Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 64946
Date of publication : 20/12/2014 8:57
Hit : 336

अमेरिका और उसके वहाबी घटक, अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के जिम्मेदार।

ब्रिटेन के एक विशेषज्ञ ने अमेरिका और उसके वहाबी सहयोगियों को दुनिया भर के आतंकवादी हमलों का जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि पेशावर कांड की जिम्मेदारी भी इन्हीं देशों पर लगाई जानी चाहिये।



विलायत पोर्टलः ब्रिटेन के एक विशेषज्ञ ने अमेरिका और उसके वहाबी सहयोगियों को दुनिया भर के आतंकवादी हमलों का जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि पेशावर कांड की जिम्मेदारी भी इन्हीं देशों पर लगाई जानी चाहिये।
रिपोर्ट के अनुसार प्रेस टीवी के साथ बातचीत में मध्य पूर्व मामलों के विशेषज्ञ हफसह कारा मुस्तफ़ा ने कहा है कि 16 दिसंबर को पेशावर में स्कूल में हुए आतंकवादी हमले का ज़िम्मदार अमेरिका और सऊदी अरब को ठहराना चाहिये। उन्होंने कहा कि इस घटना की ज़िम्मेदारी अमेरिका, सऊदी अरब और क़तर पर है।
हफसह कारा ने दक्षिण एशिया और मध्य पूर्व में आतंकवाद को बढ़ावा देने पर आले सऊद की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि आतंकवादी गिरोह में शामिल नौ जवानों को वहाबी सोच रखने वाले लोग गुमराह कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि अमेरिका ने इतिहास में दिस देश में भी हस्तक्षेप किया है उस देश को हिंसा, खून ख़राबा और भ्रष्टाचार उपहार में मिला है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हिज़्बुल्लाह से हार के बाद जीत का मुंह देखने को तरस गया इस्राईल : ज़ायोनी मंत्री शौहर क्या करे कि घर जन्नत की मिसाल हो इस्राईल दहशत में, जौलान हाइट्स पर युद्ध छेड़ सकता है हिज़्बुल्लाह अय्याश सऊदी युवराज का दिमाग़ी संतुलन सही नहीं : लिंडसे ग्राहम ईरान प्रतिरोध का केंद्र और फिलिस्तीन का सच्चा समर्थक : सूर उलमा एसोसिएशन डूबते नेतन्याहू को ईरान परमाणु समझौते का सहारा ? सऊदी तानाशाह ने बोली इस्राईल की भाषा, ईरान के मिसाइल और परमाणु कार्यक्रम को रोके विश्व समुदाय सऊदी अरब पर शिकंजा कसा, जर्मनी ने 18 सऊदी लोगों पर प्रतिबंध लगाया अफ़ग़ानिस्तान के अधिकांश भाग पर तालेबान का क़ब्ज़ा, अमेरिका ने हार मानी ख़ाशुक़जी हत्याकांड के केंद्र में आया "अंधेरों का राजकुमार " आले सऊद शांति चाहते हैं तो यमन जवाबी हमले रोकने को तैयार : अल हौसी आयतुल्लाह फ़ाज़िल लंकरानी र.ह. की ज़िंदगी पर एक निगाह इदलिब, दमिश्क़ ने आतंकी संगठनों के खिलाफ सैन्य अभियान शुरू किया सऊदी अरब के साथ अपने संबंधों पर फिर विचार करे अमेरिका : बर्नी सैंडर्स आंग सान सू ची के साथ बराक ओबामा से भी छीना जाए नोबेल शांति पुरस्कार