ़ज़्लुल्लाह ने ऑस्ट्रेलियाई शहर सिडनी में एक कैफे में लोगों को बंधक बनाए जाने की घटना की निंदा करते हुए कहा है कि इस घटना का इस्लाम से कोई संबंध नहीं है। सैयद अली फ़ज़्लुल्लाह ने जारी किये गये अपने बयान में कहा है कि इस तरह की आतंकवादी गतिविधियां इस्लाम की निगाह में हराम है और सभी धार्मिक एवं नैतिक सिद्धांतों के विपरीत है।
उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई मुसलमानों से ताकीद की है कि वह इस्लाम की छवि को विकृत करने की आतंकवादियों की कोशिश को रोकने के लिए ज्यादा से ज़्यादा चरमपंथ और आतंकवाद से संबंधित इस्लाम के दृष्टिकोण को आम करें। मौलाना ने तकफीरी उग्रवाद और आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए आस्ट्रेलियाई मुसलमानों से एकजुट होने की अपील की है।
आस्ट्रेलियाई मीडिया के अनुसार सिडनी के कैफे में हमलावर की पहचान एक ईरानी मूल के एक अपराधी हारून यूनुस के रूप में हुई है जो पिछले 18 साल से ऑस्ट्रेलिया में शरणार्थी की था और ईरान सरकार की बार बार मांग के बाद भी आस्ट्रेलिया सरकार ने उस अपराधी को ईरान के हवाले नहीं किया था।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हिज़्बुल्लाह से हार के बाद जीत का मुंह देखने को तरस गया इस्राईल : ज़ायोनी मंत्री शौहर क्या करे कि घर जन्नत की मिसाल हो इस्राईल दहशत में, जौलान हाइट्स पर युद्ध छेड़ सकता है हिज़्बुल्लाह अय्याश सऊदी युवराज का दिमाग़ी संतुलन सही नहीं : लिंडसे ग्राहम ईरान प्रतिरोध का केंद्र और फिलिस्तीन का सच्चा समर्थक : सूर उलमा एसोसिएशन डूबते नेतन्याहू को ईरान परमाणु समझौते का सहारा ? सऊदी तानाशाह ने बोली इस्राईल की भाषा, ईरान के मिसाइल और परमाणु कार्यक्रम को रोके विश्व समुदाय सऊदी अरब पर शिकंजा कसा, जर्मनी ने 18 सऊदी लोगों पर प्रतिबंध लगाया अफ़ग़ानिस्तान के अधिकांश भाग पर तालेबान का क़ब्ज़ा, अमेरिका ने हार मानी ख़ाशुक़जी हत्याकांड के केंद्र में आया "अंधेरों का राजकुमार " आले सऊद शांति चाहते हैं तो यमन जवाबी हमले रोकने को तैयार : अल हौसी आयतुल्लाह फ़ाज़िल लंकरानी र.ह. की ज़िंदगी पर एक निगाह इदलिब, दमिश्क़ ने आतंकी संगठनों के खिलाफ सैन्य अभियान शुरू किया सऊदी अरब के साथ अपने संबंधों पर फिर विचार करे अमेरिका : बर्नी सैंडर्स आंग सान सू ची के साथ बराक ओबामा से भी छीना जाए नोबेल शांति पुरस्कार