Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 65046
Date of publication : 20/12/2014 19:39
Hit : 340

इस्राईल नवंबर 2017 तक फ़िलिस्तीनी क्षेत्रों को खाली कर दे।

फिलिस्तीन ने इस्राईल द्वारा क़ब्जा किए जाने वाले क्षेत्र खाली करने के टाइमटेबुल का मसौदा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पेश किया है।



विलायत पोर्टलः फिलिस्तीन ने इस्राईल द्वारा क़ब्जा किए जाने वाले क्षेत्र खाली करने के टाइमटेबुल का मसौदा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पेश किया है। प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार फिलिस्तीन ने इस्राईल द्वारा क़ब्जा किए जाने वाले क्षेत्र खाली करने की समय सारिणी का मसौदा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पेश कर दिया गया है। जॉर्डन की ओर से पेश किए जाने वाले मसौदे में इस्राईल से कहा गया है कि वह नवंबर 2017 तक फ़िलिस्तीनी क्षेत्रों को खाली कर दे। जॉर्डन ने इस बात का संकेत दिया है कि वह इस मसौदे पर त्वरित जनमत संग्रह के लिए जोर नहीं देगा। जॉर्डन का रुख यह है कि वह इस मसौदे पर अमेरिकी समर्थन हासिल करने के लिए बातचीत का समर्थक है। उधर इस्राईल के प्रधानमंत्री बिनियामेन नियतेन याहू ने अमेरिका से यह आश्वासन हासिल कर लिया है कि वह ऐसे किसी भी प्रस्ताव को वीटो कर देगा। इससे पहले अमेरिकी विदेश मंत्री जॉनकेरी ने मंगलवार को लंदन में फ़िलिस्तीनी वार्ताकार साएब अरीक़ात से होने वाली मुलाक़ात में इस प्रस्ताव पर विचार विमर्श किया। जॉन केरी ने कहा कि अमेरिका ने फ़िलिस्तीनी क्षेत्र खाली करने की समय सारिणी के मसौदे पर किसी भी तरह की प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है। गौरतलब है कि जब सुरक्षा परिषद में कोई प्रस्ताव पेश किया जाता है तो 15 सदस्य पर 24 घंटों के बाद जनमत संग्रह कर सकते हैं लेकिन राजनयिकों का कहना है कि इस मसौदे पर अधिक बातचीत के लिए कई सप्ताह लग सकते हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में किसी भी प्रस्ताव को पारित करने के लिए नौ वोटों की ज़रूरत होती है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हिज़्बुल्लाह से हार के बाद जीत का मुंह देखने को तरस गया इस्राईल : ज़ायोनी मंत्री शौहर क्या करे कि घर जन्नत की मिसाल हो इस्राईल दहशत में, जौलान हाइट्स पर युद्ध छेड़ सकता है हिज़्बुल्लाह अय्याश सऊदी युवराज का दिमाग़ी संतुलन सही नहीं : लिंडसे ग्राहम ईरान प्रतिरोध का केंद्र और फिलिस्तीन का सच्चा समर्थक : सूर उलमा एसोसिएशन डूबते नेतन्याहू को ईरान परमाणु समझौते का सहारा ? सऊदी तानाशाह ने बोली इस्राईल की भाषा, ईरान के मिसाइल और परमाणु कार्यक्रम को रोके विश्व समुदाय सऊदी अरब पर शिकंजा कसा, जर्मनी ने 18 सऊदी लोगों पर प्रतिबंध लगाया अफ़ग़ानिस्तान के अधिकांश भाग पर तालेबान का क़ब्ज़ा, अमेरिका ने हार मानी ख़ाशुक़जी हत्याकांड के केंद्र में आया "अंधेरों का राजकुमार " आले सऊद शांति चाहते हैं तो यमन जवाबी हमले रोकने को तैयार : अल हौसी आयतुल्लाह फ़ाज़िल लंकरानी र.ह. की ज़िंदगी पर एक निगाह इदलिब, दमिश्क़ ने आतंकी संगठनों के खिलाफ सैन्य अभियान शुरू किया सऊदी अरब के साथ अपने संबंधों पर फिर विचार करे अमेरिका : बर्नी सैंडर्स आंग सान सू ची के साथ बराक ओबामा से भी छीना जाए नोबेल शांति पुरस्कार