Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 77196
Date of publication : 18/6/2015 3:20
Hit : 441

इस्राईल की सऊदी अरब में एम्बेसी खोलने की कोशिश

सऊदी अरब के बहुत ज़्यादा प्रभावशाली और मशहूर पत्रकार ने कहा है कि वे रियाज़ में ईरान की इम्बेसी की जगह पर इस्राईली का एम्बेसी खोले जाने का ज़्यादा पसंद करते हैं।


विलायत पोर्टलः सऊदी अरब के बहुत ज़्यादा प्रभावशाली और मशहूर पत्रकार ने कहा है कि वे रियाज़ में ईरान की इम्बेसी की जगह पर इस्राईली का एम्बेसी खोले जाने का ज़्यादा पसंद करते हैं। सऊदी अरब के मशहूर पत्रकार देहाम अलअन्ज़ी ने अपने ट्विटर एकांउट पर लिखा है कि मैं तेल अवीव में सऊदी अरब की एम्बेसी खोले जाने के काम में मदद के लिए तैयार हूं और मुझे जनरल अनवर इश्क़ी को इस्राईल में सऊदी अरब का पहला राजदूत बनाए जाने पर खुशी होगी जिसके बाद मैं स्वयं राजदूत बनना पसन्द करूंगा। उन्होंने अपने एक ट्विट में कहा है कि मैं सऊदी अरब में ईरान के एम्बेसी को हटा कर उस जगह पर इस्राईल की एम्बेसी खोले जाने का स्वागत करता हूं जिसके बाद दोनों मिल कर ईरान के परमाणु प्रतिष्ठानों को तबाह करेंगे। देहाम अलअन्ज़ी सऊदी अरब के सबसे मशहूर पत्रकार हैं। इसी बीच इस्राईल के मआरियो समाचारपत्र की वेबसाइट ने लिखा है कि सऊदी अरब, इस्राईल के साथ अपने संबंधों को सामान्य करने की कोशिश में है। यह बात सोशल मीडिया पर ‘ईरान, सऊदी अरब व इस्राईल का संयुक्त शत्रु’ शीर्षक के अंतर्गत सामने आई है। वेबसाइट ने लिखा है कि सऊदी अरब और इस्राईल की सरकारों के बीच कूटनैतिक संबंधों की बहाली की कोशिशें ऐसी मौक़े पर हो रही हैं जब कि इससे पहले ही रियाज़ में इस्राईल की एम्बेसी खोले जाने के सिल्सिले में बातें सुनी जा चुकी हैं।
 ................
 तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी भारत ने दी ईरान को बड़ी राहत, तेल के लिए रुपये से पेमेंट के बाद अब टैक्स में भी छूट